हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:
झारखण्ड संयुक्त असैनिक सेवा मुख्य प्रतियोगिता परीक्षा 2016 -परीक्षाफलछत्तीसगढ़ पीसीएस प्रश्नपत्र 2019छत्तीसगढ़ पी.सी.एस. (प्रारंभिक) परीक्षा, 2019 (महत्त्वपूर्ण अध्ययन सामग्री).छत्तीसगढ़ पी.सी.एस. प्रारंभिक परीक्षा – 2019 सामान्य अध्ययन – I (मॉडल पेपर )UPPCS मेन्स क्रैश कोर्स.
हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स (Hindi Literature: Pendrive Course)
मध्य प्रदेश पी.सी.एस. (प्रारंभिक) परीक्षा , 2019 (महत्वपूर्ण अध्ययन सामग्री)मध्य प्रदेश पी.सी.एस. परीक्षा मॉडल पेपर.Download : उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (प्रवर) प्रारंभिक परीक्षा 2019 - प्रश्नपत्र & उत्तर कुंजीअब आप हमसे Telegram पर भी जुड़ सकते हैं !यू.पी.पी.सी.एस. परीक्षा 2017 चयनित उम्मीदवार.UPSC CSE 2020 : प्रारंभिक परीक्षा टेस्ट सीरीज़

डेली अपडेट्स

विविध

बाल साहित्‍य पुरस्‍कार 2019 तथा युवा पुरस्‍कार 2019

  • 15 Jun 2019
  • 4 min read

चर्चा में क्यों?

अगरतला में हुई कार्यकारी बोर्ड की बैठक के बाद साहित्‍य अकादमी (Sahitya Akademi) द्वारा बाल साहित्य‍ पुरस्‍कार, 2019 तथा युवा पुरस्‍कार, 2019 की घोषणा की गई। साहित्य अकादमी की यह बैठक प्रसिद्ध कवि डॉ. चंद्रशेखर कंबार (जो कि वर्तमान में अकादमी के अध्यक्ष हैं) की अध्‍यक्षता में की गई थी।

मुख्य बिंदु

  • इस वर्ष बाल साहित्‍य पुरस्‍कार, 2019 के लिये 22 लेखकों तथा युवा पुरस्‍कार, 2019 के लिये 23 लेखकों का चयन किया गया है।
  • मैथिली भाषा के लिये दोनों ही पुरस्‍कारों का ऐलान अभी नहीं किया गया है, अकादमी के अनुसार, इसकी घोषणा भी जल्द ही कर दी जाएगी।
  • बाल साहित्‍य पुरस्‍कार राजस्थानी तथा मैथिली भाषा के अतिरिक्त संविधान में वर्णित अन्य सभी 22 भाषों के लिये प्रदान किये जाते हैं, वहीं युवा पुरस्‍कार 2019 भी मैथिली के अतिरिक्त अन्य सभी 23 भाषों के लिये प्रदान किये जाते हैं।
  • प्रत्येक भाषा में पुरस्‍कार विजेताओं का चयन तीन सदस्‍यीय निर्णायक मंडल की सिफारिशों के आधार पर निर्धारित प्रक्रिया के तहत किया जाता है।
  • कविता की ग्‍यारह पुस्‍तकें, लघु कथा की छह पुस्‍तकें, पाँच उपन्‍यास तथा एक साहित्‍य आलोचना की पुस्‍तक के लिए साहित्‍य अकादमी युवा पुरस्‍कार, 2019 से प्रदान किये गए हैं।

बाल साहित्य‍ पुरस्‍कार:

  • बाल साहित्य पुरस्‍कार के लिए उन पुस्तकों को चुना जाता है जो पिछले पाँच वर्षों के भीतर पहली बार प्रकाशित हुई हों तथा जिनका बाल साहित्य में अतुलनीय योगदान रहा हो।

युवा पुरस्‍कार :

  • युवा पुरस्‍कार उन पुस्तकों से संबंधित है जिनका प्रकाशन 35 वर्ष से कम आयु के लेखकों द्वारा किया जाता है।

साहित्‍य अकादमी :

  • साहित्‍य अकादमी की शुरुआत भारत सरकार द्वारा 12 मार्च, 1954 को की गई थी।
  • यह अकादमी एक स्वायत्तशासी संस्था के रूप में कार्य करती है।
  • अकादमी प्रत्येक वर्ष अपने द्वारा मान्यता प्रदत्त 24 भाषाओं में साहित्यिक कृतियों के लिये पुरस्कार प्रदान करती है।
  • वर्तमान में कन्नड़ के मशहूर नाटककार, कवि, उपन्यासकार और ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित लेखक चंद्रशेखर कंबार साहित्य अकादमी के अध्यक्ष के रूप में कार्यरत हैं।
  • साहित्य अकादमी द्वारा दिये जाने वाले प्रमुख पुरस्‍कार:
    • श्‍लाका सम्‍मान
    • भारत-भारती
    • व्‍यास सम्मान
    • साहित्य अकादमी पुरस्कार
    • भारतीय ज्ञानपीठ पुरस्कार
    • बाल साहित्‍य पुरस्‍कार
    • सरस्वती सम्मान
    • युवा पुरस्‍कार

स्रोत- पी.आई.बी.

एसएमएस अलर्ट
 

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

प्रोग्रेस सूची देखने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

आर्टिकल्स को बुकमार्क करने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close