हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

प्रिलिम्स फैक्ट्स

  • 13 Jan, 2021
  • 6 min read
प्रारंभिक परीक्षा

प्रिलिम्स फैक्ट्स : 13 जनवरी, 2021

राष्ट्रीय युवा दिवस

National Youth Day

प्रत्येक वर्ष स्वामी विवेकानंद की जयंती (12 जनवरी) को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है। 

Swami-Vivekananda

प्रमुख बिंदु

  • इस दिन को वर्ष 1984 में राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में नामित किया गया था।
  • 24वाँ राष्ट्रीय युवा महोत्सव:
    • स्वामी विवेकानंद की जयंती के उपलक्ष्य में मनाया जाने वाला राष्ट्रीय युवा महोत्सव युवाओं का एक वार्षिक सम्मेलन है जिसमें प्रतिस्पर्द्धाओं सहित विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जाता है।
    • वर्ष 2021 में इस महोत्सव की थीम ‘युवा- उत्साह नए भारत का’ (YUVAAH – Utsah Naye Bharat Ka) है।
    • इस महोत्सव का आयोजन 12 से 16 जनवरी, 2021 तक किया जाएगा।
    • इसका आयोजन भारत सरकार के युवा मामले और खेल मंत्रालय (Ministry of Youth Affairs and Sports) द्वारा किसी एक राज्य सरकार के सहयोग से किया जाता है।
    • वर्ष 2019 से राष्ट्रीय युवा महोत्सव के हिस्से के रूप में राष्ट्रीय युवा संसद महोत्सव (National Youth Parliament Festival- NYPF) का आयोजन भी किया जाता है।

राष्ट्रीय युवा संसद महोत्सव:

  • उद्देश्य: 
    • 18-25 आयु वर्ग के युवाओं के विचारों को जानना, जिन्हें वोट देने की अनुमति तो है लेकिन वे चुनाव में नहीं लड़ सकते। 
    • युवाओं को सार्वजनिक मुद्दों से जुड़ने, आम आदमी की बात को समझने, अपनी राय बनाने और इन्हें एक स्पष्ट तरीके से व्यक्त करने के लिये प्रोत्साहित करना।
  • आयोजनकर्त्ता: 
    • युवा मामले और खेल मंत्रालय के तत्त्वावधान में राष्ट्रीय सेवा योजना (NSS) और नेहरू युवा केंद्र संगठन (NYKS)।
  • पहली बार राष्ट्रीय युवा संसद महोत्सव का आयोजन 12 जनवरी से 27 जनवरी, 2019 तक “नए भारत की आवाज़ बनो तथा 'उपाय ढूंढो और नीति में योगदान करो” (Be the Voice of New India and Find solutions and Contribute to Policy) थीम के साथ किया गया था।
  • राष्ट्रीय युवा संसद महोत्सव का यह दूसरा आयोजन है।

स्वामी विवेकानंद 

  • स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी, 1863 को हुआ तथा उनके बचपन का नाम नरेंद्र नाथ दत्त था।
  • उन्होंने दुनिया को वेदांत और योग के भारतीय दर्शन से परिचित करवाया।
  • वे 19वीं सदी के आध्यात्मिक गुरु एवं विचारक रामकृष्ण परमहंस के शिष्य थे।
  • उन्होंने अपनी मातृभूमि के उत्थान के लिये शिक्षा पर सबसे अधिक ज़ोर दिया। साथ ही उन्होंने चरित्र-निर्माण आधारित शिक्षा का समर्थन किया।
  • वर्ष 1897 में उन्होंने रामकृष्ण मिशन की स्थापना की। 
    • रामकृष्ण मिशन एक संगठन है, जो मूल्य-आधारित शिक्षा, संस्कृति, स्वास्थ्य, महिला सशक्तीकरण, युवा और आदिवासी कल्याण एवं राहत तथा पुनर्वास के क्षेत्र में काम करता है।
  • वर्ष 1902 में बेलूर मठ में उनका निधन हो गया। पश्चिम बंगाल में स्थित बेलूर मठ, रामकृष्ण मठ और रामकृष्ण मिशन का मुख्यालय है।

एशियाई हुबारा बस्टर्ड

Asian Houbara Bustard

हाल ही में पाकिस्तान सरकार ने दुबई शाही परिवार के सदस्यों के लिये अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर संरक्षित पक्षी हुबारा बस्टर्ड (Houbara Bustard) का शिकार करने की अनुमति देने वाले विशेष परमिट जारी किये हैं।

प्रमुख बिंदु

  • बस्टर्ड, स्थलीय पक्षी होते हैं, जिनकी कई प्रजातियाँ होती हैं, इनमें कुछ बड़े तथा उड़ने वाले पक्षी भी शामिल होते हैं।
  • हुबारा बस्टर्ड की दो विशिष्ट प्रजातियाँ: अंतर्राष्ट्रीय प्रकृति संरक्षण संघ (IUCN) द्वारा दो विशिष्ट प्रजातियों की पहचान की गई है।
    • उत्तरी अफ्रीका में क्लैमाइडोटिस अंडुलाटा (Chlamydotis Undulata)
    • एशिया में क्लैमोटोटिस मैक्केनी (Chlamydotis Macqueenii)
  • एशियाई हुबारा पक्षी का वासस्थान:
    • इनका वासस्थान उत्तर-पूर्व एशिया, मध्य एशिया, मध्य पूर्व, तथा अरब प्रायद्वीप से मिस्र के सिनाई मरुस्थल तक विस्तारित है।
    • बसंत में प्रजनन के बाद एशियाई हुबारा बस्टर्ड दक्षिण में पाकिस्तान, अरब प्रायद्वीप और दक्षिण पश्चिम एशिया में सर्दियाँ बिताने के लिये पलायन करते हैं।
  • आबादी में गिरावट के कारण: प्राकृतिक आवासों की क्षति के साथ-साथ अवैध तथा अनियंत्रित शिकार
  • संरक्षण स्थिति:

एसएमएस अलर्ट
 

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

प्रोग्रेस सूची देखने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

आर्टिकल्स को बुकमार्क करने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close