हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

डेली अपडेट्स

विविध

Rapid Fire (करेंट अफेयर्स): 08 अक्तूबर , 2020

  • 08 Oct 2020
  • 6 min read

भारतीय वायु सेना दिवस 

भारतीय वायुसेना 08 अक्तूबर, 2020 को अपना 88वाँ स्थापना दिवस मना रही है। इस अवसर पर वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल राकेश कुमार सिंह भदौरिया ने कहा कि वायुसेना ने अपनी प्रतिबद्धता और संचालन क्षमता का बखूबी प्रदर्शन किया है और आवश्यकता पड़ने पर किसी भी विपरीत स्थिति में प्रभावशाली ढंग से निपटने में सक्षम है।  श्री भदौरिया ने कहा कि उभरते सुरक्षा परिदृश्य के लिये सशक्त वायुसेना की बहुत आवश्यकता है ताकि वह सभी मोर्चों पर हर तरह के युद्ध में सक्षम हो। उन्होंने कहा कि वायुसेना सभी क्षेत्रों में आत्मनिर्भर बनने के लिये स्वदेशी उपकरणों की दिशा में बढ़ रही है तथा एयरोस्पेस के क्षेत्र में स्वदेशी प्रौद्योगिकी के विकास पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि वायुसेना पाँचवीं पीढ़ी के लड़ाकू विमान बनाने के लिये पूरी तरह प्रतिबद्ध है। इसकी स्‍थापना 8 अक्तूबर 1932 को हुई थी। गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस में वायुसेना दिवस परेड समारोह का मुख्‍य आकर्षण विभिन्‍न विमानों का शानदार प्रदर्शन रहा। प्रसिद्ध आकाशगंगा दल के जांबाज जवानों ने ध्वज के साथ  वायुसेना के विमानों से करतब दिखाए। फ्लाईपास्‍ट में विंटेज विमान, आधुनिक परिवहन विमान और अग्रिम पंक्ति के लड़ाकू विमान शामिल हुए। शानदार हवाई करतब के साथ समारोह सम्पन्न हुआ।

India-Myanmar

सित्तवे बंदरगाह के संचालन पर सहमति

भारत और म्यांमार ने वर्ष 2021 की प्रथम तिमाही तक सित्तवे बंदरगाह के परिचालन को प्रारंभ करने पर सहमति जताई है। सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे और विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने म्यामांर की यात्रा के दौरान स्टेट काउंसलर ‘आंग सान सू की’ और कमांडर इन चीफ ऑफ डिफेंस सर्विसेज़ सीनियर जनरल मिन आंग हलिंग से मुलाकात की। भारतीय पक्ष ने उग्रवादी गुट के 22 कैडरों को सौंपने के लिये भी म्यांमार की प्रशंसा की। भारत द्वारा म्यांमार के चिन राज्य (Chin State) में बायन्यू/सरिसचौक में सीमा बाज़ार के निर्माण के लिये 2 मिलियन अमेरिकी डॉलर के अनुदान की घोषणा की गई। यह पहल मिज़ोरम और म्यांमार के बीच संपर्क को बेहतर बनाने में सहायक होगी। पूर्वोत्तर के राज्यों से संपर्क को और मजबूत करने हेतु भारत चाबहार बंदरगाह के तर्ज पर म्यांमार के सित्तवे बंदरगाह को विकसित कर रहा है।  इस बंदरगाह की सहायता से मिज़ोरम और मणिपुर समेत पूर्वोत्तर के अधिकतर राज्यों में आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा। यह बंदरगाह म्यांमार के रखाइन प्रांत में स्थित है। 

दिनेश कुमार खारा 

केंद्रीय मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति ने दिनेश कुमार खारा को भारतीय स्टेट बैंक का चेयरमैन नियुक्त किया है। 

उन्हें रजनीश कुमार के स्थान पर नियुक्त किया गया है। रजनीश कुमार ने 06 अक्टूबर 2020 को अपना तीन वर्ष का कार्यकाल पूरा किया। वित्त मंत्रालय द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार दिनेश कुमार खारा का कार्यकाल तीन वर्ष का होगा। भारतीय स्टेट बैंक के वरिष्ठतम प्रबंध निदेशक दिनेश कुमार खारा के नाम की सिफारिश बैंक बोर्ड ब्यूरो ने की थी। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों और वित्तीय संस्थानों के शीर्ष अधिकारियों का चयन करने वाले बैंक बोर्ड ब्यूरो के सदस्यों ने SBI के चार प्रबंध निदेशकों का इंटरव्यू लिया था। परंपरा के अनुसार SBI के चेयरमैन की नियुक्ति बैंक में सेवारत प्रबंध निदेशकों के समूह से की जाती है। दिनेश कुमार खारा को अगस्त 2016 में तीन वर्ष के लिये SBI के प्रबंध निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया था। उन्हें बाद में कार्य-प्रदर्शन की समीक्षा के आधार पर वर्ष 2019 में दो वर्ष का सेवा विस्तार दिया गया था। 

प्रसार भारती व इफ्को के मध्य समझौता ज्ञापन

प्रसार भारती और इफ्को ने नई कृषि प्रौद्योगिकी और नवाचारों को बढ़ावा देने और प्रसारित करने के लिये समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये हैं। इस समझौते के अनुसार, डीडी किसान अब कृषि क्षेत्र में प्रचलित विभिन्न अभिनव और अलग-अलग किस्म की तकनीकों का प्रसारण करेगा। किसानों के लाभ के लिये यह कार्यक्रम श्रृंखला 30 मिनट की होगी और यह बहुत आसान भाषा में भी होगी। सरकार के इस कदम का उद्देश्य किसानों को आत्मनिर्भर बनाना है क्योंकि यह आवश्यक है कि नई कृषि तकनीकों और उनके कार्यान्वयन को किसानों को समझाया जाए। दूरदर्शन के महानिदेशक मयंक अग्रवाल ने यह कहा कि प्रसार भारती और इफ्को के बीच हुए इस समझौते से वैज्ञानिकों द्वारा प्रयोगशाला में किये गए नवाचारों को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी और देश के किसानों द्वारा खेत में किये गए प्रयोग से भी युवा किसानों को मदद मिलेगी।

एसएमएस अलर्ट
Share Page