Study Material | Test Series
Drishti


 16 अगस्त तक अवकाश की सूचना View Details

DRISHTI INDEPENDENCE DAY OFFER FOR DLP PROGRAMME

Offer Details

Get 1 Year FREE Magazine (Current Affairs Today) Subscription
(*On a Minimum order value of Rs. 15,000 and above)

Get 6 Months FREE Magazine (Current Affairs Today) Subscription
(*On an order value between Rs. 10, 000 and Rs. 14,999)

Get 3 Months FREE Magazine (Current Affairs Today) Subscription
(*On an order value between Rs.5,000 and Rs. 9,999)

Offer period 11th - 18th August, 2018

[1]

अम्ल वर्षा के हानिकारक प्रभावों के संबंध निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. जल का pH मान 5 से कम होने पर मछलियाँ अपने अंडों को हैच नहीं कर पाती हैं।
  2. अम्ल वर्षा, पक्षी जैव विविधता के समाप्त होने का कारण बन सकती है।
  3. अम्ल वर्षा से मेंढ़कों की प्रजाति संकटग्रस्त हो सकती है।
  4. अम्ल वर्षा में ऑस्मोरेगुलेशन में व्यवधान के कारण लवणीय जल का मछलियों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन- से सही हैं?

A)

केवल 1 और 2

B)

केवल 2 और 4

C)

केवल 1, 2 और 3

D)

केवल 2, 3 और 4

Show Answer +
[2]

अम्लीय वर्षा के प्रभाव के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. उच्च तुंगता (High Altitude) वाले वन अम्ल वर्षा के प्रति ज़्यादा सुभेद्य होते हैं।
  2. मृदा से पोषक तत्त्वों के निक्षालन का प्रमुख कारण अम्लीय वर्षा है।
  3. किसी खास वातावरण में किसी सूक्ष्मजीव की जातियों के प्रसार (Proliferation) और उत्पादन दर को pH निर्धारित करता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन- सा/से सही है/हैं ?

A)

केवल 1 और 2

B)

केवल 2 और 3

C)

केवल 3

D)

1, 2 और 3

Show Answer +
[3]

अम्ल वर्षा का मानव स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभावों के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये तथा नीचे दिए गये कूट की सहायता से सही उत्तर चुनें :

  1. अम्लीय वर्षा के कारण नाक श्वसन पथ (Respirations track) में असहजता उत्पन्न होती है।
  2. अस्थमा, श्वसन संबंधी बीमारियाँ।
  3. दीर्घकालिक ब्रांकाइटिस, पल्मोनरी एमफीसेमा (Pulmonary Emphysema) एवं कैंसर आदि।

कूटः

A)

केवल 1 और 2

B)

केवल 2 और 3

C)

केवल 1 और 3

D)

1, 2, और 3

Show Answer +
[4]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर हेलसिंकी प्रोटोकॉल के तहत सल्फर के उत्सर्जन में कमी का प्रयास किया जा रहा है।
  2. समुद्र कार्बन डाईऑक्साइड के लिये एक भण्डार गृह की तरह कार्य करता है।
  3. सागरीय अम्लीकरण की घटना समुद्र द्वारा नाइट्रिक ऑक्साइड (NO) गैस के अवशोषण तथा समुद्री जल के साथ प्रतिक्रिया के फलस्वरूप घटित होती है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही नहीं है/हैं ?

A)

केवल 1 और 2

B)

केवल 2

C)

केवल 3

D)

1, 2 और 3

Show Answer +
[5]

निम्नलिखित में से सही कथन/कथनों की पहचान कीजिये तथा नीचे दिए गये कूट की सहायता से सही उत्तर चुनें :

  1. भारतीय मृदा क्षारीय होने के कारण इस पर अम्लीय वर्षा का प्रभाव अधिक पड़ता है।
  2. समुद्र में कार्बन डाईऑक्साइड की मात्रा में वृद्धि के साथ सागरीय अम्लीयता में वृद्धि होती है, जो प्लैंकटन की उत्पादकता को भी बढ़ाती है।
  3. उच्च सागरीय अम्लीयता प्रवाल विरंजन का कारण बनती है।

कूटः

A)

केवल 1 और 2

B)

केवल 3

C)

केवल 2 और 3

D)

1, 2 और 3

Show Answer +
[6]

ओज़ोन परत के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:

  1. ओज़ोन परत/आवरण का क्षरण अभी सिर्फ उत्तरी एवं दक्षिणी ध्रुव के ऊपर हो रहा है। 
  2. ओज़ोन परत का क्षरण ओज़ोन गैस की वायुमंडलीय गैसों से रासायनिक क्रिया के फलस्वरूप ऑक्सीजन में बदलने से होता है।

उपर्युक्त में से कौन-सा/से कथन सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1, न ही 2

Show Answer +
[7]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:

  1. ओज़ोन का निर्माण सौर प्रकाश की अवरक्त किरणों (Infrared Rays) के ऑक्सीजन अणुओं की अभिक्रिया से होता है।
  2. पराबैंगनी सौर विकिरण और ओज़ोन की अभिक्रिया द्वारा ओज़ोन का प्राकृतिक विघटन होता है।

