MPPSC Study Material
Drishti

  Drishti IAS Distance Learning Programme

Madhya Pradesh PCS Study Material Click for details

बोस्फोरस स्ट्रेट का बदला रंग 
Jun 15, 2017

सामान्य अध्ययन प्रश्नपत्र – 3: प्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव-विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा तथा आपदा प्रबंधन।
(खंड-14: संरक्षण, पर्यावरण प्रदूषण और क्षरण, पर्यावरण प्रभाव आकलन)

  

संदर्भ
हाल ही में बोस्फोरेस स्ट्रेट के रंग का अचानक नीले रंग से चमकदार फ़िरोज़ी रंग में परिवर्तित हो जाने की घटना ने लोगों के साथ-साथ पर्यावरणविदों को भी आश्चर्य में डाल दिया है। उल्लेखनीय है कि बोस्फोरस स्ट्रेट यूरोप और एशिया महाद्वीपों को विभाजित करती है। 

महत्त्वपूर्ण बिंदु

  • वैज्ञानिकों ने इसका कारण काला सागर के पास प्लवक की एक प्रजाति के बढ़ने को माना है। जबकि किसी ने भूकंप तो किसी ने प्रदूषण को इसका कारण बताया। 
  • वैज्ञानिकों ने इसका कारण सूक्ष्म जीव एमिलियानिया हक्स्लेय (Emiliania huxleyi) की संख्या में वृद्धि बताया, जिसे एहस (Ehux) भी कहा जाता है। उन्होंने कहा कि इसका प्रदूषण से कोई लेना-देना नहीं है। एन्काविस (Anchovies) को पादप प्लवक और छोटी मछलीयाँ भोजन के रूप में ग्रहण करते हैं। अत: इसकी संख्या में वृद्धि एक अच्छी बात है।
  • वैज्ञानिकों ने काला सागर के पास एमिलिया हक्सलेय की इस विस्फोट संख्या को काला सागर के लिये एक वरदान माना। 
  • इस बदले रंग को नासा के टेरा सैटेलाइट द्वारा भी कैप्चर किया गया था।
  • नासा ने भी इस रंग परिवर्तन का कारण कोकोलिओथोफोर (coccolithophore) नामक फाइटप्लेन्कटन की संख्या में वृद्धि को माना। एमिलानिया हक्स्लेय भी कोकोलिओथोफोर की एक प्रजाति है।  

 बोस्फोरेस स्ट्रेट

  • पश्चिमी तुर्की में अवस्थित यह एक अंतर्राष्ट्रीय जलमार्ग है। 
  • यह एक संकीर्ण एवं प्राकृतिक जलसंधि है। 
  • यह काला सागर को मरमारा सागर से जोड़ता है। 
  • यह अंतर्राष्ट्रीय नैविगेशन के लिये उपयोग की जाने वाली विश्व की सबसे छोटी जलसन्धि  है।    

 
स्रोत: द हिन्दू 

Source title: What’s up with Bosphorus?
SourceLink:http://www.thehindu.com/sci-tech/science/whats-up-with-bosphorus/article19049915.ece.


Helpline Number : 87501 87501
To Subscribe Newsletter and Get Updates.