हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

State PCS Current Affairs

राजस्थान

660 मेगावाट की छबड़ा सुपर क्रिटिकल इकाई में विद्युत उत्पादन आरंभ

Star marking (1-5) indicates the importance of topic for CSE
  • 08 Nov 2021
  • 2 min read

चर्चा में क्यों?

6 नवंबर, 2021 को राजस्थान के अतिरिक्त मुख्य सचिव (एनर्जी) डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि 660 मेगावाट के छबड़ा सुपर क्रिटिकल तापीय विद्युतगृह में विद्युत उत्पादन आरंभ हो गया है।

प्रमुख बिंदु

  • छबड़ा सुपर क्रिटिकल तापीय विद्युतगृह में सालाना शटडाउन के चलते विद्युत उत्पादन नहीं हो पा रहा था। 
  • डॉ. अग्रवाल ने बताया कि 5 नवंबर को पहली बार कोल इंडिया व विद्युत विभाग की कोल माइंस, दोनों से मिलाकर कोयले की 21 रैक डिस्पैच कराने में सफलता मिली है। राज्य सरकार के कोल ब्लॉक पीकेसीएल से कोयले की 11 रैक डिस्पैच हुई हैं, वहीं कोल इंडिया की अनुषंगी इकाई एनसीएल से 4 और एसईसीएल से 6 रैक डिस्पैच कराई गईं।
  • उन्होंने बताया कि राज्य की बंद तापीय इकाइयों में प्राथमिकता से विद्युत उत्पादन शुरू किया जा रहा है, वहीं कोयले की उपलब्धता बढ़ाने के लिये समन्वित प्रयास किये जा रहे हैं। देशव्यापी कोयला संकट के दौरान प्रदेश में 2600 मेगावाट से अधिक की बंद इकाइयों में बिजली का उत्पादन शुरू किया गया है। 
  • इससे पहले अक्टूबर माह में राजस्थान विद्युत उत्पादन निगम के सूरतगढ़, कालीसिंध और कोटा तापीयगृह की 2000 से अधिक मेगावाट की 6 इकाइयों में विद्युत उत्पादन शुरू किया गया है।
एसएमएस अलर्ट
Share Page