डेली अपडेट्स

‘एमएसएमई आपातकालीन उपाय कार्यक्रम’ | 07 Jul 2020 | भारतीय अर्थव्यवस्था

प्रीलिम्स के लिये:

विश्व बैंक, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम, विश्व बैंक, अंतर्राष्ट्रीय पुनर्निर्माण और विकास बैंक

मेन्स के लिये:

‘एमएसएमई आपातकालीन उपाय कार्यक्रम’ का सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों के संदर्भ में महत्त्व 

चर्चा में क्यों?

हाल ही में भारत सरकार द्वारा ‘विश्व बैंक’ (World Bank ) के साथ ‘एमएसएमई आपातकालीन उपाय कार्यक्रम’ (MSME Emergency Response Programme) के लिये 750 मिलियन डॉलर के समझौते पर हस्ताक्षर किये गए हैंI 

प्रमुख बिंदु:

1. तरलता को उन्‍मुक्‍त करके (Unlocking liquidity)

2. NBFCs तथाऔर MSMEs को मज़बूत करना (Strengthening NBFCs and SFBs)

3. वित्तीय नवाचारों को मज़बूत करना (Enabling financial innovations)

 ‘एमएसएमई आपातकालीन उपाय कार्यक्रम’ का महत्त्व:

स्रोत: पीआईबी