Study Material | Prelims Test Series
Drishti


 UPSC Study Material (English) for Civil Services Exam-2018  View Details

राज्य सेवा प्रारम्भिक परीक्षा 2018 मॉडल प्रश्नपत्र MPPSC CGPSC
[1]

पृथ्वी पर विभिन्न स्थानों पर दिन और रात के समय में भिन्नता का कारण है?

A)

पृथ्वी का दीर्घवृत्ताकार पथ पर परिक्रमण

B)

पृथ्वी का अपने अक्ष पर झुकाव

C)

पृथ्वी का अपने अक्ष पर घूर्णन

D)

स्थान विशेष की अक्षांशीय स्थिति

Show Answer +
[2]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये।
1. शीत ऋतु में उत्तरी गोलार्द्ध में उत्तर की ओर जाने पर रात्रि के समय में निरंतर वृद्धि होती है।
2. 22 दिसंबर के दिन आर्कटिक वृत पर पूरा दिन सूर्य नहीं उगता है।
उपर्युक्त कथनों में कौन-सा/से कथन सत्य है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[3]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये।
1. ग्रीष्म ऋतु में अंटार्कटिक वृत्त पर (दक्षिण गोलार्द्ध में) 21 जून को सूर्यास्त नहीं होता है।
2. ग्रीष्म ऋतु (जून) में उत्तरी गोलार्द्ध में ध्रुवों की ओर बढ़ने पर दिन की अवधि बढ़ती जाती है।
उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से असत्य है/हैं।

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[4]

 निम्नलिखित कथनों में कौन- सा/ से सत्य है/हैं?
1. विषुवत वृत्त पर सूर्य वर्ष में एक बार लंबवत् चमकता है।
2. सूर्य जब कर्क रेखा पर लंबवत् चमकता है उसे ग्रीष्म अयनांत (Summer Solstice) कहते हैं।
3. सम रात-दिन की स्थिति को अयनांत कहते हैं।
निम्नलिखित कूटों के आधार पर सही उत्तर दीजिये:

A)

केवल 1 और 2

B)

केवल 2

C)

केवल 2 और 3

D)

1, 2 और 3

Show Answer +
[5]

निम्नलिखित कथनों में कौन- सा/ से सत्य है/हैं?
1. गर्मी की अपेक्षा सर्दी में सूर्य आकाश में अधिक दूरी पर स्थित होता है। 
2. गर्मी में सूर्य की किरणें अधिक क्षेत्र को आच्छादित करती हैं।
3. सर्दी में सूर्य की तिरछी किरणें (Oblique rays) धुंधली होती है और अधिक व्यापक क्षेत्र को आच्छादित करती है।
निम्नलिखित कूटों के आधार पर सही उत्तर दीजिये।

A)

केवल 1 और 2

B)

केवल 1 और 3

C)

केवल 3

D)

1, 2 और 3

Show Answer +
[6]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये।
1. विषुवत वृत्त के निकट गोधूलि का क्षेत्र (Twilight Zone) अधिक होता है।
2. सूर्यास्त और पूर्णतः अंधकार के बीच की स्थिति को गोधूलि (Twilight) कहा जाता है।
उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से कथन सत्य है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 न ही 2

Show Answer +
[7]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये।
1. ऊषाकाल (Dawn) और गोधूलि (Twilight) पृथ्वी द्वारा सूर्य से ग्रहित अपवर्तित प्रकाश का परिणाम है।
2. ध्रुवों पर अल्पावधि के लिए ही सूर्य की किरणें अपवर्तित होती है।
उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सत्य है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[8]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये।
1. प्रायः चंद्रग्रहण अमावस्या को तथा सूर्यग्रहण पूर्णिमा को घटित होता है।
2. पूर्ण चंद्रग्रहण की स्थिति में चंद्रमा के परिधीय क्षेत्रों में हीरक वलय की स्थिति बनती है।
उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सत्य है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[9]

पूर्ण सूर्यग्रहण की स्थिति में ‘हीरक वलय’ (Diamond rings) की स्थिति बनती है। इस संदर्भ में निम्नलिखित में से‘हीरक वलय’ के लिए उत्तरदायी कारण की पहचान कीजिये।

A)

चंद्रमा के सतह का खुरदरा होना

B)

पृथ्वी की भू-आभ (Geoid) आकृति

C)

चंद्रमा का सपाट सतह

D)

सूर्य के आस-पास छोटे खगोलीय पिंडों का चमकना

Show Answer +
[10]

निम्नलिखित कारकों पर विचार कीजिये।
1. चंद्रमा की आकर्षण शक्ति
2. सूर्य की आकर्षण शक्ति
3. पृथ्वी का घूर्णन
उपर्युक्त में से कौन-से कारक ज्वार-भाटा (Tide) की घटना के लिए ज़िम्मेदार हैं?

A)

केवल 1 और 2

B)

केवल 1 और 3

C)

केवल 2 और 3

D)

केवल 1, 2 और 3

Show Answer +
[11]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये।
1. ज्वार-भाटा के समय चंद्रमा की आकर्षण शक्ति का प्रभाव सूर्य की आकर्षण शक्ति की तुलना में कम होता है।
2. दीर्घ ज्वार (High Tide) केवल पूर्णिमा के दिन ही अनुभव किया जाता है।
उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सत्य है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2 दोनों

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +
[12]

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये।
1. पृथ्वी के अपकेंद्रीय बल के फलस्वरूप चंद्रमा के सम्मुख वाले भाग पर ज्वार का अनुभव होता है।
2. चंद्रमा का परिक्रमण ज्वार-भाटा के समय को प्रभावित करता है।
उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सत्य है/हैं?

A)

केवल 1

B)

केवल 2

C)

1 और 2

D)

न तो 1 और न ही 2

Show Answer +

Helpline Number : 87501 87501
To Subscribe Newsletter and Get Updates.