हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:
झारखण्ड संयुक्त असैनिक सेवा मुख्य प्रतियोगिता परीक्षा 2016 -परीक्षाफलछत्तीसगढ़ पीसीएस प्रश्नपत्र 2019छत्तीसगढ़ पी.सी.एस. (प्रारंभिक) परीक्षा, 2019 (महत्त्वपूर्ण अध्ययन सामग्री).छत्तीसगढ़ पी.सी.एस. प्रारंभिक परीक्षा – 2019 सामान्य अध्ययन – I (मॉडल पेपर )
हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स (Hindi Literature: Pendrive Course)
मध्य प्रदेश पी.सी.एस. (प्रारंभिक) परीक्षा , 2019 (महत्वपूर्ण अध्ययन सामग्री)मध्य प्रदेश पी.सी.एस. परीक्षा मॉडल पेपर.Download : उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (प्रवर) प्रारंभिक परीक्षा 2019 - प्रश्नपत्र & उत्तर कुंजीअब आप हमसे Telegram पर भी जुड़ सकते हैं !यू.पी.पी.सी.एस. परीक्षा 2017 चयनित उम्मीदवार.UPSC CSE 2020 : प्रारंभिक परीक्षा टेस्ट सीरीज़

भारत का मैप (V): फरवरी, 2020

Solve Below Questions
  • 1. एक भारतीय राज्य में स्थित उस स्थान की पहचान कीजिये जिसके साथ म्याँमार बस संपर्क शुरू करने की योजना बना रहा है:

    उत्तर : इम्फाल, मणिपुर। हाल ही में म्याँमार के राष्ट्रपति यू विन मिंट की भारत यात्रा के दौरान भारत और म्याँमार ने सामाजिक-आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के उद्देश्य के साथ 10 समझौतों पर हस्ताक्षर किये। दोनों देश अप्रैल 2020 से मणिपुर की राजधानी इम्फाल और म्याँमार के मांडले के बीच एक समन्वित बस सेवा शुरू करेंगे। मणिपुर की सीमा के निकट तमू नामक स्थान पर एकीकृत चेकपॉइंट के निर्माण में भी भारत म्याँमार की सहायता करेगा।

  • 2. उस स्थान की पहचान कीजिये जो यूनेस्को के मैन एंड बायोस्फीयर (MAB) कार्यक्रम के तहत मान्यता प्राप्त 11 बायोस्फीयर रिज़र्व में से एक है। रिज़र्व को समुद्री जैव विविधता के दृष्टिकोण से विश्व के सबसे समृद्ध क्षेत्रों में से एक माना जाता है और इसमें 3 अलग-अलग तटीय पारिस्थितिकी तंत्र (कोरल रीफ, सीग्रास बेड और मैंग्रोव) हैं।

    उत्तर : मन्नार की खाड़ी, तमिलनाडु। मन्नार की खाड़ी दक्षिण और दक्षिण-पूर्व एशिया में पहला मरीन बायोस्फीयर रिज़र्व (GOMMBR) है, जो दक्षिण में तमिलनाडु के रामेश्वरम से कन्याकुमारी तक विस्तारित है। समुद्री जैव विविधता के दृष्टिकोण से इसे विश्व के सबसे समृद्ध क्षेत्रों में से एक माना जाता है। इस रिज़र्व में कोरल रीफ, सीग्रास बेड और मैंग्रोव जैसे 3 अलग-अलग तटीय पारिस्थितिक तंत्र हैं, जो सबसे बड़े लुप्तप्राय समुद्री स्तनपायी डुंगोंग तथा समुद्री कछुओं के जीवन का आधार हैं। यह क्षेत्र अनूठे जीवित जीवाश्म 'बैलैनाग्लोसस’ का अंतिम आश्रय भी है। यह जीवाश्म कशेरुक और अकशेरुकीय के बीच एक लिंक के रूप में काम करता है।

  • 3. मुकुंदरा हिल्स टाइगर रिज़र्व भारत के किस राज्य में स्थित है?

