प्रयागराज शाखा पर IAS GS फाउंडेशन का नया बैच 10 जून से शुरू :   संपर्क करें
ध्यान दें:

डेली अपडेट्स


शासन व्यवस्था

विश्व डोपिंग रोधी रिपोर्ट 2022

  • 09 Apr 2024
  • 17 min read

प्रिलिम्स के लिये:

विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी, राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी, डोपिंग रोधी, राष्ट्रीय डोपिंग रोधी अधिनियम, यूनेस्को

मेन्स के लिये:

खेलों में डोपिंग के नैतिक निहितार्थ, डोपिंग रोधी से संबंधित सरकारी नीतियों की प्रभावशीलता, भारत के डोपिंग रोधी प्रयास

स्रोत: बिज़नेस स्टैंडर्ड

चर्चा में क्यों? 

विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (World Anti-Doping Agency- WADA) द्वारा जारी WADA: डोपिंग रोधी रिपोर्ट, 2022 में वैश्विक डोपिंग उल्लंघनों पर चौंकाने वाले आँकड़े सामने आए हैं, जो वैश्विक स्तर पर खेलों की अखंडता की रक्षा के लिये कड़े उपायों की आवश्यकता पर बल देते हैं।

रिपोर्ट के मुख्य निष्कर्ष क्या हैं?

  •  डोपिंग अपराधों में भारत विश्व स्तर पर अग्रणी:
    • भारत डोपिंग अपराधियों के उच्चतम प्रतिशत के साथ उभरा, जिसमें परीक्षण किये गए एथलीटों का प्रतिशत 3.26% था।
      • AAF एक WADA-मान्यता प्राप्त प्रयोगशाला (WADA-Accredited Laboratory) की एक रिपोर्ट है, जो एक नमूने में निषिद्ध पदार्थ और/या उसके मेटाबोलाइट्स या मार्करों की उपस्थिति की पहचान करती है।
        • भारत की राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (National Anti-Doping Agency- NADA) द्वारा परीक्षण किये गए 3,865 नमूनों में से 125 में प्रतिकूल विश्लेषणात्मक निष्कर्ष (Adverse Analytical Findings- AAFs) आए, जिससे भारत 100 से अधिक सकारात्मक परिणामों वाला एकमात्र देश बन गया और 2,000 से अधिक नमूनों का परीक्षण करने वाले देशों की तुलना में सबसे अधिक हो गया।
    • परीक्षण किये गए नमूनों की संख्या में 11वें स्थान पर होने के बावजूद, भारत के डोपिंग उल्लंघनों ने रूस, अमेरिका, इटली और फ्राँस जैसे खेलों में प्रमुखता रखने वाले देशों को पीछे छोड़ दिया।
  • अन्य राष्ट्रों से तुलना:
    • 2,000 से अधिक नमूने एकत्र करने वाले देशों में 2.09% नमूनों के सकारात्मक परीक्षण (Test) के साथ दक्षिण अफ्रीका का स्थान भारत के बाद था।
    • चीन ने सबसे अधिक नमूनों (17,357) का परीक्षण किया, जिससे केवल 0.25% AAF का उत्पादन हुआ, जबकि संयुक्त राज्य अमेरिका (84) और रूस (85) ने सकारात्मक परिणामों की संख्या में भारत का अनुसरण किया।
  • परीक्षण और AAF में समग्र वृद्धि:
    • WADA ने वर्ष 2021 की तुलना में 2022 में अपने एंटी-डोपिंग एडमिनिस्ट्रेशन एंड मैनेजमेंट सिस्टम (ADAMS) में विश्लेषण और रिपोर्ट किये गए नमूनों की कुल संख्या में 6.4% की वृद्धि दर्ज की, जो खेल की अखंडता को बनाए रखने की दिशा में एक सकारात्मक प्रवृत्ति का संकेत है।
      • AAF का प्रतिशत 2021 में 0.65% से बढ़कर 2022 में 0.77% हो गया।
    • WADA के महानिदेशक ने डोपिंग से प्रभावी ढंग से निपटने के लिये मूल्यों पर आधारित शिक्षा, खुफिया जानकारी, जाँच और अन्य रणनीतियों के साथ-साथ खुफिया नेतृत्त्व वाली रणनीतिक परीक्षण योजनाओं के महत्त्व पर बल दिया।

भारत के लिये इन निष्कर्षों के क्या निहितार्थ हैं?

