दृष्टि ज्यूडिशियरी का पहला फाउंडेशन बैच 11 मार्च से शुरू अभी रजिस्टर करें
ध्यान दें:

State PCS Current Affairs


उत्तराखंड

सामाजिक प्रगति सूचकांक रिपोर्ट में उत्तराखंड देशभर में 14वें स्थान पर

  • 13 Feb 2023
  • 4 min read

चर्चा में क्यों?

12 फरवरी को मीडिया सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद की ओर से जारी सामाजिक प्रगति सूचकांक रिपोर्ट (Social Progress Indeñ Report) में उत्तराखंड 100 में से 19 अंक प्राप्त कर देशभर में 14वें स्थान पर है।

प्रमुख बिंदु

  • सामाजिक प्रगति सूचकांक रिपोर्ट के अनुसार नागरिकों को बुनियादी सुविधाएँ उपलब्ध कराने में 78 अंक के साथ गोवा शीर्ष पर है। वहीं असम सबसे आखिरी स्थान पर है जिसे महज 36.14 अंक ही मिले हैं।
  • हिमालयी राज्यों के परिप्रेक्ष्य में देखें तो 12 हिमालयी राज्यों में उत्तराखंड पाँचवें स्थान पर है जबकि मिज़ोरम को पहला स्थान मिला है।
  • बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति का स्तर पता लगाने के लिये प्रत्येक राज्य को चार मापदंडो पर परखा गया है। इन मापदंड में भी कई बिंदु समाहित किये गए हैं। ये चार मापदंड निम्न है-
    • पोषण और बुनियादी स्वास्थ्य सुरक्षा: कितने प्रतिशत नागरिकों को पर्याप्त भोजन और बुनियादी चिकित्सा सुविधा का लाभ मिल रहा है।
    • पानी और स्वच्छता: नागरिकों को मिल रहे पेयजल की गुणवत्ता कैसी है और उनके परिवेश में स्वच्छता का कितना ध्यान रखा जा रहा है।
    • आवास: कितने प्रतिशत नागरिकों को बुनियादी उपयोगिताओं के साथ आवास की सुविधा मिली है। इसमें उन्हें सरकारी योजनाओं का कितना लाभ मिला।
    • व्यत्तिगत सुरक्षा: यह भी परखा गया कि नागरिकों की सुरक्षा का स्तर क्या है। इसके लिये अपराध के स्तर के साथ सड़क सुरक्षा का भी अध्ययन किया गया।
  • उत्तराखंड को तय मानकों में मिले अंक- पोषण और बुनियादी स्वास्थ्य सुविधा-30, जल और स्वच्छता-67.94, आवास-62.77 तथा व्यत्तिगत सुरक्षा-67.74 अंक।
  • हिमालयी राज्यों को मिले अंक- मिज़ोरम-06, सिक्किम-65.65, हिमाचल प्रदेश-65.32, नगालैंड- 63.26, उत्तराखंड-62.19, जम्मू-कश्मीर-59.39, अरुणाचल प्रदेश- 57.72, मणिपुर -56.53, त्रिपुरा-50.80, मेघालय-46.61 तथा असम-36.14 अंक।
  • तय मानकों के आधार पर हिमालयी राज्यों में उत्तराखंड आवास के मामले में मिज़ोरम से बेहतर है। इसमें उत्तराखंड तीसरे स्थान पर है, जबकि मिज़ोरम चौथे स्थान पर।
  • पेयजल की गुणवत्ता और स्वच्छता के मामले में भी उत्तराखंड तीसरे स्थान पर है। व्यक्तिगत सुरक्षा के मामले में उत्तराखंड को चौथा स्थान मिला है।
  • सबसे खराब स्थिति पोषण और बुनियादी स्वास्थ्य सुरक्षा की है, इसमें उत्तराखंड आठवें पायदान पर है।
  • नागरिकों को बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति के मामले में देहरादून ज़िला प्रदेश में शीर्ष पर है। इसके लिये देहरादून को निर्धारित 100 में से 71 अंक मिले हैं।
close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2