प्रयागराज शाखा पर IAS GS फाउंडेशन का नया बैच 10 जून से शुरू :   संपर्क करें
ध्यान दें:

डेली अपडेट्स


रैपिड फायर

IceCube: पृथ्वी के दक्षिणी ध्रुव से न्यूट्रिनों की खोज

  • 21 Mar 2024
  • 2 min read

स्रोत: द हिंदू

पृथ्वी के दक्षिणी ध्रुव पर IceCube न्यूट्रिनों वेधशाला ने न्यूट्रिनों नामक अवपरमाणुक (परमाणु के घटक)  कणों का पता लगाया।

  • न्यूट्रिनों विद्युत रूप से तटस्थ होते हैं, यहाँ तक कि सबसे मज़बूत चुंबकीय क्षेत्र से भी प्रभावित नहीं होते हैं और शायद ही कभी पदार्थ के साथ अंत:क्रिया करते हैं, जिससे उन्हें "घोस्ट पार्टिकल" उपनाम मिलता है। जैसे ही न्यूट्रिनों अंतरिक्ष में यात्रा करते हैं, वे पदार्थ- तारों, ग्रहों और उस पदार्थ से, लोगों के बीच बिना किसी बाधा के गुज़रते हैं।
  • न्यूट्रिनों एक फर्मियन (आधा स्पिन वाला एक प्राथमिक कण) है जो केवल कमज़ोर अंतःक्रिया और गुरुत्वाकर्षण के माध्यम से परस्पर क्रिया करता है।
  • वे परमाणु प्रक्रियाओं में निर्मित होते हैं और तब भी निर्मित होते हैं जब प्रोटॉन (उपधातु कण) तथा (परमाणु) नाभिक बहुत उच्च ऊर्जा पर परस्पर क्रिया करते हैं।
  • खगोल विज्ञान में न्यूट्रिनों जैसे कणों का उपयोग करने की क्षमता ब्रह्मांड की अधिक मज़बूत जाँच को सक्षम बनाती है।
  • भारत स्थित न्यूट्रिनों वेधशाला: INO परियोजना का उद्देश्य न्यूट्रिनों पर बुनियादी अनुसंधान करने के लिये चट्टान से ढकी एक विश्व स्तरीय भूमिगत प्रयोगशाला का निर्माण करना है।
    • ब्रह्मांडीय पृष्ठभूमि विकिरण से न्यूट्रिनों डिटेक्टर को पर्याप्त सुरक्षा प्रदान करने के लिये वेधशाला भूमिगत स्थित होगी।

और पढ़ें- पिलर्स ऑफ क्रिएशन, जेम्स वेब टेलीस्कोप, भारतीय न्यूट्रिनो वेधशाला

close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2