टू द पॉइंट

‘हिमावरण’ का महत्त्व और इस पर ग्लोबल वार्मिंग का प्रभाव | 29 May 2020 | जैव विविधता और पर्यावरण

संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) तथा विश्व मौसम संगठन (WMO) की रिर्पोट ‘स्पेशल रिपोर्ट ऑन द ओसियन्स एंड क्रायोस्फीयर इन ए चेंजिंग क्लाइमेट (SROCC)’ में परमाफ्रॉस्ट/हिमावरण/हिममंडल पर जलवायु परिवर्तन व वैश्विक उष्मन के नकारात्मक प्रभाव के प्रति आगाह किया गया है। क्रायोस्फीयर जैवमंडल पारिस्थितिकी तंत्र में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है। क्रायोस्फीयर अनुसंधान के लिये अत्यधिक महत्त्वपूर्ण है। यह न केवल जलवायु प्रणाली को बल्कि पृथ्वी के भू-गर्भिक इतिहास को समझने के लिये भी महत्त्वपूर्ण है।

क्या है हिमावरण/हिममंडल?

Global-Cryosphere

हिमावरण/हिममंडल का महत्त्व:

भूमंडलीय ऊष्मन (Global Warming) का हिमावरण प्रर प्रभावः

हिमावरण पर जलवायु परिवर्तन के प्रभाव को कम करने हेतु किये जा रहे प्रयास:

निष्कर्ष: जलवायु परिवर्तन एवं वैश्विक ऊष्मन के प्रयास भर करना पर्याप्त नहीं है बल्कि इनको वास्तविक रूप में क्रियान्वित करना अत्यंत आवश्यक है।