डेली अपडेट्स

'बहलर कछुआ संरक्षण पुरस्कार' | 04 Sep 2021 | जैवविविधता और पर्यावरण

प्रिलिम्स के लिये:

राष्ट्रीय चंबल नदी घड़ियाल अभयारण्य, नोबेल पुरस्कार, सुंदरबन, वन्यजीव (संरक्षण) अधिनियम, 1972 

चर्चा में क्यों? 

हाल ही में भारतीय जीवविज्ञानी शैलेंद्र सिंह को तीन गंभीर रूप से लुप्तप्राय (Critically Endangered) कछुए की प्रजातियों को उनके विलुप्त होने की स्थिति से बाहर लाने हेतु बहलर कछुआ संरक्षण पुरस्कार (Behler Turtle Conservation Award) से सम्मानित किया गया है।

प्रमुख बिंदु 

भारतीय जल क्षेत्र के समुद्री कछुए :

स्रोत : द हिंदू