हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

डेली अपडेट्स

अंतर्राष्ट्रीय संबंध

फोरम ऑफ द इलेक्शन मैनेजमेंट बॉडीज़ ऑफ साउथ एशिया (FEMBoSA)

  • 13 Aug 2021
  • 6 min read

प्रिलिम्स के लिये 

FEMBoSA की 11वीं वार्षिक बैठक, भारत निर्वाचन आयोग, कोविड-19, दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन

मेन्स के लिये

FEMBoSA का संक्षिप्त परिचय एवं इसके उद्देश्य

चर्चा में क्यों?

हाल ही में भारत निर्वाचन आयोग ने वर्ष 2021 के लिये फोरम ऑफ इलेक्शन मैनेजमेंट बॉडीज़ ऑफ साउथ एशिया (FEMBoSA) की 11वीं वार्षिक बैठक का उद्घाटन किया।

प्रमुख बिंदु

बैठक के बारे में :

  • आयोजन : बैठक की मेज़बानी भूटान के चुनाव आयोग द्वारा वर्चुअल मोड में की गई थी।
    • बैठक में शामिल राष्ट्र : भारत सहित अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, मालदीव, नेपाल और श्रीलंका के प्रतिनिधिमंडल ने इस बैठक में भाग लिया।
  • अध्यक्षता: भारत के चुनाव आयोग ने 2021-22 के लिये भूटान के चुनाव आयोग को फोरम ऑफ इलेक्शन मैनेजमेंट बॉडीज़ ऑफ साउथ एशिया (FEMBoSA) की ज़िम्मेदारी सौंपी।
    • भारत का चुनाव आयोग इस फोरम का वर्तमान अध्यक्ष है।
  • थिम्पू संकल्प : वर्तमान महामारी की स्थिति के दौरान अध्यक्ष के कार्यकाल को दो साल तक बढ़ाने के लिये FEMBoSA सदस्यों द्वारा सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव अपनाया गया था।
    • इससे पूर्व अध्यक्ष का कार्यकाल एक वर्ष का था।
  • बैठक का विषय (थीम) : 'चुनावों में प्रौद्योगिकी का उपयोग'।
  • चुनाव का डिजिटलीकरण: उन्नत तकनीकी का चुनाव प्रबंधन पर अधिक प्रभाव पड़ता है।
    • चुनावों को अधिक सहभागी, सुलभ और पारदर्शी बनाने के लिये प्रौद्योगिकी का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।
    • यह कोविड-19 महामारी के दौरान और अधिक महत्त्वपूर्ण हो गया है क्योंकि यह एक-दूसरे व्यक्ति के संपर्क को कम करने में मदद कर रहा है।

FEMBoSA के बारे में :

  • स्थापना :
    • फोरम की स्थापना वर्ष 2012 में दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (SAARC) देशों के चुनाव प्रबंधन निकायों (EMB) के प्रमुखों के तीसरे सम्मेलन में की गई थी।
      • सार्क में आठ सदस्य देश शामिल हैं:  अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, भारत, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान और श्रीलंका।
  • लक्ष्य:
    • फोरम का लक्ष्य सार्क के चुनाव प्रबंधन निकायों (EMB) के सामान्य हितों के संबंध में आपसी सहयोग को बढ़ाना है। 
  • उद्देश्य:
    • सार्क देशों के चुनाव प्रबंधन निकायों के बीच संपर्क को बढ़ावा देना।
    • एक-दूसरे से सीखने की दृष्टि से अनुभव साझा करना।
    • स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने की दिशा में चुनाव प्रबंधन निकायों की क्षमताओं को बढ़ाने में एक-दूसरे का सहयोग करना। 
  • महत्त्व :
    • FEMBoSA लोकतांत्रिक विश्व के एक बहुत बड़े हिस्से का प्रतिनिधित्व करता है और यह चुनाव प्रबंधन निकायों का एक सक्रिय क्षेत्रीय सहयोग संघ है।
    • सुनहरे मोतियों वाला इसका लोगो पारदर्शिता, निष्पक्षता, लोकतंत्र और सहयोग के शाश्वत मूल्यों का प्रतीक है।

भारत निर्वाचन आयोग (ECI)

  • ECI भारत में संघ और राज्य चुनाव प्रक्रियाओं के संचालन के लिये ज़िम्मेदार एक स्वायत्त संवैधानिक निकाय है।
  • यह देश में लोकसभा, राज्यसभा, राज्य विधानसभाओं, राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के चुनाव का संचालन करता है।
  • निर्वाचन आयोग की स्थापना 25 जनवरी, 1950 को संविधान के अनुसार की गई थी।

संवैधानिक प्रावधान:

  • भारतीय संविधान का भाग XV चुनावों से संबंधित है और इन मामलों के लिये एक आयोग की स्थापना करता है।
  • संविधान के अनुच्छेद 324 से 329 तक चुनाव आयोग और सदस्यों की शक्तियों, कार्य, कार्यकाल, पात्रता आदि से संबंधित हैं।
    • अनुच्छेद 324 चुनावों के पर्यवेक्षण, निर्देशन और नियंत्रण के लिये चुनाव आयोग की नियुक्ति का प्रावधान करता है।

संरचना:

  • मूल रूप से आयोग में केवल एक निर्वाचन आयुक्त था लेकिन चुनाव आयुक्त संशोधन अधिनियम 1989 के बाद इसे एक बहु-सदस्यीय निकाय बना दिया गया है।
  • आयोग में वर्तमान में एक मुख्य निर्वाचन आयुक्त (CEC) और दो निर्वाचन आयुक्त (EC) हैं।
  • निर्वाचन आयोग का सचिवालय नई दिल्ली में स्थित है।

स्रोत: पीआईबी

एसएमएस अलर्ट
Share Page