दृष्टि ज्यूडिशियरी का पहला फाउंडेशन बैच 11 मार्च से शुरू अभी रजिस्टर करें
ध्यान दें:

भारत का मैप: मई 2022

मैप आधारित प्रश्न
  • 1. सलीम अली सेंटर फॉर ऑर्निथोलॉजी एंड नेचुरल हिस्ट्री (SACON) की स्थिति का पता लगाएँ जहाँ शोधकर्त्ताओं द्वारा ग्रे स्लेंडर लोरिस की आबादी के लिये एक सर्वेक्षण किया गया है?

    उत्तर : कोयंबटूर, तमिलनाडु। हाल ही में कोयंबटूर में सलीम अली सेंटर फॉर ऑर्निथोलॉजी एंड नेचुरल हिस्ट्री (SA CON) के वैज्ञानिकों ने तमिलनाडु के डिंडीगुल वन प्रभाग में ग्रे स्लेंडर लोरिस की आबादी का सर्वेक्षण किया। ग्रे स्लेंडर लोरिस तमिलनाडु के डिंडीगुल ज़िले के सूखे और सूखाग्रस्त क्षेत्रों में रहते हैं। यह बबूल और इमली के झाड़ीदार जंगलों में पाया जाता है।

  • 2. राखीगढ़ी के उस स्थान की पहचान कीजिये जहाँ भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने हाल ही में खुदाई की और घरों, गलियों और जल निकासी व्यवस्था के बारे में कुछ नई जानकारी प्राप्त की?

    उत्तर : राखीगढ़ी, हरियाणा। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI) द्वारा राखीगढ़ी के हड़प्पा स्थल की खुदाई की गई है और कुछ घरों, गलियों और जल निकासी व्यवस्था की संरचना का पता चला है। राखीगढ़ी भारतीय उपमहाद्वीप का सबसे बड़ा हड़प्पा स्थल है। राखीगढ़ी हरियाणा राज्य में स्थित है।

  • 3. महाबोधि मंदिर की स्थिति का पता लगाएँ जिसका बुद्ध पूर्णिमा के शुभ दिन पर बहुत महत्त्व है।

    उत्तर : गया जिला, बिहार। महाबोधि मंदिर बिहार के गया जिले में स्थित है। इसका आध्यात्मिक महत्त्व है। बुद्ध पूर्णिमा के दिन विशाल सभा होती है। महाबोधि मंदिर यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल है। बोधि मंदिर वह स्थान है जहाँ भगवान बुद्ध को ज्ञान प्राप्त हुआ था।

  • 4. कन्हेरी गुफाओं के स्थान की पहचान कीजिये जो गुफाओं का एक समूह है और जिनमें चट्टानों को काटकर बनाए गए स्मारक हैं।

    उत्तर : मुंबई के पश्चिमी बाहरी इलाके। कन्हेरी गुफाएँ मुंबई के पश्चिमी बाहरी इलाके में स्थित गुफाओं और रॉक-कट स्मारकों का एक समूह है। गुफाएँ संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान के जंगलों के भीतर स्थित हैं। कन्हेरी नाम प्राकृत में 'कान्हागिरी' से लिया गया है और सातवाहन शासक वशिष्ठपुत्र पुलुमवी के नासिक शिलालेख में मिलता है।

  • 5. पुरी हेरिटेज कॉरिडोर परियोजना की स्थिति को चिह्नित कीजिये:

    उत्तर : ओडिशा। यह जगन्नाथ मंदिर सहित एक अंतर्राष्ट्रीय विरासत स्थल बनाने के लिये पुरी में ओडिशा सरकार की पुनर्विकास परियोजना है। हालाँकि 2016 में कल्पना की गई थी, लेकिन दिसंबर 2019 में इसका अनावरण किया गया था। अम्ब्रेला प्रोजेक्ट के तहत श्री जगन्नाथ हेरिटेज कॉरिडोर (SJHC) या श्री मंदिर परिक्रमा परियोजना, मंदिर के आस-पास के क्षेत्र के सुधार हेतु प्रस्तुत की गई है।

close
एसएमएस अलर्ट
Share Page
images-2
images-2