IAS प्रिलिम्स ऑनलाइन कोर्स (Pendrive)
ध्यान दें:
65 वीं बी.पी.एस.सी संयुक्त (प्रारंभिक) प्रतियोगिता परीक्षा - उत्तर कुंजी.बी .पी.एस.सी. परीक्षा 63वीं चयनित उम्मीदवारअब आप हमसे Telegram पर भी जुड़ सकते हैं !यू.पी.पी.सी.एस. परीक्षा 2017 चयनित उम्मीदवार.63 वीं बी .पी.एस.सी संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा - अंतिम परिणामबिहार लोक सेवा आयोग - प्रारंभिक परीक्षा (65वीं) - 2019- करेंट अफेयर्सउत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (प्रवर) मुख्य परीक्षा मॉडल पेपर 2018यूपीएससी (मुख्य) परीक्षा,2019 के लिये संभावित निबंधसिविल सेवा (मुख्य) परीक्षा, 2019 - मॉडल पेपरUPSC CSE 2020 : प्रारंभिक परीक्षा टेस्ट सीरीज़Result: Civil Services (Preliminary) Examination, 2019.Download: सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा - 2019 (प्रश्नपत्र & उत्तर कुंजी).

डेली अपडेट्स

अंतर्राष्ट्रीय संबंध

चीन और अमेरिका

  • 03 Sep 2019
  • 3 min read

चर्चा में क्यों?

चीन ने आयात शुल्क के मुद्दे को लेकर विश्व व्यापार संगठन में अमेरिका के विरुद्ध मामला दर्ज कराया है।

प्रमुख बिंदु:

  • संयुक्त राज्य अमेरिका ने 1 सितंबर से विभिन्न चीनी वस्तुओं पर 15% आयात शुल्क लगा दिया है।
  • चीन ने आरोप लगाया कि अमेरिका द्वारा लगाए गए नए आयात शुल्क ने चीन और अमेरिका के राष्ट्रपतियों द्वारा G-20 की ओसाका बैठक के दौरान किये गए समझौते का भी उल्लंघन किया है।
  • चीन का कहना है कि वह विश्व व्यापार संगठन के नियमों के अनुसार अपने कानूनी अधिकारों की रक्षा करेगा।

विश्व व्यापार संगठन

(World Trade Organization)

  • विश्व व्यापार संगठन (World Trade Organization) विश्व में व्यापार संबंधी अवरोधों को दूर कर वैश्विक व्यापार को बढ़ावा देने वाला एक अंतर-सरकारी संगठन है, जिसकी स्थापना वर्ष 1995 में मराकेश संधि के तहत की गई थी।
  • इसका मुख्यालय ज़िनेवा में है। वर्तमान में विश्व के 164 देश इसके सदस्य हैं।
  • 29 जुलाई, 2016 को अफगानिस्तान इसका 164वाँ सदस्य बना था।
  • सदस्य देशों का मंत्रिस्तरीय सम्मलेन इसके निर्णयों के लिये सर्वोच्च निकाय है, जिसकी बैठक प्रत्येक दो वर्षों में आयोजित की जाती है।
  • अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन से बातचीत के बाद बताया कि अमेरिका चीन के विरुद्ध आयात शुल्क में और अधिक वृद्धि करने पर भी पुनर्विचार कर रहा है।
  • अमेरिका द्वारा चीनी वस्तुओं पर आयात शुल्क बढ़ाने की धमकियों के बाद चीन ने भी अमेरिका के 75 बिलियन अमेरिकी डाॅलर के उत्पादों पर अतिरिक्त शुल्क लगाने की अपनी योजना की घोषणा की है।
  • नए शुल्कों को दो बार; 1 सितंबर से और 15 दिसंबर से लागू किया जाएगा।

स्रोत: इंडियन एक्सप्रेस

एसएमएस अलर्ट
 

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

प्रोग्रेस सूची देखने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

आर्टिकल्स को बुकमार्क करने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close