Study Material | Prelims Test Series
Drishti


 UPSC Study Material (English) for Civil Services Exam-2018  View Details

[1]

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में उग्र राष्ट्रवाद के विकास के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः
1. स्वतंत्रता संघर्ष के दौरान वर्षों के कालक्रम में विकसित उग्र राष्ट्रवाद 1905 में बंगाल-विभाजन विरोधी आंदोलन में अभिव्यक्त हुआ। 
2. 1904 में बने ऑफिशियल सीक्रेट्स एक्ट ने भारतीयों में उग्र राष्ट्रवाद के विकास में योगदान दिया।
उपर्युक्त कथनों में कौन-सा/से सत्य है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[2]

निम्नलिखित में कौन-सी घटना भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में उग्र राष्ट्रवाद के विकास हेतु उत्तरदायी नहीं थी?

A)

1892 का इंडियन काउंसिल एक्ट

B)

1897 में नाटू भाइयों का निष्कासन

C)

1899 में कलकत्ता नगर निगम में भारतीय सदस्यों की संख्या घटाना।

D)

उपर्युक्त में से कोई नहीं।

Show Answer +
[3]

"दुनिया में अगर कोई पाप है तो वह निर्बलता है। निर्बलता पाप है और निर्बलता मृत्यु है...सत्य यह है कि कोई भी वस्तु अगर तुम्हें शारीरिक, बौद्धिक और आध्यात्मिक दृष्टि से निर्बल बनाती है तो उसे विष समझ उसका त्याग करो। उसमें कोई जीवन नहीं है और वह सत्य नहीं हो सकती।"
उपरोक्त कथन निम्नलिखित में किसने कहा है?

A)

स्वामी विवेकानंद

B)

महात्मा गांधी

C)

लाला लाजपत राय

D)

बाल गंगाधर तिलक

Show Answer +
[4]

बाल गंगाधर तिलक के संदर्भ में निम्नलिखित में कौन-सा कथन असत्य है?

A)

1893 में तिलक ने शिवाजी उत्सव का आयोजन आरंभ किया।

B)

1886-97 में उन्होंने कर न चुकाने का अभियान चलाया।

C)

उन्होंने अंग्रेज़ी भाषा में ‘मराठा’ नामक पत्र निकाला।

D)

घृणा और असंतोष फैलाने के आरोप में उन्हें 1897 में अंग्रेज़ों द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया।

Show Answer +
[5]

1920 के प्रारंभ में ब्रिटिश सरकार ने क्रांतिकारी आतंकवादियों को आम माफी के तहत जेल से रिहा कर दिया। अंग्रेज़ों के इस कदम का मुख्य उद्देश्य निम्नलिखित में क्या था?

A)

भारतीयों को उत्तरदायी शासन सौंपना

B)

मांटेग्यू-चेम्सफोर्ड के सुधारों को लागू करना

C)

रॉलेट एक्ट को सख्ती से लागू करना

D)

जलियाँवाला बाग हत्याकांड के प्रति सहानुभूति व्यक्त करना

Show Answer +
[6]

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में ‘नो चेंजर्स’ के रूप में से निम्नलिखित में किसे जाना गया?

A)

गांधीवादी रणनीति के समर्थक

B)

गांधीवादी रणनीति के विरोधी

C)

साम्यवाद के समर्थक

D)

स्वराजियों के समर्थक

Show Answer +
[7]

स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान क्रांतिकारी गतिविधियों के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः
1. अक्तूबर 1924 में कानपुर में ‘हिन्दुस्तान रिपब्लिकन एसोसिएशन’ का गठन हुआ।
2. हिन्दुस्तान रिपब्लिकन एसोसिएशन का उद्देश्य ‘यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ इंडिया’ की स्थापना करना था।
उपर्युक्त कथनों में कौन-सा/से सत्य है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[8]

क्रांतिकारी गतिविधियों पर आधारित ‘पाथेर दाबी’ नामक उपन्यास निम्नलिखित में किसके द्वारा लिखा गया है?

A)

शरतचंद्र चटर्जी

B)

शचीन्द्रनाथ सान्याल

C)

योगश चटर्जी

D)

राजेन्द्र लाहिड़ी

Show Answer +
[9]

काकोरी षड्यंत्र के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः
1. इस घटना को हिन्दुस्तान रिपब्लिकन एसोसिएशन ने अंजाम दिया था।
2. इसके तहत पैसों व हथियारों से भरे अंग्रेज़ों के गोदाम को लूट लिया गया।
3. काकोरी षड्यंत्र केस में रोशन सिंह और राजेन्द्र लाहिड़ी को फाँसी दी गई।
उपर्युक्त में कौन-सा/से कथन सत्य है/हैं?

A)

केवल 1 और 2

B)

केवल 2

C)

1, 2 और 3 

D)

केवल 1 और 3

Show Answer +
[10]

भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन से संबंधित क्रांतिकारी गतिविधियों के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः
1. चंद्रशेखर आज़ाद के नेतृत्व में हिन्दुस्तान रिपब्लिकन एसोसिएशन का पुनर्गठन हिन्दुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन एसोसिएशन के रूप में किया गया।
2. हिन्दुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन एसोसिएशन ने सामूहिक नेतृत्व के स्थान पर व्यक्तिगत कार्रवाई पर बल दिया।
उपर्युक्त कथनों में कौन-सा/से सत्य है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +

Helpline Number : 87501 87501
To Subscribe Newsletter and Get Updates.