दृष्टि ज्यूडिशियरी का पहला फाउंडेशन बैच 11 मार्च से शुरू अभी रजिस्टर करें
ध्यान दें:

State PCS Current Affairs


पीसीएस

घुश्मेश्वर गाथा

  • 30 Jul 2021
  • 1 min read

चर्चा में क्यों?

30 जुलाई, 2021 को राज्यपाल कलराज मिश्र को राज भवन में ‘घुश्मेश्वर गाथा’ की प्रथम प्रति भेंट की गई।

प्रमुख बिंदु

  • शिवाड़ समाज जयपुर द्वारा प्रकाशित इस पुस्तक के लेखक वरिष्ठ पत्रकार हरीश पाराशर हैं।
  • ‘घुश्मेश्वर गाथा’ में भगवान शंकर के 12वें ज्योतिर्ल़िग के रूप में मान्यता रखने वाले सवाई माधोपुर ज़िले में शिवाड़ स्थित पावन तीर्थ स्थल घुश्मेश्वर महादेव की प्राचीनता, यहाँ मिले असंख्य शिवलिंगों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है।
  • पुस्तक में शिवाड़ के पौराणिक, ऐतिहासिक तथ्यों के साथ ही यहाँ से जुड़ी अलौकिक घटनाओं और आस-पास के दर्शनीय स्थलों की विशद जानकारी दी गई है।
  • धार्मिक और ऐतिहासिक महत्त्व की इस पुस्तक में घुश्मेश्वर मंदिर में राजाओं के दौर में बनाए अन्य मंदिरों, तालाबों, कुएँ-बावड़ियों और इतिहास से जुड़े अनछुए पहलुओं की महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ भी हैं।
close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2