टू द पॉइंट

पेसा अधिनियम, कार्यान्वयन एवं सुधार | 04 Aug 2020 | भारतीय राजनीति

पेसा का पूरा नाम ‘पंचायत उपबंध (अनुसूचित क्षेत्रों तक विस्तार) विधेयक (The Provisions on the Panchyats Extension to the Scheduled Areas Bill) है। भूरिया समिति की सिफारिशों के आधार पर यह सहमति बनी कि अनुसूचित क्षेत्रों के लिए एक केंद्रीय कानून बनाना ठीक रहेगा, जिसके दायरे में राज्य विधानमंडल अपने-अपने कानून बना सकें। इसी दृष्टिकोण से दिसंबर, 1996 में संसद में विधेयक प्रस्तुत किया गया। दिसंबर, 1996 में ही यह दोनों सदनों से पारित हो गया तथा 24 दिसंबर को राष्ट्रपति की सहमति प्राप्त कर लागू हो गया

विशेषताएँ एवं अधिनियम के प्रावधान

अधिनियम से जुड़ी समस्याएँ

पेसा अधिनियम में संशोधन का प्रस्ताव

अन्य सुझाव