IAS प्रिलिम्स ऑनलाइन कोर्स (Pendrive)
ध्यान दें:
उत्तर प्रदेश पी.सी.एस. परीक्षा मॉडल पेपर (2019)65 वीं बी.पी.एस.सी संयुक्त (प्रारंभिक) प्रतियोगिता परीक्षा - उत्तर कुंजी.बी .पी.एस.सी. परीक्षा 63वीं चयनित उम्मीदवारअब आप हमसे Telegram पर भी जुड़ सकते हैं !यू.पी.पी.सी.एस. परीक्षा 2017 चयनित उम्मीदवार.63 वीं बी .पी.एस.सी संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा - अंतिम परिणामबिहार लोक सेवा आयोग - प्रारंभिक परीक्षा (65वीं) - 2019- करेंट अफेयर्सउत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (प्रवर) मुख्य परीक्षा मॉडल पेपर 2018यूपीएससी (मुख्य) परीक्षा,2019 के लिये संभावित निबंधसिविल सेवा (मुख्य) परीक्षा, 2019 - मॉडल पेपरUPSC CSE 2020 : प्रारंभिक परीक्षा टेस्ट सीरीज़Result: Civil Services (Preliminary) Examination, 2019.Download: सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा - 2019 (प्रश्नपत्र & उत्तर कुंजी).

डेली अपडेट्स

विविध

वैश्विक नवाचार सूचकांक 2019

  • 25 Jul 2019
  • 6 min read

चर्चा में क्यों?

हाल ही में नई दिल्ली में जारी वैश्विक नवाचार सूचकांक 2019 (Global Innovation Index 2019) में भारत को 52वाँ स्थान प्राप्त हुआ है।

थीम:

वैश्विक नवाचार सूचकांक 2019 की थीम है: ‘Creating Healthy Lives – The Future of Medical Innovation’।

प्रमुख बिंदु

  • वैश्विक नवाचार सूचकांक का यह 12वाँ संस्करण है।
  • इस सूचकांक में स्विट्ज़रलैंड को पहला स्थान प्राप्त हुआ है।
  • इस सूचकांक के अंतर्गत 129 देशों को शामिल किया गया है तथा 80 से अधिक संकेतकों के आधार पर देशों को रैंकिग प्रदान की गई है।
  • इन संकेतकों में राजनीति, पर्यावरण, शिक्षा, अवसंरचना एवं व्यापार सुगमता को शामिल किया गया है।

Global Innovation Index

  • आय समूह/इनकम ग्रुप्स के आधार पर शीर्ष 3 नवाचार अर्थव्यवस्थाएँ हैं, इनमें शामिल हैं:
    • हाई इनकम: स्विट्ज़रलैंड, स्वीडन और अमेरिका
    • अपर मिडिल इनकम: चीन, मलेशिया और बुल्गारिया
    • लोअर मिडिल इनकम: वियतनाम, यूक्रेन और जॉर्जिया

वैश्विक नवाचार सूचकांक 2019 में टॉप 20 देशों की सूची है:

रैंक देश रैंक देश
1. स्विट्ज़रलैंड 11. कोरिया गणराज्य
2. स्वीडन 12. आयरलैंड
3. अमेरिका 13. हांगकांग
4. नीदरलैंड 14. चीन
5. यूनाइटेड किंगडम 15. जापान
6. फिनलैंड 16. फ्राँस
7. डेनमार्क 17. कनाडा
8. सिंगापुर 18. लक्ज़म्बर्ग
9. जर्मनी 19. नॉर्वे
10. इज़राइल 20. आइसलैंड

भारत की स्थिति

  • वर्ष 2018 में भारत को 57वाँ स्थान प्राप्त हुआ था जबकि इस साल 2019 में इसे 52वाँ स्थान हासिल हुआ है। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2015 में भारत 81वें पायदान पर था।
  • लोअर मिडिल इनकम वाले देशों में भारत चौथे पायदान पर है। पिछले पाँच सालों में भारत की रैंकिंग में निरंतर सुधार हो रहा है।
  • भारत ने अपनी GDP प्रति व्यक्ति के सापेक्ष नवाचार में पिछले 9 सालों में लगातार बेहतर प्रदर्शन कर रहा है।
  • इस सूचकांक के दो स्तंभों में भारत ऊपर की 50 अर्थव्यवस्थाओं में शामिल है जो निम्नलिखित हैं:
    • Market sophistication (33वाँ स्थान)
    • Knowledge and Technology Outputs (32वाँ स्थान)
  • इनोवेशन एग्रीमेंट की गुणवत्ता में भारत 26वीं अर्थव्यवस्था में शामिल है जबकि मध्य आय वाली अर्थव्यवस्था में भारत चीन के बाद दूसरे नंबर पर है।

Thriving with innovation 2019

वैश्विक नवाचार सूचकांक

Global Innovation Index

  • GII रैंकिंग का प्रकाशन प्रत्येक वर्ष कॉर्नेल यूनिवर्सिटी इन्सीड और संयुक्त राष्ट्र के विश्व बौद्धिक संपदा संगठन (विपो) तथा GII के नॉलेज भागीदारों द्वारा किया जाता है।
  • इसके ज़रिये विश्व की अर्थव्यवस्थाओं को नवाचार क्षमता और परिणामों के आधार पर रैंकिंग दी जाती है।
  • इस सूचकांक को जारी करने का उद्देश्य:
    • नवाचार के बहुआयामी पहलुओं पर बल देना।
    • दीर्घकालिक उत्पादन में वृद्धि करने वाले उपकरण प्रदान करना।WIPO
    • बेहतर उत्पादकता और नीतियों में वृद्धि को बढ़ावा देने के लिये नीतियाँ तैयार करना।

विश्व बौद्धिक संपदा संगठन

World Intellectual Property Organization- WIPO

  • विश्व बौद्धिक संपदा संगठन यह संयुक्त राष्ट्र की सबसे पुरानी एजेंसियों में से एक है।
  • इसका गठन वर्ष 1967 में रचनात्मक गतिविधियों को प्रोत्साहित करने और विश्व में बौद्धिक संपदा संरक्षण को बढ़ावा देने के लिये किया गया था।
  • इसके तहत वर्तमान में 26 अंतर्राष्ट्रीय संधियाँ आती हैं।
  • WIPO का मुख्यालय जिनेवा, स्विट्ज़रलैंड में है।
  • प्रत्येक वर्ष 26 अप्रैल को विश्व बौद्धिक संपदा दिवस मनाया जाता है।
  • अभी 191 देश इसके सदस्य हैं, जिनमें संयुक्त राष्ट्र के 188 सदस्य देशों के अलावा कुक द्वीपसमूह, होली सी और न्यूए (Niue) शामिल हैं।
  • संयुक्त राष्ट्र के सभी सदस्य देश इसके सदस्य बन सकते हैं, लेकिन यह बाध्यकारी नहीं है।
  • फिलिस्तीन को इसमें स्थायी पर्यवेक्षक का दर्जा मिला हुआ है तथा लगभग 250 NGO और अंतर-सरकारी संगठन इसकी बैठकों में बतौर आधिकारिक पर्यवेक्षक शामिल होते हैं।
  • भारत वर्ष 1975 में WIPO का सदस्य बना था।

स्रोत: PIB

एसएमएस अलर्ट
 

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

प्रोग्रेस सूची देखने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

आर्टिकल्स को बुकमार्क करने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close