इंदौर शाखा: IAS और MPPSC फाउंडेशन बैच-शुरुआत क्रमशः 6 मई और 13 मई   अभी कॉल करें
ध्यान दें:

डेली अपडेट्स


अंतर्राष्ट्रीय संबंध

दक्षिण भारतीय राज्यों और पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक महिला उद्यमी

  • 22 Nov 2017
  • 3 min read

संदर्भ 

महिला उद्यमियों के नॉलेज हब “शी एट वर्क” द्वारा जारी ‘भारत में महिला उद्यमियों की स्थिति’ नामक रिपोर्ट में यह तथ्य सामने आया है कि देश के दक्षिणी राज्यों केरल,आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और तमिलनाडु के साथ-साथ पश्चिम बंगाल में महिला उद्यमियों की संख्या देश के अन्य राज्यों की तुलना में कहीं ज़्यादा है।

प्रमुख बिंदु

  • यह रिपोर्ट इन राज्यों में महिला-उद्यमिता के पीछे महिला सशक्तीकरण के प्रयासों के अतिरिक्त यहाँ महिलाओं की उच्च साक्षरता दर को भी इसका कारण बताती है।
  • इन राज्यों में दस वर्ष या अधिक वर्षों की शिक्षा पूर्ण करने वाली महिलाओं की संख्या सर्वाधिक है।
  • इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि महिला उद्यमियों को आकर्षित करने वाले क्षेत्रों में शीर्ष पर क्रमशः शिक्षा, वित्त, बीमा, पशुपालन और वानिकी संबंधी उद्यम हैं, जबकि छठी आर्थिक गणना के अनुसार सर्वाधिक महिला उद्यम कृषि क्षेत्र से संबंधित हैं।
  • एक और उल्लेखनीय तथ्य यह है कि लगभग 80% महिला उद्यमी स्व-वित्तीयन (self-financing) के माध्यम से अपने उद्यम का संचालन करती हैं।
  • महिला उद्यमियों के लिये सर्वाधिक योजनाओं का संचालन करने वाले राज्यों में क्रमशः गोवा, जम्मू-कश्मीर, कर्नाटक, राजस्थान और पश्चिम बंगाल शीर्ष पर हैं।
  • तमिलनाडु में महिलाओं द्वारा चलाए जा रहे कारोबारों की संख्या सबसे अधिक है। यहाँ करीब 10 लाख इकाइयाँ महिलाओं द्वारा संचालित हैं।

  • इससे पहले केंद्रीय सांख्यिकीय एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय की छठी आर्थिक गणना के मुताबिक देश भर में महिलाओं के स्वामित्व वाले उद्यमों की संख्या 80.50 लाख है जिसमें से सर्वाधिक उद्यम तमिलनाडु में 13.51 प्रतिशत है। इसके बाद केरल (11.35 प्रतिशत), आंध्र प्रदेश (10.56 प्रतिशत), पश्चिम बंगाल (10.33 प्रतिशत) और महाराष्ट्र (8.25 प्रतिशत) है।
  • वहीं उत्तरी राज्यों में महिला उद्यमों की संख्या काफी कम है। उदाहरण के लिये देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में महिलाओं के स्वामित्व वाले उद्यमों की संख्या मात्र 4.82 लाख है जो देश का सिर्फ 5.99 प्रतिशत है। इसी तरह बिहार में महिला उद्यमों की संख्या 1.53 लाख है जो देश का 1.91 प्रतिशत है ।
close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2