Study Material | Test Series
Drishti


 Study Material for Civil Services Exam  View Details

[1]

निम्नलिखित में से कौन-सा/से लक्षण सिन्धु सभ्यता के लोगों का सही चित्रण करते है/हैं?
1. इनके विशाल महल होते थे।
2. इनके नगर योजनाबद्ध तरीके से ग्रिड पैर्टन पर बने हुए थे।
3. भवनों का निर्माण कच्ची एवं पक्की ईंटों से करते थे।
4. इनकी लिपि प्रायः चित्रात्मक, सीधी लकीरों वाली एवं भाव चित्रात्मक थी।
नीचे दिये गए कूट का प्रयोग कर सही कथन/कथनों को चुनिये-

A)

केवल 1

B)

केवल 1 और 2

C)

केवल 3 और 4

D)

केवल 2, 3 और 4

Show Answer +
[2]

सिन्धु सभ्यता की अर्थव्यवस्था के सम्बन्ध में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन असत्य है-

A)

हड़प्पा से मेसोपोटामिया को सूतीवस्त्र, इमारती लकड़ी, मसाला तथा हाथी दाँत का निर्यात किया जाता था।

B)

मोहनजोदड़ो तथा लोथल से हाथी दाँत के बने तराजू के पलड़े प्राप्त हुए हैं।

C)

सारगोन के सुमेरियन लेख में माकन (मकरान तट), मेलुहा (सिन्धु घाटी) के बीच व्यापार का ज़िक्र मिलता है

D)

पश्चिम एशिया के विषय में सिन्धु सभ्यता के लोगों को अधिक जानकारी नहीं थी।

Show Answer +
[3]

सूची-I (प्राचीन स्थल) को सूची-II (पुरातत्त्वीय खोज) के साथ सुमेलित कीजिये और सूचियों के नीचे दिये गए कूट का प्रयोग कर सही उत्तर चुनिये-

सूची-I
(प्राचीन स्थल)
सूची-II
(पुरातत्त्वीय खोज)
A. कालीबंगा 1. पश्चिमी टीले के दो पृथक्-पृथक् किन्तु परस्पर सम्बंद्ध खंड।
B. लोथल 2. पूरी-की-पूरी बस्ती एक ही दीवार से घिरी हुई।
C. दायमाबाद 3. तांबे का, रथ, साँड,गैंडा, हाथी की आकृतियों की प्राप्ति।
D. बनवाली 4. मिट्टी का हल और जौ के दाने के साक्ष्य मिले हैं।

कूटः
    A      B      C     D

A)

1 2 3 4

B)

2 1 4 3

C)

1 2 4 3

D)

3 4 2 1

Show Answer +
[4]

सिन्धु सभ्यता के स्थल, मोहनजोदड़ो के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सही नहीं है-

A)

यह सिंध के लरकाना ज़िले में, सिन्धु नदी के दायें तट पर स्थित है।

B)

यहाँ से पवित्र स्नानागार, अन्नागार/समाभवन/पुरोहित आवास के साक्ष्य मिलते हैं।

C)

यहाँ से कांस्य की, नृत्य करती हुई नर्तकी की मूर्ति मिली है।

D)

इस स्थल से एक कब्रिस्तान का भी साक्ष्य मिला है।

Show Answer +
[5]

बलूचिस्तान में स्थित व्यापारिक बस्तियों की अवस्थिति के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें-
1. प्रागैतिहासिक काल में इस इलाके का समुद्र, भूमि की ओर बढ़ा हुआ था अर्थात् आज जो बस्तियाँ समुद्र से कुछ मील दूरी पर पाई जाती हैं वे समुद्र के किनारे पर बसी हुई थीं।
2. इन बस्तियों को दोहरा लाभ प्राप्त था, क्योंकि ये नदी के मुहाने पर भी स्थित थीं और समुद्र के किनारे भी।
3. पुरातात्त्विक दृष्टि से इनमें तीन महत्त्वपूर्ण स्थल सुत्कागेंडोर, सोत्काकोह और बालाकोट हैं।
4. ये तटीय स्थल साधारणतः फारस की खाड़ी समुद्री मार्ग पर बने बंदरगाह माने जाते हैं। 
उपर्युक्त में से कौन-सा/से कथन सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

