हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:
झारखण्ड संयुक्त असैनिक सेवा मुख्य प्रतियोगिता परीक्षा 2016 -परीक्षाफलछत्तीसगढ़ पीसीएस प्रश्नपत्र 2019छत्तीसगढ़ पी.सी.एस. (प्रारंभिक) परीक्षा, 2019 (महत्त्वपूर्ण अध्ययन सामग्री).छत्तीसगढ़ पी.सी.एस. प्रारंभिक परीक्षा – 2019 सामान्य अध्ययन – I (मॉडल पेपर )
हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स (Hindi Literature: Pendrive Course)
मध्य प्रदेश पी.सी.एस. (प्रारंभिक) परीक्षा , 2019 (महत्वपूर्ण अध्ययन सामग्री)मध्य प्रदेश पी.सी.एस. परीक्षा मॉडल पेपर.Download : उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (प्रवर) प्रारंभिक परीक्षा 2019 - प्रश्नपत्र & उत्तर कुंजीअब आप हमसे Telegram पर भी जुड़ सकते हैं !यू.पी.पी.सी.एस. परीक्षा 2017 चयनित उम्मीदवार.UPSC CSE 2020 : प्रारंभिक परीक्षा टेस्ट सीरीज़

डेली अपडेट्स

जीव विज्ञान और पर्यावरण

पश्चिमी घाट एशिया का चौथा सर्वश्रेष्ठ पर्यटक स्थल : लोनली प्लैनेट

  • 11 Jul 2018
  • 3 min read

चर्चा में क्यों?

हिमालय से भी पुराने तथा अपने समृद्ध और अद्वितीय वनस्पतियों एवं जीवों के लिये प्रसिद्द पश्चिमी घाट ने लोनली प्लैनेट द्वारा ज़ारी की गई सूची "2018 बेस्ट इन एशिया" (जो पूरे वर्ष के दौरान महाद्वीप में पर्यटन के लिये 10 सर्वश्रेष्ठ स्थलों का संग्रह है) के शीर्ष पाँच में जगह बनाई है।

महत्त्वपूर्ण बिंदु

  • पश्चिमी घाट ने इस सूची में चौथा स्थान हासिल किया है।
  • विशेषज्ञों के पैनल ने बुसान, दक्षिण कोरिया, उज्बेकिस्तान और हो ची मिन्ह सिटी (Ho Chi Minh City), वियतनाम को पहले तीन स्थानों पर रखा है।
  • नागासाकी, जापान, चियांग माई, थाईलैंड, लुंबिनी, नेपाल, अरुगम बे (Arugam Bay), श्रीलंका, सिचुआन प्रांत (Sìchuan Province), चीन और कोमोडो नेशनल पार्क (Komodo National Park), इंडोनेशिया पश्चिमी घाटों के बाद सूचीबद्ध पर्यटन स्थल हैं।
  • इस रिपोर्ट में यह भी उल्लेख किया गया है कि नीलकुरिंजी फूल (Strobilanthes kunthiana) जो प्रत्येक 12 वर्षों के बाद खिलता है वह भी मुन्नार हिल स्टेशन में इस बार खिलने लगा है।

पश्चिमी घाट के बारे में

  • पश्चिमी घाट सर्वोत्तम जैव विविधता के लिये जाना जाता है तथा यूनेस्को की सूची में शामिल विश्व धरोहरों में से एक है।
  • पश्चिमी घाट फूलदार पौधों की 7,402 प्रजातियों, गैर-फूलदार पौधों की 1,814 प्रजातियों, स्तनपायी जीवों की 139 प्रजातियों, 508 पक्षी प्रजातियों, 179 उभयचर प्रजातियों, 6000 कीट प्रजातियों और 290 ताज़े पानी की मछली की प्रजातियों के जीवन को संरक्षण प्रदान करता है।
  • इस स्थल की उच्च पर्वतीय वन पारिस्थितिकी प्रणालियां भारतीय वर्षाकालिक मौसम पैटर्न पर प्रभाव डालती हैं। 
  • यहाँ उच्च स्तर की असाधारण जैविक विविधता और स्थानिकता भी है तथा इसे विश्व की जैविक विविधता के आठ ''आकर्षण केंद्रों'' में से एक के रूप में जाना जाता है।
एसएमएस अलर्ट
 

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

प्रोग्रेस सूची देखने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

आर्टिकल्स को बुकमार्क करने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close