हिंदी साहित्य: पेन ड्राइव कोर्स
ध्यान दें:

Be Mains Ready

  • 28 Nov 2020 सामान्य अध्ययन पेपर 4 केस स्टडीज़

    आपको एक ऐसे ज़िले में पुलिस अधीक्षक के रूप में नियुक्त किया जाता है जहांँ महिलाओं के साथ छेड़छाड़ और यौन उत्पीड़न के मामले बढ़ रहे हैं। इसके कारण ज़िले में कामकाजी महिलाओं के समक्ष हमेशा किसी-न-किसी अप्रिय घटना का भय बना रहता है। पुलिस अधीक्षक होने के नाते आपके ज़िले में कोई भी प्रभावी कानूनी कार्यवाही देखने को नहीं मिलती है। इस प्रकार समाज में महिलाओं के साथ छेड़छाड़ और यौन उत्पीड़न के मामलों में वृद्धि नैतिकता के ह्रास को दर्शाती है।

    आप महिलाओं के मुद्दों के प्रति अत्यधिक संवेदनशील हैं और जिन ज़िलों में आपको तैनात किया जाता है वहाँ आप इस प्रकार की घटनाओं को रोकने के लिये सख्त कदम उठाते हैं। ज़िले में इस प्रकार के अपराधों के खिलाफ पुलिस द्वारा कई ऑपरेशन चलाए जाने के साथ-साथ गिरफ्तारियांँ की गई हैं लेकिन पर्याप्त सबूत न होने के कारण आरोपी कानून से बच जाते हैं। इन परिस्थितियों में आपके अधीनस्थ अधिकारी समाज की तरफ से आपको ऑन द स्पॉट त्वरित न्याय देने के समर्थन में तर्क देते हैं।

    (क) ऐसी स्थितियों में त्वरित न्याय के वितरण के कारण उत्पन्न विभिन्न नैतिक मुद्दों पर चर्चा कीजिये।

    (ख) महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिये पुलिस अधीक्षक के रूप में आप कौन से दीर्घकालिक कदम उठाएंगे? (250 शब्द)

    उत्तर

    (क) त्वरित न्याय वितरण के संबंध में कई प्रकार की नैतिक दुविधाएंँ और टकराव की स्थितियांँ उत्पन्न होती हैं:

    • कानून की उच्च प्रक्रिया के अनुरूप प्रस्तुतीकरण बनाम लोगों द्वारा त्वरित न्याय एवं कानून के उल्लंघन के माध्यम से समाज के लोगों की अंतरात्मा (विवेक) को नष्ट होने से बचाने की स्थिति।
    • पेशेवर और प्रशासनिक नैतिकता बनाम कर्तव्य का परित्याग तथा भीड़ की मांँगों को प्रस्तुत करना।
    • पुलिस की गरिमा, कानून और व्यवस्था को बनाए रखना बनाम सार्वजनिक मांगों की अनदेखी-पुलिस के मनोबल और तेज़ आपराधिक जांँच को बनाए रखना बनाम एक ऐसी भीड़ को छूट देना जो गैरकानूनी, तर्कहीन और भावनात्मक रूप से कार्य करेगी।
    • अपराधियों पर विधि के शासन को लागू करना एवं उनमें कानून के प्रति भय पैदा करना बनाम मॉब लिंचिंग के समय कानून का भय उत्पन्न करना।

    (ब) एसपी के रूप में नियुक्ति के समय मेरे द्वारा स्थिति को ध्यान में रखते हुए दीर्घकालिक उपाय के संदर्भ में निम्नलिखित कदम उठाए जाएंगे:

    • ऑन-द-स्पॉट न्याय त्वरित (माॅब लिंचिंग या भीड़ न्याय) अवैध और अत्यधिक अनैतिक है। यह किसी भी स्थिति में विकल्प नहीं हो सकता है और मेरे कार्यालय/ज़िले में इस पर चर्चा या विचार भी नहीं किया जाएगा। कानून व्यवस्था को मज़बूत करना मेरी प्राथमिकता होगी।
    • अत्याधुनिक फोरेंसिक/ डीएनए विश्लेषण के साथ प्रभावी आपराधिक जांँच प्राथमिकता होनी चाहिये तथा इस कार्य के लिये संसाधनों और कर्मियों को पूर्ण रूप से समर्पित करूंगा।
    • अपराधियों के न्याय से बचने के लिये लोग अधीर हो रहे हैं। महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों की दर में सुधार करना मेरी सर्वोच्च प्राथमिकता होगी। अपराधियों को यह नहीं सोचना चाहिये कि वे अपराध करके बच निकलेंगे।
    • मैं ज़िले में महिलाओं तथा सभी के लिये शांतिपूर्ण, सुरक्षित माहौल सुनिश्चित करूंगा। पुलिस द्वारा रात्रि गश्त, शिकायतों पर त्वरित कार्रवाई/एफआईआर, जन जागरूकता शिविर, गैर सरकारी संगठनों की भागीदारी और रात में सड़कों पर प्रकाश व्यवस्था कुछ अन्य विविध उपायों पर ध्यान दिया जाएगा।
  • 28 Nov 2020 सामान्य अध्ययन पेपर 4 केस स्टडीज़

