दृष्टि ज्यूडिशियरी का पहला फाउंडेशन बैच 11 मार्च से शुरू अभी रजिस्टर करें
ध्यान दें:

भारत का मैप (I): नवंबर, 2019

मैप आधारित प्रश्न
  • 1. उस स्थान को चिह्नित कीजिये जहाँ ‘रंगदुम/रेंगदुम मठ’ स्थित है:

    उत्तर : लद्दाख के कारगिल ज़िले में। भारतीय पुरातत्त्व सर्वेक्षण द्वारा केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख के कारगिल ज़िले में स्थित रंगदुम/रेंगदुम बौद्ध मठ (Rangdum Buddhist Monastery) को राष्ट्रीय महत्त्व का स्मारक घोषित किये जाने पर विचार किया जा रहा है। इस कदम का उद्देश्य लद्दाख में पर्यटन को बढ़ावा देना है।

  • 2. उस राज्य की पहचान कीजिये जहाँ ‘पोबितोरा वन्यजीव अभयारण्य’ स्थित है:

    उत्तर : असम। पोबितोरा वन्यजीव अभयारण्य (Pobitora Wildlife Sanctuary) गुवाहाटी से लगभग 45 किमी. दूर मोरीगाँव ज़िले में ब्रह्मपुत्र नदी के बाढ़ के मैदान में स्थित है। पोबितोरा वन्यजीव अभयारण्य का मात्र 16 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र 90 से ज़्यादा गैंडों का आवास स्थल है। गौरतलब है कि इतने कम क्षेत्रफल में 90 से ज़्यादा गैंडों का रहना इस अभयारण्य को दुनिया के उच्चतम जनसंख्या घनत्व वाला अभयारण्य बनाता है।

  • ‘पेट्टा थुल्लल’ किस राज्य का धार्मिक नृत्य है?

    उत्तर : केरल। यह भगवान अयप्पा की पौराणिक कथाओं में बुराई पर अच्छाई की जीत का जश्न मनाने के लिये किया जाने वाला एक धार्मिक नृत्य है। यह केरल में प्रतिवर्ष आयोजित होने वाले सबरीमाला तीर्थयात्रा के अंतिम पड़ाव की शुरुआत को दर्शाता है।

  • ‘थोटलाकोंडा बौद्ध मठ’ जो हाल ही में भारी वर्षा के कारण क्षतिग्रस्त हो गया, किस राज्य में स्थित है?

    उत्तर : थोटलाकोंडा हिल, आंध्र प्रदेश। थोटलाकोंडा बौद्ध विरासत स्थल का महास्तूप, जिसका पुनर्निर्माण वर्ष 2016 में राज्य पुरातत्त्व विभाग द्वारा किया गया था, हाल ही में क्षतिग्रस्त हो गया। यह 2000 साल पुराना मठ परिसर है तथा आंध्र प्रदेश में थोटलाकोंडा हिल पर स्थित है। यहाँ स्तूपों, चैत्य गृहों और विहारों के अवशेष मौज़ूद है।

  • उस राज्य की पहचान कीजिये जहाँ ‘डोनिमलाई खान’ स्थित है:

    उत्तर : कर्नाटक के बेल्लारी ज़िले में। राष्ट्रीय खनिज विकास निगम (National Mineral Development Corporation- NMDC) कर्नाटक के बेल्लारी ज़िले में स्थित डोनिमलाई खान में पुनः खनन कार्य शुरू करने की योजना बना रहा है। राष्ट्रीय खनिज विकास निगम ने नवंबर 2018 में इस खान में खनन का कार्य स्थगित कर दिया था, क्योंकि कर्नाटक सरकार ने इसके पट्टे को अगले 20 वर्षों के लिये नवीनीकृत करने के लिये लौह अयस्क पर 80% प्रीमियम की मांग की थी।

close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2