Study Material | Test Series
Drishti


 Study Material for Civil Services Exam  View Details

[1]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. उष्णकटिबंधीय पर्णपाती वनों में उच्च स्तरीय वास्तविक प्राथमिक उत्पादकता पाई जाती है।
  2. मरुस्थल की वास्तविक प्राथमिक उत्पादकता शून्य होती है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[2]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. गहरे जल में उत्पादकता गहराई के साथ बढ़ती जाती है।
  2. ज्वारनदमुख पर सर्वोच्च उत्पादकता पाई जाती है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही  है/हैं?

A)

केवल 1 

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[3]

निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:

  1. अपघटन के दौरान अकार्बनिक पदार्थ कार्बनिक पदार्थ में टूटते हैं।
  2. अपघटन की क्रिया मृदा की निचली परतों में होती है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[4]

‘अपघटन प्रक्रिया’ के संबंध में निम्नलिखित पर विचार कीजिये तथा सही क्रम का निर्धारण कीजियेः

A)

निच्छालन-विखंडन-अपपाचन

B)

निच्छालन-अपपाचन-विखंडन

C)

अपपाचन-विखंडन-निच्छालन

D)

विखंडन-निच्छालन-अपपाचन

Show Answer +
[5]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. मिट्टी में ह्यूमस की मात्रा बढ़ने से उर्वरता में वृद्धि होती है।
  2. खनिजीकरण मृदा में पोषक तत्त्वों को कम कर देता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही  है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[6]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. पोषण निश्चलता (Nutrient immolisation) से अभिप्राय दूसरे जीवों के लिये पोषक तत्त्वों का सरलता से उपलब्ध होना है।
  2. पोषण निश्चलता (Nutrient immolisation) पारिस्थितिक तंत्र से पोषक तत्त्वों का दोहन है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही  है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों 

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[7]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. अधिक तापमान तथा नम जलवायु अपघटन की दर को अवरुद्ध कर देते हैं।
  2. उच्च अक्षांशों/ऊँचाई वाले क्षेत्रें में अपघटन काफी तेज़ी से होता है। 

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही  है/हैं?

A)

केवल 1 

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[8]

निम्नलिखित कारकों में से कौन-सा/से सामान्य जलवायवीय परिस्थितियों में अपरदन के अपघटन की दर को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है/हैं?

  1. नाइट्रोजन की प्रचुरता
  2. लिग्नीन की कमी
  3. काइटीन (Chitin) की प्रचुरता

नीचे दिये गए कूटों के आधार पर सही उत्तर दीजियेः

A)

केवल 1 और 3

B)

केवल 2

C)

केवल 2 और 3

D)

केवल 3

Show Answer +
[9]

निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:

  1. ऊष्मागतिकी का प्रथम नियम यह प्रतिपादित करता है कि ऊर्जा को न तो उत्पादित किया जा सकता है और न ही उसे नष्ट किया जा सकता है। 
  2. ऊष्मागतिकी का द्वितीय नियम यह प्रतिपादित करता है कि ऊर्जा का स्वतः स्थानांतरण तब तक नहीं होता जब तक ऊर्जा का पतन किसी ऊर्जा के केंद्र से विखंडित न हो।

उपर्युक्त में से कौन-सा/से कथन सही  है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[10]

खाद्य  श्रृंखलाओं के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:

  1. खाद्य- श्रृंखला केवल एक ही प्रकार के जीवों में पाई जाती है। 
  2. खाद्य- श्रृंखला विभिन्न खाद्य जालों का समूह है।
  3. खाद्य- श्रृंखला की कड़ी उत्पादक से आरंभ होती है।
  4. खाद्य- श्रृंखला में विभिन्न सोपानों को पोषण स्तर कहा जाता है। 

उपर्युक्त कथनों में से कौन- से सही हैं?

A)

केवल 1, 2 और 4

B)

केवल 2, 3 और 4

C)

केवल 3 और 4

D)

1, 2, 3 और 4

Show Answer +
[11]

खाद्य- श्रृंखला में पोषण स्तर के सही क्रम को चुनियेः

A)

स्वपोषी → शाकाहारी → सर्वाहारी → मांसाहारी → अपघटक

B)

स्वपोषी → शाकाहारी → अपघटक → मांसाहारी → सर्वाहारी

C)

शाकाहारी → स्वपोषी → मांसाहारी → सर्वाहारी → अपघटक

D)

स्वपोषी → शाकाहारी → मांसाहारी → सर्वाहारी → अपघटक

Show Answer +
[12]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

  1. चारण आहार श्रृंखला उत्पादक से प्रारंभ होकर शाकभक्षी होते हुए मांसाहारी तक चलती है।
  2. कीटों का फसलों तथा वृक्षों से भोजन प्राप्त करना अपरद आहार श्रृंखला का उदाहरण है।
  3. अपरद आहार श्रृंखला मृत कार्बनिक पदार्थ से प्रारंभ होकर अपघटक होते हुए परभक्षी (predators) तक चलती है।

नीचे दिये गए कूटों के आधार पर सही उत्तर चुनियेः

A)

केवल 1 और 2

B)

केवल 1 और 3

C)

केवल 2 और 3

D)

1 2 और 3

Show Answer +
[13]

निम्नलिखित में से कौन-सा/से अपरद और चारण आहार श्रृंखला के बीच भेद को दर्शाता है/ दर्शाते हैं?

  1. अपरद और चारण आहार श्रृंखला के बीच भेद इनके प्राथमिक उपभोक्ता के लिये ऊर्जा स्रोत है।
  2. अपरद खाद्य श्रृंखला में ऊर्जा का अधिक भाग प्रवाहित होता है।
  3. पादपप्लवक → जंतुप्लवक → मछली → बगुला - एक अपरद आहार श्रृंखला का निदर्शन करती है। 

नीचे दिये गए कूटों के आधार पर सही उत्तर दीजियेः

A)

1, 2 और 3

B)

केवल 2 और 3

C)

केवल 3

D)

केवल 1 और 2

Show Answer +
[14]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:

  1. खाद्य जाल जीवों को खाद्य श्रृंखला की तुलना में भोजन हेतु अधिक विकल्प देता है।
  2. आहार श्रृंखला को खाद्य जाल के एक भाग के रूप में व्याख्यायित किया जा सकता है। 

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही  है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[15]

‘ऊर्जा प्रवाह प्रतिरूप’ के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:

  1. पारितंत्र में ऊर्जा प्रवाह बहुदिशीय होता है।
  2. उत्तरोत्तर पोषक रीतियों के साथ ऊर्जा प्रवाह की मात्रा बढ़ती जाती है।
  3. अनुपयोगी प्राथमिक उत्पादन, अंततः अपरद में परिवर्तित होता है।

निम्नलिखित कूटों के आधार पर सही उत्तर चुनियेः

A)

केवल 1 और 2

B)

केवल 2 और 3

C)

1, 2 और 3 

D)

केवल 3

Show Answer +

Helpline Number : 87501 87501
To Subscribe Newsletter and Get Updates.