Study Material | Prelims Test Series
Drishti


 सिविल सेवा परीक्षा साक्षात्कार कार्यक्रम-2018  View Details

[1]

मौर्यकालीन प्रशासन के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:
1. राजा द्वारा मुख्यमंत्री तथा पुरोहित का चुनाव उनके चरित्र की भलीभाँति जाँच के बाद किया जाता था। इस प्रक्रिया को ‘उपधा परीक्षण’ कहा जाता था।
2. मंत्रिमंडल के अतिरिक्त एक मंत्रिपरिषद भी होती थी, जिसे ‘परिषा’ कहा जाता था।
3. मंत्रिपरिषद का मुख्य कार्य राजा को परामर्श देना था।
उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 1 और 2

C)

केवल 3

D)

1, 2 और 3

Show Answer +
[2]

मौर्यकालीन प्रशासन के संदर्भ में निम्नलिखित युग्मों पर विचार कीजियेः
1. तीर्थ - ऊँचे स्तर के अधिकारी
2. समाहर्ता - गाँव की शासन व्यवस्था
3. युक्त - साम्राज्य के विभिन्न प्रदेशों में कोषगृह तथा कोष्ठागार बनवाना।
उपर्युक्त युग्मों में से कौन-सा/से सुमेलित नहीं है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2 और 3

C)

केवल 3

D)

केवल 1 और 3

Show Answer +
[3]

सूची-I (अधिकारी) को सूची-II (विभाग) से सुमेलित कीजिये और सूचियों के नीचे दिये गए कूट का प्रयोग कर सही उत्तर का चुनाव कीजियेः

सूची-I
(अधिकारी)
सूची-II
(विभाग)
A. सीताध्यक्ष 1. वाणिज्य विभाग
B. पण्याध्यक्ष 2खनन विभाग
C. अकराध्यक्ष 3. व्यापारिक मार्ग विभाग
D. संस्थाध्यक्ष 4. राजकीय कृषि विभाग

कूटः

     A    B      C     D

A)

4 1 2 3

B)

4 3 2 1

C)

4 2 1 3

D)

1 2 3 4

Show Answer +
[4]

मौर्य काल में ‘संस्था और संचार’ का संबंध निम्नलिखित में से किस कार्य से था?

A)

चुंगी वसूलना

B)

वन संपदा की देख-रेख

C)

गुप्तचरी

D)

लेखा कार्य

Show Answer +
[5]

सूची-I (प्रांत) को सूची-II (राजधानी) के साथ सुमेलित कीजिये और सूचियों के नीचे दिये गए कूट का प्रयोग कर सही उत्तर चुनिये।

सूची-I
(प्रांत)
सूची-II
(राजधानी)
A. उत्तरापथ 1. तोसली
B. अवन्तिराष्ट्र 2तक्षशिला
C. कलिंग प्रांत 3. उज्जयिनी
D. प्राशी 4. पाटलिपुत्र

कूटः 

     A    B      C     D

A)

3 1 2 4

B)

1 3 2 4

C)

2 3 1 4

D)

4 3 2 1

Show Answer +
[6]

मौर्य काल में एग्रोनोमोई (Agronomoi) का संबंध निम्नलिखित में से किस कार्य से था?

A)

व्यापार से

B)

मार्ग-निर्माण से

C)

सैन्य अभियानों से

D)

बंदरगाहों की सुरक्षा से

Show Answer +
[7]

मौर्यकालीन समाज के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः
1. कौटिल्य ने चारों वर्णों के व्यवसाय निर्धारित किये, किंतु शूद्र को शिल्पकला और सेवावृत्ति के अतिरिक्त कृषि, पशुपालन और वाणिज्य से आजीविका चलाने की अनुमति दी है।
2. अर्थशास्त्र में शूद्रों को आर्य कहा गया है तथा उसे म्लेच्छ से भिन्न माना गया है।
उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[8]

मौर्यकालीन अर्थव्यवस्था के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः
1. राज्य की अर्थव्यवस्था, कृषि, पशुपालन और वाणिज्य पर आधारित थी, इन्हें सम्मिलित रूप से ‘वार्ता’ कहा जाता था।
2. ‘अदेवमातृक’ ऐसी भूमि को कहा जाता था जिसका कोई स्वामी नहीं होता था।
3. राज्य की भूमि से होने वाली आय को कौटिल्य ने ‘सीता’ कहा है।
उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही नहीं है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

केवल 1 और 3

D)

केवल 2 और 3

Show Answer +
[9]

मौर्यकालीन व्यापार के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः
1. तामुलुक, सोपारा, भड़ौच पश्चिमी तट के प्रमुख बन्दरगाह थे।
2. कौटिल्य के अनुसार जलमार्ग की अपेक्षा स्थलमार्ग व्यापार की दृष्टि से अधिक सुरक्षित थे।
3. व्यापारियों को यातायात तथा सुरक्षा सुविधाएँ प्राप्त थी। यदि मार्ग में व्यापारियों का नुकसान हो जाए तो राज्य क्षतिपूर्ति करता था।
उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 1 और 2

C)

केवल 1 और 3

D)

केवल 3

Show Answer +
[10]

मौर्य काल के संदर्भ में निम्नलिखित युग्मों पर विचार कीजियेः
1प्रणय - यह एक प्रकार का बेगार होता था।
2. विष्टि - यह एक प्रकार का आपातकालीन कर था।
उपर्युक्त युग्मों में से कौन-सा/से युग्म सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +

Helpline Number : 87501 87501
To Subscribe Newsletter and Get Updates.