हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

डेली न्यूज़

अंतर्राष्ट्रीय संबंध

भारत-फिलीपींस

  • 21 Oct 2019
  • 5 min read

प्रीलिम्स के लिये:

भारत-फिलीपींस व्यापार सम्मेलन, 4th आसियान-भारत व्यापार सम्मेलन, एक्ट ईस्ट पॉलिसी

मेन्स के लिये:

भारत-फिलीपींस संबंध

चर्चा में क्यों?

भारत के राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद ने 19 अक्तूबर, 2019 को मनीला, फिलीपींस में भारत-फिलीपींस व्यापार सम्मेलन (India-Philippines Business Conclave) तथा 4th आसियान-भारत व्यापार सम्मेलन (4th ASEAN- India Business Summit) को संबोधित किया।

भारत-फिलीपींस व्यापार सम्मेलन

(India-Philippines Business Conclave):

  • इसके तहत दोनों देशों का लक्ष्य फिलीपींस के ‘बिल्ड, बिल्ड, बिल्ड’ परियोजना (Build, Build, Build Project) तथा भारत के ‘मेक इन इंडिया’(Make In India) को एकीकृत करना है जिससे दोनों देशों की कंपनियों तथा निवेशकों के लिये बुनियादी ढाँचा पहल द्वारा काफी अधिक अवसर उपलब्ध हो सकें।
  • सम्मेलन में कहा गया कि दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय व्यापार में निरंतर प्रगति हुई है तथा समग्र व्यापार में सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र महत्त्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।
  • सम्मेलन में यह भी कहा गया कि फिलीपींस में भारतीय कंपनियों के निवेश और उपस्थिति के रूप में भारत का द्विपक्षीय आर्थिक जुड़ाव बढ़ोतरी पर है। भारत-फिलीपींस व्यापार बढ़कर 2.5 बिलियन अमेरिकी डॉलर तक पहुँच गया है। 
  • हाल के वर्षों में भारत-फिलीपींस ने बुनियादी ढाँचे और ऊर्जा क्षेत्रों में द्विपक्षीय निवेश में वृद्धि की है। साथ ही फिलीपींस में एलएनजी (Liquefied Natural Gas- LNG) पाइपलाइनों, अपशिष्ट प्रबंधन समाधान तथा हवाई अड्डे के टर्मिनलों जैसी ठोस परियोजनाओं में भारतीय निवेश बढ़ा है। 
  • सम्मेलन में दोनों देशों ने एक पर्यटन संवर्द्धन समझौते (Tourism Promotion Agreement) पर हस्ताक्षर करने के बारे में भी सहमति व्यक्त की।

4th आसियान-भारत व्यापार सम्मेलन

(4th ASEAN- India Business Summit):

  • इस सम्मेलन का उद्देश्य प्रत्येक आसियान देश तथा भारत के बीच आर्थिक और व्यापारिक संबंधों को उन्नत करना है।
  • आसियान-भारत संबंध अत्यंत महत्त्वपूर्ण है क्योंकि भारत की ‘एक्ट ईस्ट नीति’ (Act East Policy) इस क्षेत्र को भारत-प्रशांत संबंधों के साथ केंद्र में रखती है।
  • हालाँकि पिछले कुछ वर्षों में आसियान-भारत व्यापार में काफी वृद्धि हुई है तथा दोनों पक्षों ने वर्ष 2022 तक 200 बिलियन अमेरिकी डॉलर के लक्ष्य तक पहुँचने का लक्ष्य रखा है।

भारत- फिलीपींस संबंध:

  • भारत वर्ष 2019 में फिलीपींस के साथ राजनयिक संबंधों की 70वीं वर्षगाँठ मना रहा है। इस अवसर पर भारत के राष्ट्रपति ने क्विज़ोन शहर के मरियम कॉलेज में महात्मा गांधी की प्रतिमा का अनावरण किया।
  • भारत और फिलीपींस दोनों देशों ने स्वतंत्रता प्राप्त करने के बाद 1949 में औपचारिक रूप से राजनयिक संबंध स्थापित किये। 
  • ऐतिहासिक साझा मूल्यों और समानताओं के साथ दोनों देश अपने संबंधों को बेहतर करने की दिशा में निरंतर प्रयास कर रहे हैं। 
  • भारत ने 1992 में लुक ईस्ट पॉलिसी की शुरुआत करते हुए आसियान के साथ साझेदारी में वृद्धि की जिसके फलस्वरूप फिलीपींस के साथ द्विपक्षीय और क्षेत्रीय संबंधों में भी तेज़ी आई। 
  • एक्ट ईस्ट पॉलिसी (Act East Policy) के तहत भारत-फिलीपींस संबंधों में अधिक विविधता देखने को मिली है।
  • भारत का फिलीपींस के साथ एक सकारात्मक व्यापार संतुलन है।
  • वर्तमान में फिलीपींस भारतीय छात्रों के लिये एक गंतव्य के रूप में उभर रहा है।

स्रोत: पीआइबी

एसएमएस अलर्ट
Share Page