इंदौर शाखा: IAS और MPPSC फाउंडेशन बैच-शुरुआत क्रमशः 6 मई और 13 मई   अभी कॉल करें
ध्यान दें:

डेली अपडेट्स


रैपिड फायर

प्राचीन सुबिका पेंटिंग

  • 07 Feb 2024
  • 1 min read

स्रोत: इंडियन एक्सप्रेस 

मणिपुर की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित करने हेतु मणिपुर की प्राचीन सुबिका पेंटिंग शैली, जो विलुप्ति की कगार पर है, को पुनर्जीवित करने के लिये व्यापक प्रयास किये जा रहे हैं।

  • सुबिका पेंटिंग शैली मैतेई समुदाय के सांस्कृतिक इतिहास से संबंधित है तथा अपनी छह जीवित पांडुलिपियों; सुबिका, सुबिका अचौबा, सुबिका लाईशाबा, सुबिका चौदित, सुबिका चेइथिल तथा थेंगराखेल सुबिका के माध्यम से अस्तित्व में हैं।
  • यह शैली ऐतिहासिक रूप से महत्त्वपूर्ण है किंतु विगत कुछ वर्षों में हुई इसकी उपेक्षा के परिणामस्वरूप इसकी स्थिति प्रभावित हुई है।
  • यह पेंटिंग हस्तनिर्मित कागज़ पर बनाई जाती हैं तथा पांडुलिपियों के लिये आवश्यक सामग्री, जैसे हस्तनिर्मित कागज़ अथवा वृक्ष की छाल, स्थानीय स्तर पर तैयार की जाती है।

और पढ़ें… भारतीय चित्रकला 

close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2
× Snow