    आप एक ज़िले में ज़िला कलेक्टर के पद पर कार्यरत्त हैं। आपके ज़िले तथा राज्य के आर्थिक विकास में प्रवासी श्रमिकों का बड़ा योगदान रहा है। एक प्रवासी श्रमिक ने आपके ज़िले में एक 14 महीने की लड़की के साथ छेड़छाड़ करने की कोशिश की जिसके कारण न केवल ज़िले में बल्कि पूरे राज्य में श्रमिकों के प्रति घृणा का माहौल बना हुआ है। कुछ स्वार्थी तत्त्व इस स्थिति का फायदा उठाने की कोशिश कर रहे हैं। श्रमिकों को डरा-धमकाकर माहौल खराब करने की कोशिश की गई। ऐसी स्थिति में बड़ी संख्या में प्रवासी श्रमिक अपने परिवारों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए गृह राज्य में लौटने लगे हैं। इस वजह से न केवल राज्य की छवि को नुकसान हो रहा है बल्कि ज़िले की आर्थिक स्थिति पर भी प्रतिकूल प्रभाव उत्पन्न होने की संभावना है।

    एक लोक सेवक होने के नाते आपकी क्या ज़िम्मेदारियाँ हैं और यदि आप इस स्थिति का सामना करते हैं तो आप क्या करेंगे? (250 शब्द)

    उत्तर

    मेरे उत्तरदायित्व

    • एक लोक सेवक होने के नाते ज़िले में कानून व्यवस्था सुनिश्चित करना मेरी ज़िम्मेदारी है।
    • प्रवासी श्रमिकों की सुरक्षा और बचाव, श्रमिकों के माइग्रेशन, अफवाहों तथा गलत संदेशों के प्रसार को रोकना मेरी प्राथमिकता है।
    • जघन्य कृत्य के पीछे दोषी को कानूनी प्रक्रिया के अनुसार दंडित किया जाना चाहिये न कि भीड़ न्याय (मॉब लिंचिंग) या उन पर लगने वाले आक्षेपों के आधार पर। साथ ही प्रवासियों को धमकी देने वालों को काबू किया जाना चाहिये। आपके द्वारा ज़िला कलेक्टर के रूप में किये गए कार्यों से आपके ज़िले और राज्य की छवि को नुकसान नहीं होना चाहिये।
    • मुझे यह सुनिश्चित करने के लिये काम करना चाहिये कि ज़िले/राज्य को दीर्घकालिक आर्थिक लाभ से उपेक्षित या वंचित न होना पड़े।

    मैं क्या करूंगा?

    • न्याय को सुनिश्चित करने के लिये मेरे द्वारा कानून की प्रक्रिया के अनुसार कार्य किया जाएगा। मैं यह सुनिश्चित करूंगा कि बच्चों को उचित न्याय मिले तथा अपराधी को गिरफ्तार किया जाए। इन सबके अलावा मेरा बल इस बात को सुनिश्चित करने पर भी होगा कि बालिकाओं को स्वास्थ्य और प्रसवोत्तर पुनर्वास सुविधाएँ प्रदान किया जाए।
    • मेरे द्वारा नफरत/खौफ के माहौल को नियंत्रित करने के लिये भी सख्त कार्यवाही की जाएगी। श्रमिकों को धमकाने या डराने वाले उपद्रवियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही की जाएगी और अफवाह फैलाने वालों पर अंकुश लगाया जाएगा। प्रभावित श्रमिकों और उनके परिवारों को राहत और पुनर्वास सुनिश्चित किया जाएगा।
    • मैं श्रमिकों के ज़िले/राज्य से पलायन को रोकने के लिये जनसंचार माध्यमों और शोसल मीडिया पर संदेश फैलाऊंगा तथा ज़िले और राज्य की छवि को बहाल करने के लिये हर संभव प्रयास करूंगा।
    • जब तक ज़िले में स्थिति पूरी तरह से सामान्य नहीं हो जाती तब तक मैं अपने कार्यालय और पुलिस विभाग के साथ मिलकर प्रयास करता रहूंगा।
एसएमएस अलर्ट
Share Page