हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

डेली अपडेट्स

प्रारंभिक परीक्षा

प्रिलिम्स फैक्ट : 18 मार्च, 2021

  • 18 Mar 2021
  • 2 min read

अंतर-संसदीय संघ

(Inter-Parliamentary Union)

हाल ही में अंतर-संसदीय संघ (Inter-Parliamentary Union- IPU) के अध्यक्ष ने भारतीय संसद भवन के केंद्रीय कक्ष में सांसदों को संबोधित किया।

IPU के विषय में

  • IPU विश्व की विभिन्न राष्ट्रीय संसदों का एक अंतर्राष्ट्रीय संघ है, इसकी स्थापना वर्ष 1889 में पेरिस में की गई थी।
    • इसकी स्थापना फ्राँस के फ्रेडरिक पैसी और यूनाइटेड किंगडम के विलियम रैंडल क्रेमर ने की थी।
  • यह विवादों की मध्यस्थता के लिये संयुक्त राष्ट्र (UN), क्षेत्रीय संसदीय संगठनों, अंतर्राष्ट्रीय अंतर-सरकारी संगठनों और गैर-सरकारी संगठनों के निकट सहयोग से काम करता है।
  • यह विश्व भर में राजनीतिक विचारों और रुझानों पर नज़र रखने वाला एक विशिष्ट मंच है।

उद्देश्य

  • दुनिया भर में संसदीय संवाद को बढ़ावा देना और लोगों के बीच शांति एवं सहयोग को बनाए रखने के लिये कार्य करना
  • अपने सदस्यों के बीच लोकतांत्रिक शासन, जवाबदेही और सहयोग को बढ़ावा देना

आदर्श वाक्य:

  • लोकतंत्र के लिये। सभी के लिये। (For democracy. For everyone.)

कार्य: 

  • छह प्रमुख क्षेत्रों में अंतर्राष्ट्रीय चिंताओं को संबोधित कर संसदीय कार्रवाई को बढ़ावा देना। ये छह क्षेत्र हैं:
    • प्रतिनिधिक लोकतंत्र।
    • शांति और सुरक्षा।
    • सतत् विकास।
    • मानवाधिकार और मानवीय कानून।
    • राजनीति में महिलाएँ।
    • शिक्षा, विज्ञान और संस्कृति।
  • सदस्य:
    • 179 देश IPU के सदस्य हैं।
    • 13 क्षेत्रीय संसदीय सभाएँ इसकी सहयोगी सदस्य हैं।
    • भारत इसका सदस्य है।
  • मुख्यालय: 
    • जिनेवा, स्विट्ज़रलैंड।
एसएमएस अलर्ट
 

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

प्रोग्रेस सूची देखने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

आर्टिकल्स को बुकमार्क करने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close