हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

डेली अपडेट्स

विविध

Rapid Fire (करेंट अफेयर्स): 12 नवंबर, 2022

  • 12 Nov 2022
  • 3 min read

ाष्ट्रीय पक्षी दिवस

राष्ट्रीय पक्षी दिवस प्रतिवर्ष '12 नवंबर' को मनाया जाता है। 12 नवंबर डॉ. सलीम अली का जन्म दिवस है, वे विश्वविख्यात पक्षी विशेषज्ञ एवं प्रकृतिवादी थे। वे भारत के ऐसे पहले व्यक्ति थे जिन्होंने भारत भर में व्यवस्थित रूप से पक्षी सर्वेक्षण का आयोजन किया और पक्षियों पर लिखी उनकी किताबों ने भारत में पक्षी-विज्ञान के विकास में काफी मदद की। भारत में इन्हें "पक्षी मानव" के नाम से भी जाना जाता था। पक्षी विशेषज्ञ सलीम अली के जन्म दिवस को 'भारत सरकार' द्वारा राष्ट्रीय पक्षी दिवस घोषित किया गया है। सलीम अली ने पक्षियों से संबंधित अनेक पुस्तकें लिखी थीं, 'बर्ड्स ऑफ़ इंडिया' इनमें सबसे लोकप्रिय पुस्तक है। डाक विभाग ने इनकी स्मृति में डाक टिकट भी जारी किया है। वर्ष 1958 में सलीम अली को 'पद्मभूषण' तथा वर्ष 1976 में 'पद्मविभूषण' से सम्मानित किया गया था।

एशियाई मुक्केबाज़ी चैंपियनशिप 

एशियाई मुक्केबाज़ी चैंपियनशिप में भारत की मुक्‍केबाज़ों ने उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए चार स्‍वर्ण पदक जीते। परवीन, लवलीना बोरगोहाईं, स्‍वीटी बोरा और आल्फिया पठान ने शानदान प्रदर्शन करते हुए स्‍वर्ण पदक जीता। जॉर्डन में 11 नवंबर, 2022 को फाइनल में परवीन ने जापान की कितो माइ को जबकि लवलीना ने उज़्बेकिस्तान की रूजमेटोवा सोखिबा को हराया। स्‍वीटी ने कज़ाखस्‍तान की गुलसाया यरजे़हान को पराजित किया। आल्फिया पठान को इस्‍लाम हुसेली के डिस्‍क्‍वालिफाइड होने से स्‍वर्ण पदक मिला। इससे पहले मीनाक्षी ने रजत पदक हासिल किया। इस प्रकार भारतीय महिला मुक्‍केबाजों ने प्रतियोगिता में शानदार प्रदर्शन करते हुए चार स्‍वर्ण, एक रजत और दो कांस्‍य सहित कुल सात पदक जीते।एशियाई मुक्केबाज़ी चैंपियनशिप एशिया में मुक्केबाज़ी के शौकीनों के लिये सबसे बड़ी प्रतियोगिता है। पहला टूर्नामेंट वर्ष 1963 में बैंकाक, थाईलैंड द्वारा आयोजित किया गया था। 

एसएमएस अलर्ट
Share Page