हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

डेली न्यूज़

भारतीय अर्थव्यवस्था

दिल्ली-NCR में हैं सबसे अधिक स्टार्ट-अप

  • 11 Sep 2019
  • 4 min read

चर्चा में क्यों?

दिल्ली आधारित टाई (The Indus Entrepreneurs-TiE) नामक गैर-सरकारी उपक्रम द्वारा जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली-NCR (Delhi NCR) में सक्रिय स्टार्ट-अप की संख्या देशभर में सबसे अधिक हो गई है।

रिपोर्ट के मुख्य बिंदु:

  • रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली-NCR मे कुल 7039 स्टार्ट-अप हैं, जिनका संचयी मूल्य 50 बिलियन डॉलर से अधिक है। उल्लेखनीय है कि इन 7000 से अधिक स्टार्ट-अप को वर्ष 2009 से 2019 के बीच स्थापित किया गया है।
  • इसके अलावा दिल्ली-NCR में कुल 10 यूनिकॉर्न (Unicorns) भी हैं। वहीं बंगलुरु में कुल 9 यूनिकॉर्न हैं।
    • यूनिकॉर्न: वह स्टार्ट-अप जिसका मूल्य 1 बिलियन डॉलर से अधिक हो।
  • दिल्ली-NCR के अतिरिक्त देश के अन्य हिस्सों जैसे बंगलुरु और मुंबई में स्टार्ट-अप की संख्या क्रमशः 5234 और 3829 है।
  • दिल्ली-NCR में सबसे अधिक 2650 स्टार्ट-अप उपभोक्ता उत्पाद और सेवा क्षेत्र में हैं।
  • उल्लेखनीय है कि इस रिपोर्ट में दिल्ली-NCR के तहत दिल्ली, नोएडा और गुरुग्राम को शामिल किया गया है।

स्टार्टअप क्या हैं ?

स्टार्टअप का तात्पर्य किसी उद्यम के जीवन चक्र के प्रारंभिक चरण से है जहाँ एक उद्यमी कोई उद्यम स्थापित करने के विचार से वित्तपोषण हासिल करने की ओर आगे बढ़ता है, व्यवसाय की रूपरेखा तैयार करता है और उद्यम का संचालन या व्यापार शुरू करता है।

India's Incubators

रिपोर्ट में रेखांकित चिंताएँ

  • दिल्ली-NCR सहित पूरे भारत में नए स्टार्ट-अप की स्थापना की गति पिछले दो वर्षों में काफी धीमी हो गई है।
    • आँकड़ों के अनुसार, वर्ष 2015 में जहाँ पूरे भारत में स्थापित कुल स्टार्ट-अप की संख्या 6679 थीं वहीं वर्ष 2018 में यह संख्या घटकर 2036 पर पहुँच गई।
    • यदि सिर्फ दिल्ली NCR की बात करें तो वर्ष 2015 में यहाँ कुल 1657 स्टार्ट-अप स्थापित हुए थे जबकि वर्ष 2018 में यह संख्या घटकर 420 पर पहुँच गई।
  • साथ ही दिल्ली में अन्य स्टार्ट-अप हब की अपेक्षा फ्रेश टैलेंट की भी कमी है।
    • बंगलूरु में प्रत्येक वर्ष स्टार्ट-अप से जुड़ने के लिये लगभग 95000 स्नातक तैयार होते हैं, वहीं दिल्ली में यह संख्या मात्र 35000 है।

दिल्ली-NCR स्टार्ट-अप इकोसिस्टम के लिये वर्ष 2025 का लक्ष्य

  • दिल्ली-NCR को वैश्विक स्टार्ट-अप हब बनाना।
  • यहाँ लगभग 12000 सक्रीय स्टार्ट-अप स्थापित करने का भी लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
  • लगभग 30 यूनिकॉर्न।
  • स्टार्ट-अप की कुल संचित पूंजी को 150 बिलियन डॉलर के पार ले जाना।

स्रोत: द हिंदू

एसएमएस अलर्ट
Share Page