  • एथलीटों के संबंध में चिंताएँ:
    • युवा एथलीटों में डोपिंग का प्रसार उनके शारीरिक और मानसिक विकास से संबंधित गंभीर चिंताएँ उत्पन्न करता है।
      • डोपिंग एथलीटों के लिये अत्यधिक स्वास्थ्य जोखिम उत्पन्न करता है और उनके दीर्घकालिक कल्याण को कमज़ोर करता है।
    • भारत के लिये डोपिंग को रोकने और परिशुद्ध क्रीडा संस्कृति को बढ़ावा देने के उपायों को लागू करके अपने एथलीटों के स्वास्थ्य एवं सुरक्षा को प्राथमिकता देना अनिवार्य है।
  •  प्रतिष्ठा की हानि:
    • डोपिंग अपराधियों के उच्चतम प्रतिशत वाले देश के रूप में भारत का उभरना अंतर्राष्ट्रीय खेल समुदाय में इसकी प्रतिष्ठा को धूमिल करता है।
    • डोपिंग का प्रसार भारतीय एथलीटों में विश्वास को कम कर सकता है तथा उनकी उपलब्धियों पर संदेह भी उत्पन्न कर सकता है, जिससे वैश्विक खेलों में भारत की विश्वसनीयता प्रभावित हो सकती है।
  • ओलंपिक 2024:
    • NADA द्वारा संकलित आँकड़ों के अनुसार, अप्रैल 2022 एवं मार्च 2023 के बीच भारत के कुल 142 एथलीट डोपिंग-संबंधित गतिविधियों में पकड़े गए थे।
    • डोपिंग उल्लंघन आने वाले ओलंपिक 2024 में भारतीय एथलीटों के लिये अयोग्यता का एक महत्त्वपूर्ण जोखिम उत्पन्न कर सकता है, जिससे वे खेल प्रतियोगिता के उच्चतम स्तर पर प्रतिस्पर्द्धा करने और अपने देश का प्रतिनिधित्व करने के अवसर से वंचित हो सकते हैं।
    • अयोग्यता का खतरा भारत के लिये डोपिंग को प्रभावी ढंग से संबोधित करने तथा ओलंपिक में इमानदारीपूर्ण भागीदारी सुनिश्चित करने की आवश्यकता पर प्रकाश डालता है।
  • परीक्षण प्रयासों में विसंगतियाँ:
    • जबकि परीक्षण किये गए नमूनों की कुल संख्या वर्ष 2021 में 1,794 से बढ़कर वर्ष 2022 में 3,865 हो गई, यह चीन जैसे देशों की तुलना में कम है, जिसने 17,357 नमूनों (भारत से लगभग पाँच गुना) का परीक्षण किया, लेकिन केवल 33 सकारात्मक परिणाम ही प्राप्त हुए।
      • परीक्षण में वृद्धि के बावजूद, सकारात्मक मामलों की संख्या चिंता का विषय बनी हुई है, जो अधिक व्यापक उपायों की आवश्यकता का संकेत देती है।
  • विनियामक निरीक्षण:
    • डोपिंग अपराधियों की सूची में शीर्ष पर भारत की स्थिति चिंता का विषय है और साथ ही यह देश के डोपिंग रोधी ढाँचे के भीतर प्रणालीगत मुद्दों को भी उजागर करती है।
      • डोपिंग पर प्रभावी ढंग से अंकुश लगाने हेतु नियामक ढाँचे को मज़बूत करने और निगरानी तंत्र को बढ़ाने की तत्काल आवश्यकता है।
  • आर्थिक प्रभाव:
    • डोपिंग संकट के आर्थिक परिणाम हो सकते हैं, जिससे भारतीय खेलों से जुड़े प्रायोजन, निवेश एवं राजस्व स्रोत प्रभावित हो सकते हैं।
    • भारत के खेल उद्योग और अर्थव्यवस्था को बनाए रखने तथा विकसित करने के लिये खेलों में ईमानदारी को बनाए रखना आवश्यक है।

एंटी डोपिंग क्या है?

