हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

डेली अपडेट्स

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी

बैकाल-GVD टेलीस्कोप

  • 20 Apr 2021
  • 6 min read

चर्चा में क्यों?

रूसी वैज्ञानिकों ने साइबेरिया में स्थित दुनिया की सबसे गहरी झील, बैकाल में ‘बैकाल-GVD (गीगाटन वॉल्यूम डिटेक्टर) नामक दुनिया का सबसे बड़ा ‘अंडरवाटर न्यूट्रिनो टेलीस्कोप’ लॉन्च किया है।

  • इस टेलीस्कोप का निर्माण वर्ष 2016 में इसलिये शुरू किया गया था ताकि न्यूट्रिनो नामक रहस्यमयी मूलभूत कणों का विस्तार से अध्ययन किया जा सके और उनके संभावित स्रोतों का निर्धारण किया जा सके।

Lake-Baikal

प्रमुख बिंदु:

बैकाल-GVD टेलीस्कोप:

  • यह दक्षिणी ध्रुव में स्थित IceCube और भूमध्य सागर में स्थित ANTARES के साथ दुनिया के तीन सबसे बड़े न्यूट्रिनो डिटेक्टरों में से एक है।
  • GVD को उच्च-ऊर्जा न्यूट्रिनो का पता लगाने के लिये डिज़ाइन किया गया है जो कि पृथ्वी के कोर से या सूर्य में परमाणु प्रतिक्रियाओं के दौरान उत्पन्न हो सकते हैं।
  • यह ब्रह्मांड की उत्पत्ति को समझने में वैज्ञानिकों की मदद करेगा क्योंकि बिग-बैंग के दौरान कुछ न्यूट्रिनों का गठन हुआ था, वहीं सुपरनोवा विस्फोटों के परिणामस्वरूप या सूर्य में परमाणु प्रतिक्रियाओं के कारण भी कुछ न्यूट्रिनो का निर्माण हो रहा है।

मूलभूत कण:

  • ब्रह्मांड कुछ मूलभूत कणों से बना है जो अविभाज्य हैं। इन कणों को क्वार्क और लेप्टान में वर्गीकृत किया जा सकता है।
    • वैज्ञानिकों के अनुसार, यह बात केवल "सामान्य पदार्थ" या उस पदार्थ पर लागू होती है, जिससे ब्रह्मांड का 5% हिस्सा बना है।
  • इस तरह के 12 से अधिक क्वार्क और लेप्टान की खोज हुई है, लेकिन इनमें से तीन (प्रोटॉन, न्यूट्रॉन और इलेक्ट्रॉन) जीवन के निर्माण खंड के रूप में उल्लिखित हैं।
  • प्रोटॉन (धनात्मक आवेश को वहन करते हैं) और न्यूट्रॉन (उदासीन) क्वार्क के प्रकार हैं, जबकि इलेक्ट्रॉन (एक ऋणात्मक आवेश को वहन करते हैं) लेप्टान का प्रकार है। 
  • अलग-अलग संयोजनों में ये कण विभिन्न प्रकार के परमाणुओं का निर्माण कर सकते हैं, जो बदले में ऐसे अणु बनाते हैं, जो एक इंसान से लेकर मोबाइल फोन, एक ग्रह और सभी वस्तुओं का निर्माण करते हैं।
  • मनुष्यों और उनके आस-पास की सभी चीज़ों का अध्ययन वैज्ञानिकों को ब्रह्मांड को बेहतर तरीके से समझने के लिये एक तरीका उपलब्ध कराता है।

न्यूट्रिनो:

  • न्यूट्रिनो (न्यूट्रॉन के समान नहीं) भी एक प्रकार का मूलभूत कण है।
  • न्यूट्रिनो लेप्टान नामक कणों के परिवार से संबंधित हैं, और तीन प्रकार के न्यूट्रिनो, अर्थात् इलेक्ट्रॉन-न्यूट्रिनो, म्यूऑन-न्यूट्रिनो और टाउ-न्यूट्रिनो हैं।
  • वे फोटॉन के बाद दूसरे सबसे अतिशय कण हैं, जो प्रकाश के कण हैं।
  • हालाँकि इन्हें पहचानना आसान नहीं है, इसका कारण यह है कि वे आवेशित नहीं होते हैं, जिसके परिणामस्वरूप वे किसी पदार्थ के साथ अभिक्रिया नहीं करते हैं।
  • न्यूट्रिनो के प्राकृतिक स्रोतों में पृथ्वी के भीतर मूल तत्त्वों का रेडियोधर्मी क्षय, सूर्य की रेडियोधर्मिता, वायुमंडल में ब्रह्मांडीय अंतर्क्रिया और अन्य शामिल हैं।
  • न्यूट्रिनों का पता लगाने का एक तरीका पानी या बर्फ है, जहाँ न्यूट्रिनो अभिक्रिया करते समय प्रकाश की चमक या बुलबुले की एक रेखा छोड़ देते हैं। इन संकेतों को पकड़ने के लिये वैज्ञानिकों को बड़े डिटेक्टरों का निर्माण करना होगा।

बिग-बैंग मॉडल:

  • यह ब्रह्मांड के विकास का एक व्यापक सिद्धांत है।
  • इसके अनुसार ब्रह्मांड का निर्माण तथाकथित बड़े विस्फोट के माध्यम से जो कि 13.8 बिलियन वर्ष पहले हुआ था, के कारण उत्पन्न अत्यधिक उच्च तापमान और घनत्व से हुआ था।

सुपरनोवा:

  • सुपरनोवा एक शक्तिशाली और चमकदार तारकीय विस्फोट है। 
  • यह खगोलीय घटना किसी बड़े तारे के अंतिम विकास चरणों के दौरान या जब एक ‘व्हाइट ड्वार्फ’ परमाणु संलयन अभिक्रिया में भाग लेता है, के दौरान घटित होती है।

क्वार्क:

  • क्वार्क पदार्थ का एक मूलभूत घटक है और इसे एक प्राथमिक कण के रूप में परिभाषित किया गया है।
  • क्वार्क्स हैड्रॉन नामक मिश्रित कणों का उत्पादन करने के लिये अभिक्रिया करते हैं, जिनमें से सबसे स्थिर न्यूट्रॉन और प्रोटॉन हैं जो परमाणु नाभिक के घटक भी हैं।

लेप्टान

  • लेप्टान, उप-परमाणु कणों के एक वर्ग का कोई भी सदस्य हो सकता है जो केवल विद्युत चुंबकीय बल, दुर्बल बल और गुरुत्वाकर्षण बल के विरुद्ध प्रतिक्रिया करता है।
  • वे मज़बूत बल से प्रभावित नहीं होते हैं।
  • लेप्टान को प्राथमिक कण कहा जाता है; यह या तो इलेक्ट्रिक चार्ज की एक इकाई वहन कर सकता है या उदासीन हो सकता है।

स्रोत- इंडियन एक्सप्रेस

एसएमएस अलर्ट
 

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

प्रोग्रेस सूची देखने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

आर्टिकल्स को बुकमार्क करने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close