    उत्तर : राजस्थान। मुकुंदरा टाइगर रिज़र्व राजस्थान में कोटा के निकट दो समानांतर पहाड़ियों अर्थात् मुकुंदरा और गरगोला द्वारा निर्मित एक घाटी में स्थित है। यह चंबल नदी के पूर्वी तट पर स्थित है और इसकी सहायक नदियों से जल प्राप्त करता है। मुकुंदरा हिल्स को वर्ष 2004 में एक राष्ट्रीय उद्यान [मुकुंदरा हिल्स (दर्रा) राष्ट्रीय उद्यान] घोषित किया गया था। वर्ष 2013 में इसे वन्यजीव संरक्षण अधिनियम, 1972 के तहत टाइगर रिज़र्व (2013) के रूप में अधिसूचित किया गया और यह राजस्थान का तीसरा टाइगर रिज़र्व बना। रणथंभौर और सरिस्का राजस्थान में स्थित दो अन्य टाइगर रिज़र्व हैं।

  • 4. उस स्थल की पहचान कीजिये जहाँ विजयनगर साम्राज्य की राजधानी थी तथा वर्तमान में यह यूनेस्को के तहत विश्व धरोहर स्थलों की सूची में शामिल है। विट्ठल मंदिर परिसर जो कि इस स्थल का एक हिस्सा है, में स्थित पत्थर के रथ को विजयनगर मंदिर वास्तुकला का सबसे अच्छा उदाहरण माना जाता है।

    उत्तर : हम्पी, कर्नाटक। हम्पी जिसे हम्पी के स्मारकों के समूह के रूप में भी जाना जाता है, कर्नाटक के बेल्लारी ज़िले में तुंगभद्रा नदी के बेसिन में स्थित एक यूनेस्को विश्व विरासत स्थल है। 14वीं शताब्दी में यह स्थल विजयनगर साम्राज्य की राजधानी थी। विट्ठल मंदिर परिसर विजयनगर मंदिर वास्तुकला का सबसे अच्छा उदाहरण है। कृष्णदेव राय (A.D. 1509-30) द्वारा बड़ी संख्या में शाही इमारतों का निर्माण किया गया था और विट्टल मंदिर परिसर उनमें से एक है। हम्पी के मंदिरों को उनके बड़े आयामों, पुष्प अलंकरण, सुस्पष्ट एवं उत्कृष्ट नक्काशियों और आलीशान स्तंभों के लिये जाना जाता है, जिसमें रामायण एवं महाभारत के विषय भी शामिल हैं।

  • 5. उस राज्य की पहचान कीजिये जहाँ मलई महादेश्वरा वन्यजीव अभयारण्य स्थित है:

    उत्तर : कर्नाटक। मलई महादेश्वरा वन्यजीव अभयारण्य कर्नाटक के चामराजनगर ज़िले में स्थित है। इसे टाइगर रिज़र्व घोषित करने की योजना बनाई जा रही है। इस अभयारण्य के टाइगर रिज़र्व अधिसूचित होने के बाद कर्नाटक में टाइगर रिज़र्व की संख्या 3 हो जाएगी। इसकी क्षेत्रीय सीमाओं के भीतर पहले से ही बांदीपुर और BRT टाइगर रिज़र्व है। यह अभयारण्य BRT टाइगर रिज़र्व, सत्यमंगलम टाइगर रिज़र्व और कावेरी वन्यजीव अभयारण्य का निकटवर्ती है। इस क्षेत्र को वर्ष 2013 में वन्यजीव अभयारण्य घोषित किया गया था।

एसएमएस अलर्ट
 

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

नोट्स देखने या बनाने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

प्रोग्रेस सूची देखने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close

आर्टिकल्स को बुकमार्क करने के लिए कृपया लॉगिन या रजिस्टर करें|

close