Study Material | Test Series
Drishti


 मॉडल पेपर: उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (प्रवर) प्रारंभिक परीक्षा - 2018 (सामान्य अध्ययन - प्रश्नपत्र - I)  Download

बेसिक इंग्लिश का दूसरा सत्र (कक्षा प्रारंभ : 22 अक्तूबर, शाम 3:30 से 5:30)
[1]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. असमतापी जीवों के शरीर का तापमान, वातावरण के तापमान से भिन्न रहता है।
  2. समतापी जीव अपने शरीर के तापमान को शारीरिक क्रियाओं द्वारा नियंत्रित करते हैं।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[2]

किसी तंत्र की स्वनियमन अर्थात् स्वअस्तित्वन की क्षमता के लिये उपयुक्त पद का चयन कीजियेः

A)

पुनर्भरण

B)

संस्थापन

C)

समस्थापन

D)

अनुकूलन

Show Answer +
[3]

‘समस्थापन’ के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:

  1. समस्थापन के लिये सकारात्मक पुनर्भरण-प्रक्रिया उत्तरदायी होती है।
  2. समस्थापन के लिये नकारात्मक पुनर्भरण-प्रक्रिया उत्तरदायी होती है।
  3. पारितंत्र की समस्थापन क्षमता असीमित होती है।

नीचे दिये गए कूटों के आधार पर सही उत्तर को चुनियेः

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

केवल 2 और 3

D)

उपरोक्त सभी।

Show Answer +
[4]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. नकारात्मक पुनर्भरण-प्रक्रिया पारितंत्र की प्राथमिक नियमनकारी क्रियाविधि है।
  2. खनन, वनोन्मूलन, सूखा, प्रदूषण नकारात्मक पुनर्भरण के उदाहरण हैं।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[5]

समतापी जीवों के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः 

  1. इनके द्वारा शरीर का तापमान स्थिर बनाए रखने से अन्य जीवों की तुलना में उपापचयन की दृष्टि से ये लाभ की स्थिति में होते हैं।
  2. इन जीवों में जीव रासायनी क्रियाएँ व एंजाइम 37°C पर सबसे कम क्रियाशील होते हैं। 
  3. ये जीव ऊष्मा ह्रास को बढ़ाने के लिये अपने-आप में अनुकूलन लाते हैं।
  4. अनुकूलन के परिणामस्वरूप ये शीत स्थितियों में स्वयं को सक्रिय रखने में सक्षम होते हैं।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-से सही हैं?

A)

केवल 1, 2 और 4

B)

केवल 2 और 3

C)

केवल 1, 3 और 4

D)

केवल 1 और 4

Show Answer +
[6]

निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:

  1. ताप प्रवणता के कारण जलाशय का तापमान सतत बना रहता है।
  2. ताप प्रवणता एक ही जलाशय में भिन्न-भिन्न ताप स्तरों का निर्माण करती है।
  3. शीतोष्ण झीलों में सर्दियों में निचले स्तर का जल हिमकारी ताप पर रहता है।

नीचे दिये गए कूटों के आधार पर सही उत्तर चुनियेः

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

केवल 2 और 3

D)

इनमें से कोई नहीं।

Show Answer +
[7]

झीलों/जलाशयों की ताप उत्पादकता (turnover) के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें: 

  1. ताप उत्पादकता जलाशयों में जल का स्वतंत्र मिश्रण का परिणाम है।
  2. ताप उत्पादकता द्वारा सतही जल का तापमान उच्च एवं निचले जल का तापमान निम्न हो जाता है।
  3. ताप उत्पादकता केवल ग्रीष्म ऋतु की विशेषता है। 

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 1 और 2

C)

केवल 1 और 3

D)

केवल 2 और 3

Show Answer +
[8]

कथन (A): झीलों में ताप-उत्पादकता (turnover) पादपप्लवकों की संख्या में वृद्धि का एक प्रमुख कारक है।
कारण (R): ताप-उत्पादकता झीलों में ऑक्सीजन एवं अन्य पोषक तत्त्वों के पुनर्वितरण के लिये उत्तरदायी है।
कूटः

A)

A और R दोनों सही हैं तथा R, A की सही व्याख्या है।

B)

A और R दोनों सही हैं, परंतु R, A की सही व्याख्या नहीं है।

C)

A सही है, किंतु R गलत है।

D)

A गलत है, किंतु R सही है।

Show Answer +
[9]

‘जल’ के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. जल पृथ्वी पर प्राकृतिक रूप से उपलब्ध एकमात्र अकार्बनिक तरल है।
  2. जल, वर्षा वितरण एवं तापमान परिवर्तन द्वारा जलवायु को नियंत्रित करता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[10]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. वायु तथा जमीन के बीच जल के संचलन को जलीय-चक्र कहते हैं।
  2. जलीय-चक्र में पौधों की भूमिका नगण्य होती है।
  3. वायुमंडल में नमी की पर्याप्त उपलब्धता ही वर्षण का कारण है।

निम्नलिखित कूट के आधार पर सही उत्तर चुनियेः

A)

केवल 1

B)

केवल 1 और 2

C)

केवल 1 और 3

D)

उपरोक्त सभी।

Show Answer +
[11]

निम्नलिखित कथन के लिये उपयुक्त पद का चयन करें:
वह बल जिससे कि मृदा, जल के साथ संलग्न/बँधा रहता है तथा जिसे दबाव के रूप में परिमाणित किया जाता है-

A)

मृद्जल धारिता (field capacity)

B)

मृदा-विभव (soil potential)

C)

जल-विभव (water potential)

D)

उपरोक्त में से कोई नहीं

Show Answer +
[12]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. जल-विभव का ऋणात्मक मान पौधों के लिये अधिक जल उपलब्धता का द्योतक है।
  2. उत्क्रमी परासरण विभव के कारण जल मृदा से पौधे की जड़ों में प्रवेश करता है। 

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[13]

निम्नलिखित में से कौन-सा/से पौधों के लिये जल उपलब्धता-अनुकूलन में सहायक हैं?

  1. आवासीयवरण
  2. घटनाविज्ञानी समायोजन
  3. जल उपयोग की उच्च दक्षता

कूटः

A)

केवल 1

B)

केवल 1 और 3

C)

केवल 2 और 3

D)

उपरोक्त सभी।

Show Answer +
[14]
निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः
  1. मृदा, अपक्षीण भू-पर्पटी की सबसे ऊपरी परत है।
  2. मृदा का निर्माण मूल शैल, जलवायु, सजीवों, समय तथा स्थलाकृति के बीच पारस्परिक क्रियाओं द्वारा होता है।
  3. मृदा का खनिज अवयव, उसके मूल पदार्थों के खनिज तथा अपक्षयता से भिन्न होता है।
निम्नलिखित कूटों के आधार पर सही उत्तर को चुनियेः
A)

केवल 1 और 2

B)

केवल 1 और 3

C)

केवल 2 और 3

D)

उपरोक्त सभी।

Show Answer +
[15]

‘मृदा परिच्छेदिका’ के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. भू-पर्पटी पर मृदा का क्षैतिज वितरण मृदा परिच्छेदिका कहलाती है।
  2. मृदा परिच्छेदिका का निर्माण, अपक्षयता-प्रक्रिया, कार्बनिक पदार्थों के जमाव तथा खनिज पदार्थों के रिसाव से होता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1, और न ही 2

Show Answer +

Helpline Number : 87501 87501
To Subscribe Newsletter and Get Updates.