18 जून को लखनऊ शाखा पर डॉ. विकास दिव्यकीर्ति के ओपन सेमिनार का आयोजन।
अधिक जानकारी के लिये संपर्क करें:

  संपर्क करें
ध्यान दें:

डेली अपडेट्स


रैपिड फायर

इलेक्ट्रिक वर्टिकल टेक-ऑफ और लैंडिंग एयरक्राफ्ट

  • 24 May 2024
  • 2 min read

स्रोत: डाउन टू अर्थ

इलेक्ट्रिक वर्टिकल टेक ऑफ और लैंडिंग (eVTOL) एयरक्राफ्ट के उद्भव ने नवप्रवर्तकों, शहरी योजनाकारों और यात्रियों का ध्यान आकर्षित किया है।

  • eVTOL विमान VTOL एयरक्राफटों का एक उपसमूह है जो ऊर्ध्वाधर रूप से मंडराने, उड़ान भरने और उतरने के लिये विद्युत शक्ति का उपयोग करता है। पारंपरिक एयरक्राफटों के विपरीत, eVTOL एयरक्राफटों को रनवे की आवश्यकता नहीं होती है, जो उन्हें शहरी वातावरण के लिये आदर्श बनाता है जहाँ स्थान सीमित होते हैं।
  • eVTOL तकनीक न्यूनतम रखरखाव और परिचालन खर्च के साथ दैनिक आवागमन, कार्गो डिलीवरी एवं आपातकालीन समय के लिये यातायात समाधान प्रदान करती है। इसका उपयोग भीड़-भाड़ वाले शहरी क्षेत्रों में प्रीमियम और आपातकालीन सेवाओं के लिये किया जा सकता है।
    • यह हेलीपैड जैसे विस्तृत बुनियादी ढाँचे की आवश्यकता को समाप्त कर सकता है और 200 किमी/घंटा की गति से उड़ान भर सकता है।
  • भारतीय नवाचार: भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मद्रास-इनक्यूबेटेड ई-प्लेन कंपनी बंगलूरू में ई-फ्लाइंग टैक्सियांँ लॉन्च करने की योजना बना रही है, जिसे नागर विमानन महानिदेशालय (Directorate General of Civil Aviation- DGCA) की स्वीकृति का इंतज़ार है।
    • वैश्विक स्तर पर हुए eVTOL सुधार अत्यंत उत्साहजनक हैं, लेकिन भारत में इससे संबंधित परिभाषित नीति का अभाव है। प्रभावी एकीकरण के लिये सहयोग, मार्ग योजना और हवाई यातायात नियंत्रण की आवश्यकता होती है।

Electric_Aircraft

और पढ़े: इलेक्ट्रिक वर्टिकल टेक ऑफ और लैंडिंग (eVTOL) एयरक्राफ्ट

close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2
× Snow