समाजिक न्याय

Post Reply
User avatar
Drishti-Official
Posts: 69
Joined: Sat Nov 03, 2018 12:53 pm

Sat Nov 03, 2018 1:27 pm

भिक्षावृत्ति
इसके संदर्भ में आपके क्या विचार है? क्या यह अपराध है? या यह मनोवृत्ति है? उचित तर्कों के आधार पर स्पष्ट कीजिये|
IASTOPPER
Posts: 16
Joined: Sat Nov 03, 2018 6:20 pm

Mon Nov 05, 2018 5:40 am

SIR WORD LIMIT AAPNE NHI BTAYI THI,ISS LIYE WORD LIMIT PR MAINE DHYAN NHI DIYA HAIN
20181105_053344.jpg
HU
20181105_053604.jpg
User avatar
Dave_Here
Site Admin
Posts: 74
Joined: Sat Nov 03, 2018 12:52 pm

Mon Nov 05, 2018 11:41 am

20181105_053344_edited.jpg
20181105_053604_edited.jpg
:arrow: Attachments
:arrow: Place Inline


अच्छी handwriting hai :)
User avatar
Drishti-Official
Posts: 69
Joined: Sat Nov 03, 2018 12:53 pm

Mon Nov 05, 2018 5:12 pm

IASTOPPER wrote:
Mon Nov 05, 2018 5:40 am
SIR WORD LIMIT AAPNE NHI BTAYI THI,ISS LIYE WORD LIMIT PR MAINE DHYAN NHI DIYA HAIN20181105_053344.jpg HU20181105_053604.jpg
उत्तर के आरंभ के बिंदु निबंध की रूपरेखा में लिखे गए हैं| हालाँकि उसके बाद का प्रारूप प्रभावी है| :)
परंतु, आपने केवल भिक्षावृत्ति कानून के संदर्भ में ही वर्णन किया है, न ही भिक्षावृत्ति एवं मनोवृत्ति के मध्य विभेदन के| यहाँ दोनों का सामान्य परिचय देते हुए, इनके मध्य के भेद को स्पष्ट करते हुए निष्कर्ष तक पहुँचना है|
Post Reply

Return to “भारतीय समाज”