उपर्युक्त कथनों  में कौन- सा/से सही नहीं है/हैं ?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1, न ही 2

Show Answer +
[8]

क्लोरोफ्लोरोकार्बन (CFC) के संबंध में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. क्लोरोफ्लोरोकार्बन (CFC) सर्वाधिक क्षमता वाला एवं सबसे प्रमुख ओज़ोन विघटनकारी पदार्थ है।
  2. CFC का उपयोग रेफ्रिजरेटर, एयर कंडीशनर आदि में प्रणोदक के रूप में होता है।
  3. इसका व्यापारिक नाम फ्रेऑन (Freon) है।
  4. CFC के साथ, हैलोन, HCFCs, CH3Br, NOx आदि मॉन्ट्रियल प्रोटोकॉल द्वारा नियंत्रित किये जा रहे हैं।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही नहीं है/हैं?

A)

केवल 1, 2 और 3

B)

केवल 2 और 4

C)

केवल 2

D)

केवल 4

Show Answer +
[9]

हाईड्रो क्लोरोफ्लोरोकार्बन (HCFCs) के संबंध में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:

  1. HCFCs, CFC से कम ओज़ोन विघटनकारी है।
  2. HCFCs का ओज़ोन क्षरण में योगदान है किंतु ग्लोबल वार्मिंग में इनका योगदान नहीं है। 
  3. 26वें मान्ट्रियल प्रोटोकाल सम्मेलन में HFC को नियंत्रित करने हेतु सहमति बनी।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 1 और 2

C)

केवल 2 और 3

D)

1, 2 और 3

Show Answer +
[10]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. हाइड्रोब्रोमोफ्लोरोकार्बन (HBFCs) में ओज़ोन विघटनकारी क्षमता नहीं होती है।
  2. फ्लूरीनेटेड गैसों द्वारा ओज़ोन का विघटन अत्यंत कम होता है साथ ही इन गैसों की तापन क्षमता भी अन्य ग्रीन हाउस गैसों की अपेक्षा अत्यंत कम होती है। 
  3. मिथाइल क्लोरोफॉर्म 1986 से मान्ट्रियल प्रोटोकॉल के तहत विकसित देशों में प्रतिबंधित है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही नहीं है/हैं ?

A)

केवल 1 और 2

B)

केवल 2 और 3

C)

केवल 3

D)

केवल 2

Show Answer +
[11]

निम्नलिखित पदार्थों (Substances) में कौन-सा पदार्थ ओज़ोन विघटनकारी है?

A)

CH3Br (मिथाइल ब्रोमाइड)

B)

NO2 (नाइट्रोजन ऑक्साइड)

C)

CCl4 (कार्बन टेट्रा क्लोराइड)

D)

उपरोक्त सभी

Show Answer +
[12]

वायुमंडलीय ओज़ोन मापन के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:

  1. वायुमंडलीय ओज़ोन का मापन डॉबसन स्पेक्ट्रोमीटर द्वारा किया जाता है।
  2. वायुमंडलीय ओज़ोन की माप डॉबसन यूनिट में व्यक्त की जाती है।
  3. वायुमंडल में ओज़ोन का औसत सांद्रण करीब 450 डॉबसन यूनिट है।
  4. कोई क्षेत्र जहाँ का सान्द्रण 320 डॉबसन यूनिट से नीचे गिर जाता है वह ओज़ोन छिद्र का भाग माना जाता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन सा/से सही नहीं है/हैं ?

A)

केवल 1 और 2

B)

केवल 2 और 3

C)

केवल 3 और 4

D)

केवल 4

Show Answer +
[13]

अंटार्कटिका के ऊपर सर्वाधिक ओज़ोन क्षरण के कारण है-

A)

ध्रुवीय समतापमंडलीय बादल (PSC)

B)

ध्रुवीय भँवर

C)

(a) और (b) दोनों

D)

उपरोक्त में से कोई नहीं 

Show Answer +
[14]

धुवीय समतापमंडलीय मेघ (Polar Stratospheric cloud) के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. ध्रुवीय समतापमंडलीय मेघों की अवस्थिति पृथ्वी के समतापमंडल में निम्न तुंगता (Low Altitude) पर होती है।
  2. ध्रुवीय समतापमंडलीय मेघों को नेक्रीआस बादल (Nacreous Cloud) के नाम से भी जाना जाता है। 
  3. समतापमंडल में सामान्यतः अधिक शुष्कता पाए जाने के कारण बादलों का निर्माण नहीं होता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A)

केवल 1 और 2

B)

केवल 1

C)

केवल 2 और 3

D)

1, 2 और 3

Show Answer +
[15]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. ध्रुवीय भँवर पवनों का पैटर्न है एवं प्रत्येक वर्ष ध्रुवों के चारों ओर प्रवाहित होती है।
  2. ध्रुवीय भँवर समतापमंडलीय बादलों के निर्माण में सहायक है।
  3. ध्रुवीय भँवर समतापमंडलीय बादल ओज़ोन विघटन हेतु ज़िम्मेदार नहीं हैं।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A)

केवल 1 और 2

B)

केवल 2 और 3

C)

केवल 3

D)

1, 2 और 3

Show Answer +

Helpline Number : 87501 87501
To Subscribe Newsletter and Get Updates.