हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

डेली अपडेट्स

सामाजिक न्याय

सीनियर केयर एजिंग ग्रोथ इंजन (SAGE) इनिशिएटिव

  • 07 Jun 2021
  • 7 min read

प्रिलिम्स के लिये 

सीनियर केयर एजिंग ग्रोथ इंजन (SAGE), रजत अर्थव्यवस्था, वृद्ध व्यक्तियों के लिये एकीकृत कार्यक्रम, राष्ट्रीय वयोश्री योजना, प्रधानमंत्री वय वंदना योजना

मेन्स के लिये 

रजत अर्थव्यवस्था का अभिप्राय, सीनियर केयर एजिंग ग्रोथ इंजन (SAGE) की  विशेषताएँ एवं इसकी आवश्यकता, बुजुर्गों के लिये अन्य सरकारी पहल

चर्चा में क्यों?

हाल ही में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय ने वरिष्ठ व्यक्तियों को समर्थन प्रदान करने के लिये ‘सीनियर केयर एजिंग ग्रोथ इंजन’ (SAGE) पहल तथा पोर्टल का शुभारंभ किया है।

  • रजत (Silver) अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिये 100 करोड़ रुपए की राशि आवंटित की गई है।

रजत अर्थव्यवस्था (Silver Economy)

  • रजत अर्थव्यवस्था वस्तुओं और सेवाओं के उत्पादन, वितरण और खपत की प्रणाली है जिसका उद्देश्य वृद्ध और वरिष्ठ लोगों की क्रय क्षमता का उपयोग करना और उनके उपभोग, जीवन और स्वास्थ्य की ज़रूरतों को पूरा करना है।
  • रजत अर्थव्यवस्था का विश्लेषण सामाजिक जेरोन्टोलॉजी (Gerontology, आयु का अध्ययन) के क्षेत्र में एक मौजूदा आर्थिक प्रणाली के रूप में नहीं किया जाता है बल्कि आयु वृद्धि की नीति के एक साधन के रूप में तथा  उनकी आबादी हेतु एक संभावित जरूरत-उन्मुख आर्थिक प्रणाली बनाने के राजनीतिक विचार के रूप में किया जाता है।
  • इसके मुख्य तत्त्व जेरोनटेक्नोलॉजी (Gerontechnology) (वृद्ध लोगों से संबंधित प्रौद्योगिकी) को एक नए वैज्ञानिक, अनुसंधान और कार्यान्वयन प्रतिमान के रूप में जाना जाता है।

प्रमुख बिंदु 

परिचय:

  • सेज पोर्टल (SAGE Portal) विश्वसनीय स्टार्टअप्स के माध्यम से वरिष्ठ नागरिकों की देखरेख में उपयोगी उत्पादों तथा सेवाओं को प्रदान करने वाला ‘वन-स्टॉप एक्सेस’ होगा। 
  • यह ऐसे व्यक्तियों की मदद करने के उद्देश्य से शुरू किया गया है जो वरिष्ठ नागरिकों की देखभाल के लिये सेवाएँ मुहैया कराने संबंधी क्षेत्र में रुचि रखने वाले उद्यमियों को सहयोग प्रदान करते हो।
  • SAGE परियोजना का उद्देश्य सीधे हितधारकों के लिये उत्पादों, समाधानों और सेवाओं की पहचान करना, मूल्यांकन करना, सत्यापित करना, एकत्र करना तथा वितरित करना है। मंत्रालय इन चयनित स्टार्टअप के माध्यम से बुजुर्गों को उत्पादों तक पहुँचने में सक्षम बनाने के लिये एक सुविधा के रूप में कार्य करेगा।

विशेषताएँ:

  • स्टार्टअप एक समर्पित पोर्टल के माध्यम से SAGE का हिस्सा बनने के लिये आवेदन कर सकते हैं।
  • SAGE के तहत चुने गए स्टार्टअप वे होंगे जो स्वास्थ्य, यात्रा, वित्त, कानूनी, आवास, भोजन जैसे विभिन्न क्षेत्रों में बुजुर्ग व्यक्तियों को नए और अभिनव उत्पाद और सेवाएँ प्रदान करेंगे।
  • वित्त वर्ष 2021-22 में SAGE परियोजना के लिये 25 करोड़ रुपए का आवंटन किया गया है।

इस पहल या कार्यक्रम की आवश्यकता:

  • देश की कुल आबादी में बुजुर्गों की हिस्सेदारी 2001 में 7.5 प्रतिशत से बढ़कर 2026 तक लगभग 12.5 प्रतिशत ​​और 2050 तक 19.5 प्रतिशत से अधिक होने की उम्मीद है।

SAGE

बुजुर्गों के लिये अन्य सरकारी पहलें :

  • वृद्ध व्यक्तियों के लिये एकीकृत कार्यक्रम (IPOP):
    • योजना का मुख्य उद्देश्य आश्रय, भोजन, चिकित्सा देखभाल और मनोरंजन के अवसर आदि जैसी बुनियादी सुविधाएँ प्रदान करके वृद्ध व्यक्तियों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार करना है।
  • राष्ट्रीय वयोश्री योजना (RVY):
    • यह वरिष्ठ नागरिक कल्याण कोष से वित्तपोषित एक केंद्रीय क्षेत्र की योजना है। कोष को वर्ष 2016 में अधिसूचित किया गया था।
    • इसका उद्देश्य गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) श्रेणी के वरिष्ठ नागरिकों को शारीरिक सहायता और जीवन यापन के लिये आवश्यक उपकरण प्रदान करना है, जो कम दृष्टि, श्रवण दोष, दाँतों की हानि और चलने में अक्षमता जैसी उम्र से संबंधित अक्षमताओं से पीड़ित हैं।
  • प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (PMVVY) :
    • प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (PMVVY) को वृद्धावस्था के दौरान सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिये मई 2017 में शुरू किया गया था।
    • यह वरिष्ठ नागरिकों के लिये एक पेंशन योजना है। इस स्कीम के तहत 10 वर्षों की अवधि तक गारंटीड रिटर्न दर के आधार पर एक निश्चित या आश्वासित पेंशन दी जाती है और इसमें मासिक/तिमाही/छमाही एवं वार्षिक आधार पर पेंशन का चयन करने का विकल्प दिया गया है। यह विशेष रूप से उन लोगों के लिये उपलब्ध है जिनकी आयु 60 वर्ष और उससे अधिक है।
  • वयोश्रेष्ठ सम्मान:
    • 1 अक्तूबर को अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस (International Day of Older Person) पर वरिष्‍ठ नागरिकों की सराहनीय सेवा करने वाले संस्‍थानों और वरिष्‍ठ नागरिकों को उनकी उत्तम सेवाओं तथा उपलब्धियों के लिये राष्ट्रीय सम्‍मान प्रदान किया जाता हैं।
  • माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों का भरण-पोषण तथा कल्याण  (MWPSC) अधिनियम, 2007 : 
    • इसका मुख्य उद्देश्य माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों और उनके कल्याण के लिये आवश्यकता-आधारित रखरखाव या देखभाल सुनिश्चित करना है।

स्रोत: पी.आई.बी.

एसएमएस अलर्ट
 

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

प्रोग्रेस सूची देखने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

आर्टिकल्स को बुकमार्क करने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close