  • परिचय:
    • डोपिंग खेल प्रतियोगिताओं में दूसरों पर बढ़त प्राप्त करने के लिये कृत्रिम एवं प्राय: अवैध पदार्थों का सेवन करने का कार्य है (उदाहरण के लिये: एनाबॉलिक स्टेरॉयड, मानव विकास हार्मोन, उत्तेजक आदि।)
      • डोपिंग उत्पादों का प्राय: अवैध रूप से उत्पादन, तस्करी एवं वितरण किया जाता है। चूँकि इन्हें सार्वजनिक उपयोग के लिये शायद ही कभी मंज़ूरी दी जाती है, इसलिये इनका सेवन हानिकारक है तथा पेशेवर एवं शौकिया तौर पर खेल से जुड़े लोगों, दोनों के लिये गंभीर स्वास्थ्य जोखिम उत्पन्न कर सकता है।
    • एंटी डोपिंग, एथलेटिक प्रदर्शन में सुधार के लिये डोपिंग को निषेध करती है।
  • एंटी डोपिंग से संबंधित भारत की पहल:
    • राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (NADA):
      • NADA की स्थापना वर्ष 2005 में सोसायटी पंजीकरण अधिनियम 1860 के तहत एक पंजीकृत सोसायटी के रूप में की गई थी, जिसका उद्देश्य भारत में डोपिंग-मुक्त तरीके से खेल संपन्न कराना था।
      • NADA भारत की डोपिंग रोधी गतिविधियों की योजना, कार्यान्वयन एवं समन्वय के लिये ज़िम्मेदार है। यह विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (VADA) संहिता और विनियमों का पालन करता है।
    • राष्ट्रीय डोपिंग रोधी अधिनियम 2022:
      • यह राष्ट्रीय डोपिंग रोधी अधिनियम, 2022 NADA को कानूनी सहायता प्रदान करता है। खेलों में डोपिंग रोधी गतिविधियों को विनियमित करने के साथ ही खेलों में डोपिंग के विरुद्ध संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन (UNESCO) अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन को प्रभावी बनाने के लिये।
        • इस अधिनियम का उद्देश्य घरेलू तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेल प्रतियोगिताओं में भाग लेने एवं तैयारी करते समय सत्यनिष्ठा के उच्चतम मानकों को सुनिश्चित करना है।
    • राष्ट्रीय डोप परीक्षण प्रयोगशाला (NDTL):
      • युवा मामले और खेल मंत्रालय के तहत NDTL, डोप विश्लेषण के क्षेत्र में नमूना विश्लेषण एवं अनुसंधान कार्यों के लिये ज़िम्मेदार है।
      • NDTL WADA-मान्यता प्राप्त है, यह मान्यता इसकी परीक्षण प्रक्रियाओं में गुणवत्ता और सटीकता के प्रति NDTL की प्रतिबद्धता का एक प्रमाण है।

विश्व एंटी डोपिंग एजेंसी (WADA):

  • वैश्विक स्तर पर खेलों में डोपिंग से बचने के लिये अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) द्वारा इसे वर्ष 1999 में स्थापित किया गया। WADA का प्रशासन और फंडिंग खेल आंदोलन तथा विश्व की सरकारों के बीच समान साझेदारी पर आधारित है।
    • IOC एक गैर-लाभकारी स्वतंत्र अंतर्राष्ट्रीय संगठन है, जो खेल के माध्यम से एक बेहतर दुनिया के निर्माण के लिये प्रतिबद्ध है। वर्ष 1894 में स्थापित यह संस्था ओलंपिक गतिविधियों का सर्वोच्च प्राधिकरण है, जो ओलंपिक परिवार में शामिल सभी पक्षों के बीच सहयोग को बढ़ावा देता है।
  • इसका मिशन अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेलों में डोपिंग के विरुद्ध संघर्ष को बढ़ावा देना और समन्वय करना है।
  • मुख्यालय: मॉन्ट्रियल (कनाडा) 
  • विश्व डोपिंग रोधी संहिता (कोड) WADA द्वारा निर्मित मुख्य दस्तावेज़ है, जो खेल संगठनों और लोक प्राधिकरणों के बीच एंटी डोपिंग नीतियों, नियमों एवं विनियमों में सामंजस्य स्थापित करता है।
    • इसे एंटी डोपिंग नीतियों में सामंजस्य स्थापित करने और यह सुनिश्चित करने के लिये डिज़ाइन किया गया है, कि मानक सभी एथलीटों के लिये समान हैं।
  • WADA निषिद्ध सूची (WADA Prohibited List) खेलों में प्रतिबंधित पदार्थों और तरीकों की पहचान के लिये अंतर्राष्ट्रीय मानक है।
    • इसे प्रतिवर्ष अद्यतन किया जाता है तथा यह प्रतिस्पर्द्धा के अंदर और बाहर, दोनों परिदृश्यों के साथ-साथ विशिष्ट खेलों पर भी लागू होता है।