केवल 1, 2 और 3

D)

1, 2, 3 और 4

Show Answer +
[6]

सूची-I (प्राचीन स्थल) को सूची-II (पुरातत्त्वीय खोज) के साथ सुमेलित कीजिये और सूचियों के नीचे दिये गए कूट का प्रयोग कर सही उत्तर चुनिये-

सूची-I
(प्राचीन स्थल)
सूची-II
(पुरातत्त्वीय खोज)
A. चन्हूदड़ो   1. रेनवाटर हार्वेस्टिंग के साक्ष्य के उपकरणों का निर्माण
B. धौलावीरा 2. मनके, मुद्रा व हड्डी की वस्तुएं
C. रोपड़ 3. सतलज के बायें तट पर स्थित, हड़प्पा तथा पूर्व हड़प्पाकालीन अवशेष
D. बहावलपुर 4. सरस्वती के नदी मार्ग पर स्थित है

कूटः
    A      B      C     D

A)

2 1 3 4

B)

4 3 2 1

C)

1 2 3 4

D)

3 2 1 4

Show Answer +
[7]

हड़प्पा संस्कृति में पाई गई शिव की मुहर पर निरूपित आकृति की पहचान के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये-
1. योगमुद्रा में बैठे योगी की आकृति बनी है।
2. इसके चारों ओर एक हाथी, एक बाघ, एक गैंड़ा है, आसन के नीचे एक भैसा है और पावों पर दो हिरण हैं।
उपर्युक्त में से कौन-सा/से सही कारण है/हैं जिससे/जिनसे उक्त आकृति की पहचान शिव के रूप में की जा सकती है?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[8]

निम्नलिखित में से किस वक्तव्य का समर्थन पुरातात्त्विक साक्ष्यों द्वारा नहीं होता है?

A)

तृतीय सहस्त्राब्दी में बहरीन द्वीप के निवासी सैन्धव एवं सुमेरियन लोगों के मध्य व्यापार में बिचौलिये का कार्य करते थे।

B)

सैन्धव संस्कृति एवं पश्चिमी एशिया के मध्य सामुद्रिक व्यापार में लोथल की अहम भूमिका थी।

C)

हड़प्पावासियों का विनाश आर्यों ने किया।

D)

धातु की मूर्तियों को बनाने के लिये हड़प्पावासी लुप्त मोम पद्धति से परिचित थे।

Show Answer +
[9]

सिन्धु घाटी सभ्यता के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये-
1. यह प्रमुखतः लौकिक सभ्यता थी, जिसमें धार्मिक तत्त्व उपस्थित थे परन्तु वर्चस्वशाली नहीं थे।
2. अभी तक मिले साक्ष्यों से पता चलता है कि इस सभ्यता के लोग कुल नौ फसलों से परिचित थे।
3. जल एवं थल दोनों मार्गों से व्यापार होता था। माल ढोने के लिये ठोस पहिए वाली बैलगाड़ी का इस्तेमाल किया जाता था।
उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

केवल 2 और 3

D)

1, 2 और 3

Show Answer +
[10]

हड़प्पा के सामाजिक संगठन के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों में कौन-सा कथन सही नहीं है?

A)

सिंधु घाटी के नगर नियोजन में ठोस योजना और बस्तियों के निर्माण में व्यापक एकरूपता देखने को मिलती है।

B)

निर्माण में एकरूपता, सुदृढ़ राज-तंत्र के अस्तित्व का संकेत है।

C)

सम्भवतः सिंधु राज-तंत्र पर धर्मतंत्र का गहरा प्रभाव था।

D)

पुरातात्त्विक सामग्री से किसी राजा के अस्तित्व का संकेत मिलता है।

Show Answer +

Helpline Number : 87501 87501
To Subscribe Newsletter and Get Updates.