प्रयागराज शाखा पर IAS GS फाउंडेशन का नया बैच 10 जून से शुरू :   संपर्क करें
ध्यान दें:

डेली अपडेट्स


सामाजिक न्याय

वुमन बिज़नेस एंड लॉ सूचकांक 2020

  • 17 Jan 2020
  • 4 min read

प्रीलिम्स के लिये:

वुमन बिज़नेस एंड लॉ सूचकांक 2020-2020

मेन्स के लिये:

अर्थव्यवस्था में महिलाओं की भागीदारी

चर्चा में क्यों?

महिलाओं के आर्थिक सशक्तीकरण को मापने के लिये हाल ही में विश्व बैंक (World Bank) द्वारा वूमन बिज़नेस एंड लॉ 2020 [Women Business and The Law (WBL) Index-2020] सूचकांक जारी किया गया है।

मुख्य बिंदु:

  • यह सूचकांक अपनी शृंखला का छठा सूचकांक है। इसका पिछला संस्करण वर्ष 2017 में प्रकाशित किया गया था।
  • WBL सूचकांक में 190 देशों को शामिल किया गया तथा 190 देशों की सूची में भारत 117वें पायदान पर रहा।
  • इस सूचकांक के तहत औसत वैश्विक अंक 75.2 दर्ज किया गया जबकि वर्ष 2017 के सूचकांक में यह अंक 73.9 था। भारत ने इस मामले में 74.4 अंक प्राप्त किया है जो कि बेनिन और गेम्बिया जैसे देशों द्वारा प्राप्त अंकों के बराबर है।
  • इस सूचकांक में भारत की रैंकिंग रवांडा (Rwanda) और लेसोथो (Lesotho) जैसे अल्पविकसित देशों से भी पीछे है।
  • यह सूचकांक अर्थव्यवस्था में महिलाओं की भागीदारी को प्रभावित करने वाले कानूनों और नियमों का विश्लेषण करता है।
  • विश्व बैंक द्वारा किये गये इस अध्ययन से पता चला है कि कोई कानून किस तरह कामकाजी महिलाओं के जीवन के विभिन्न चरणों पर प्रभाव डालता है।
  • महिला व्यापार और कानून’ सूचकांक के लिये जून 2017 से सितंबर 2019 के बीच एक सर्वेक्षण किया गया जिसमे 8 संकेतकों का प्रयोग किया गया। सूचकांक में प्रयुक्त आठ संकेतक हैं -
    1. गतिशीलता
    2. कार्य स्थल
    3. वेतन
    4. विवाह
    5. पितृत्व
    6. उद्यमिता
    7. संपत्ति
    8. पेंशन
  • सर्वेक्षण के दौरान केवल आठ अर्थव्यवस्थाओं बेल्जियम (Belgium), कनाडा (Canada), डेनमार्क ( Denmark), फ्रांस (France), आइसलैंड (Iceland), लातविया (Latvia), लक्जमबर्ग (Luxembourg)और स्वीडन (Sweden)ने ही सूचकांक में पूर्ण 100 स्कोर प्राप्त किया।
  • शीर्ष 10 देशों में से मध्य पूर्व, उत्तरी अफ्रीका और उप-सहारा अफ्रीका’ के 9 देश इस सूचकांक में प्रगति वाले देशों में शामिल हैं। जिनमे शामिल हैं- सऊदी अरब (Saudi Arabia), संयुक्त अरब अमीरात (The United Arab Emirates), नेपाल (Nepal) , दक्षिण सूडान (South Sudan), साओ टोमे और प्रिंसिपे बहरीन (São Tomé and PríncipeBahrain) , डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो(The Democratic Republic of Congo), जिबूती (Djibouti), जॉर्डन(Jordan), ट्यूनीशिया(Tunisia)
  • सूचकांक के अनुसार, ‘पूर्वी एशिया और प्रशांत’, ‘यूरोप तथा मध्य एशिया’,‘लैटिन अमेरिकी एवं कैरिबियन’ देशों में कोई भी अर्थव्यवस्था में सुधारों के साथ शीर्ष देशों में शामिल नहीं है।
  • विश्व बैंक के अनुसार वर्ष 2017 के सर्वेक्षण के बाद से, महिलाओं की आर्थिक भागीदारी बढ़ी है। जिसके लिये विश्व स्तर पर महिलाओं को उनकी क्षमता का एहसास कराने और आर्थिक विकास में उनके योगदान के लिये 40 अर्थव्यवस्थाओं में 62 सुधार किये गए हैं।

स्रोत :डाउन टू अर्थ

close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2