आगे की राह

  • सतर्कता बढ़ाना:
    • डोपिंग घोटालों से देश की प्रतिष्ठा को धूमिल होने से रोकने के लिये अधिकारियों को सावधानी से कदम उठाने और सतर्कता बरतने की आवश्यकता है।
    • नाडा को एथलीटों, विशेषकर हाई-प्रोफाइल एथलीटों के बीच डोपिंग का पता लगाने और उसे रोकने के लिये परीक्षण प्रयासों में तेज़ी लानी चाहिये।
    • NADA, राष्ट्रीय खेल महासंघों, भारतीय खेल प्राधिकरण और संबंधित गैर सरकारी संगठनों सहित सभी हितधारकों को इस मुद्दे से प्रभावी ढंग से निपटने के लिये सहयोग करना चाहिये।
  • चीन का दृष्टिकोण:
    • चीन के दृष्टिकोण के समान एथलीटों और कोचों के लिये जेल के सज़ा के साथ डोपिंग को अपराध बनाने पर विचार।
    • चीन ने खेलों में डोपिंग को अपराध घोषित कर दिया, जिसके परिणामस्वरूप डोपिंग के मामलों में उल्लेखनीय गिरावट आई।
      • इन नियमों के तहत एथलीटों को प्रतिबंधित पदार्थों का उपयोग करने के लिये प्रोत्साहित करने वाले व्यक्तियों को दंड के रूप में तीन वर्ष तक की सज़ा और ज़ुर्माना हो सकता है। डोपिंग के आयोजकों (Organisers of doping) को और भी कठोर दंड मिल सकता है, जानबूझकर एथलीटों को प्रतिबंधित पदार्थ प्रदान करना भी एक दाण्डिक अपराध माना जाता है।
    • WADA की वर्ष 2022 की रिपोर्ट में चीन के पास सख्त सज़ा की प्रभावशीलता को प्रदर्शित करने वाले काफी कम सकारात्मक परिणाम थे।
  • शिक्षा: 
    • एथलीटों को डोपिंग के खतरों के बारे में शिक्षित करने और पूरक आहार पर उचित मार्गदर्शन प्रदान करने की आवश्यकता है।
  • डोपिंग का पता लगाना:
    • विकसित हो रहे डोपिंग तरीकों से आगे रहने के लिये नवीन तकनीकों का विकास और कार्यान्वयन करना। उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों को लक्षित करने के लिये एथलीट डेटा, प्रतिस्पर्द्धा के रुझान और मुखबिरों (whistleblower) द्वारा जानकारी का उपयोग करना।

दृष्टि मेन्स प्रश्न:

प्रश्न. भारत एथलीटों के बीच डोपिंग उल्लंघनों में चिंताजनक वृद्धि को कैसे संबोधित कर सकता है और खेलों की अखंडता की रक्षा कैसे कर सकता है?

  UPSC सिविल सेवा परीक्षा, विगत वर्ष के प्रश्न  

मेन्स:

प्रश्न. खिलाड़ी ओलंपिक्स में व्यक्तिगत विजय और देश के गौरव के लिये भाग लेता है; वापसी पर, विजेताओं पर विभिन्न संस्थाओं द्वारा नकद प्रोत्साहनों की बौछार की जाती है। प्रोत्साहन के तौर पर पुरस्कार कार्यविधि के तर्काधार के मुकाबले, राज्य प्रायोजित प्रतिभा खोज और उसके पोषण के गुणावगुण पर चर्चा कीजिये। (2014)

close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2