IAS प्रिलिम्स ऑनलाइन कोर्स (Pendrive)
ध्यान दें:
65 वीं बी.पी.एस.सी संयुक्त (प्रारंभिक) प्रतियोगिता परीक्षा - उत्तर कुंजी.बी .पी.एस.सी. परीक्षा 63वीं चयनित उम्मीदवारअब आप हमसे Telegram पर भी जुड़ सकते हैं !यू.पी.पी.सी.एस. परीक्षा 2017 चयनित उम्मीदवार.63 वीं बी .पी.एस.सी संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा - अंतिम परिणामबिहार लोक सेवा आयोग - प्रारंभिक परीक्षा (65वीं) - 2019- करेंट अफेयर्सउत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (प्रवर) मुख्य परीक्षा मॉडल पेपर 2018यूपीएससी (मुख्य) परीक्षा,2019 के लिये संभावित निबंधसिविल सेवा (मुख्य) परीक्षा, 2019 - मॉडल पेपरUPSC CSE 2020 : प्रारंभिक परीक्षा टेस्ट सीरीज़Result: Civil Services (Preliminary) Examination, 2019.Download: सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा - 2019 (प्रश्नपत्र & उत्तर कुंजी).

डेली अपडेट्स

अंतर्राष्ट्रीय संबंध

गोदावरी नदी में प्रदूषण की निगरानी के लिये सेंसर नेटवर्क

  • 12 Jul 2017
  • 2 min read

संदर्भ 
अमेरिकी शोधकर्त्ताओं का एक समूह गोदावरी नदी में प्रदूषण के रुझान का मैप तैयार करने के लिये एक सेंसर नेटवर्क प्रणाली पर काम कर रहा है। नदी प्रदूषण की निगरानी के लिये  सेंसर का उपयोग भारत में एक उभरती हुई तकनीकी दृष्टिकोण है।

प्रमुख बिंदु 

  • अमेरिकी शोधकर्त्ताओं का एक समूह उपग्रह निगरानी के ज़रिये नदी के मार्गों तक जाकर जल के नमूनों को एकत्र करने तथा जल में बैक्टीरिया और रासायनिक प्रदूषण को मापने के लिये एक विशेष सेंसर का प्रयोग कर एक लागत-प्रभावी पूर्वानुमान प्रणाली विकसित करने का प्रयास कर रहा है।
  • गोदावरी भारत की दूसरी सबसे बड़ी नदी है। 

उद्देश्य 

  • इस टीम का दीर्घकालिक उद्देश्य, राज्य के अधिकारियों और नागरिकों को संभावित खतरनाक रोगाणुओं या अपशिष्ट पदार्थों के स्तर, मौसम और वायु प्रदूषण के पूर्वानुमान के समान एक संभावित जानकारी देने में सक्षम बनाना है। 
  • यह परियोजना आठ महीने पहले शुरू की गई थी और अब तक प्रदूषण के दो मुख्य स्थलों की पहचान की गई है।
  • इस कार्य में नदी में घुले हुये ठोस पदार्थ, लवण, नाइट्रेट, पीएच, तापमान और विद्युत चालकता को गंदगी के रूप में मापा जाएगा। 
  • इनके परिणामों को थोरो (Thoreau) नामक एक वेबसाइट, जो कि एक वायरलेस सेंसिंग नेटवर्क है, पर रिले किया जाता है। इस वेबसाइट की देख-रेख शिकागो विश्वविद्यालय द्वारा किया जाता है।  
  • यह प्रयास बिल और मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन की परियोजना का एक हिस्सा है, जिसके तहत आंध्र प्रदेश के शहरों में स्वच्छता में सुधार लाने के लिये  प्रशासनिक स्टाफ कॉलेज ऑफ इंडिया के कार्यक्रम को समर्थन दिया जा रहा है। 
एसएमएस अलर्ट
 

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

प्रोग्रेस सूची देखने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

आर्टिकल्स को बुकमार्क करने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close