डेली अपडेट्स

अर्बन और पेरी-अर्बन कृषि | 07 Jun 2022 | कृषि

यह एडिटोरियल 04/06/2022 को ‘इंडियन एक्सप्रेस’ में प्रकाशित “The Farm in The City” लेख पर आधारित है। इसमें ‘अर्बन और पेरी-अर्बन कृषि’ (UPA) के महत्त्व और इसके प्रोत्साहन के लिये किये जा सकने वाले उपायों के बारे में चर्चा की गई है।

संदर्भ

समय-पूर्व और चिलचिलाती गर्मी पूरे भारत में, विशेष रूप से शहरों में जनजीवन को कष्टप्रद बना रही है। बढ़ते तापमान स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डाल रहे हैं, कृषि उत्पादन में गिरावट आ रही है और नदियाँ सूख रही हैं।

अर्बन और पेरी-अर्बन कृषि (UPA) के बारे में:

UPA को अपनाने में भारत कितना सक्रिय रहा है?

UPA महत्त्वपूर्ण क्यों है?

UPA से संबद्ध चुनौतियाँ

UPA को बढ़ावा देने के लिये क्या किया जा सकता है?

अभ्यास प्रश्न: "मौजूदा आवश्यकताएँ संवहनीय शहरीकरण के आवश्यक तत्वों में से एक के रूप में ‘अर्बन और पेरी-अर्बन कृषि’ (UPA) को संलग्न करने का उपयुक्त अवसर प्रदान करती हैं।’’ चर्चा कीजिये।