आर्थिक सर्वेक्षण

अध्याय 2 | 12 Oct 2019 | भारतीय अर्थव्यवस्था

नीति मानव जाति के लिये है न कि आर्थिक मानव हेतु : “नज़ सिद्धांत” के व्यवहारिक अर्थव्यवस्था से उत्थान

सार्वजनिक नीति का उद्देश्य

व्यवहारिक अर्थव्यवस्था

नज़ पॉलिसियाँ वे पॉलिसियाँ हैं जो लोगों की चुनने की स्वतंत्रता को संरक्षित करते हुए धीरे-धीरे उन्हें वांछित व्यवहार के रास्ते पर ले जाती हैं।

Influence to coercion

पारंपरिक अर्थशास्त्र बनाम व्यवहारिक अर्थशास्त्र

व्यवहारिक अर्थव्यवस्था के सिद्धांत

व्यवहारिक अर्थव्यवस्था भारत में सार्वजनिक कार्यक्रमों की प्रभावकारिता के उत्थान के लिये पर्याप्त गुंजाइश उपलब्ध कराती है। व्यवहारिक अर्थव्यवस्था के सात सिद्धांत जो संज्ञानात्मक पूर्वाग्रह से पार पाने हेतु प्रयोग में लाए जाते हैं, का वर्णन नीचे किया गया है:

Economic chart

भारत में व्यवहार अंतर्दृष्टि का सफल कार्यान्वयन

National Sanitation 2018-19

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ (BBBP)

स्पष्ट संदेशन की ताकत

पथ-प्रवर्तक परिवर्तन के लिये एक आकांक्षापूर्ण एजेंडा

इसलिये बीबीबीपी के तहत चलाए जा रहे अभियान को लैंगिक समानता में बदलाव के रूप में प्रस्तुत करने हेतु उस पर बीएडीएलएवी का लेबल चस्पा किया जा सकता है।

सिद्धांत बदलाव(BADLAV) के लिये सिद्धांत लागू करना
1. चयन में इसे आसान बनाएँ महिलाओं के लिये प्रक्रिया को सरल बनाना
2. सामाजिक प्रतिमानों पर बल दें सकारात्मक सामाजिक प्रतिमानों को प्रदर्शित करना और प्रमुख व्यक्तित्वों यहाँ तक कि पौराणिक काल के व्यक्तियों पर रोशनी डालना ताकि व्यक्ति उनसे संबद्ध हो सकें।
3. परिणाम पर प्रकाश डालें सार्वजनिक क्षेत्र में लैंगिक रिपोर्ट या ऑडिट प्रकाशित करना।
4. बार-बार सुदृढ़ीकरण करना लोगों की स्मरण शक्ति अल्प समय तक ही बनी रहती है अतः उन्हें यह याद दिलाए जाने की आवश्यकता होती है कि सामाजिक रूप से क्या स्वीकार्य है। इसलिये नियमित विजुअल या प्रिंट विज्ञापन सकारात्मक प्रवृत्ति को सुदृढ़ कर सकते हैं।
5. हानि विमुखता का उद्यमन प्रतिस्पर्द्धा के प्रति महिलाओं की अधिक विरक्ति को रोकने के लिये पुरस्कार संरचना को संशोधित करना अर्थात् महिलाओं के लिये एप्लिकेशन शुल्क कम करना।
6. संदेश अनुरूप मानसिक मॉडल बनाना महिलाओं को अधिक लचीलापन प्रदान कर सभी घिसे पिटे लैंगिक प्रतिमानों को हटाया जा सकता है।

स्वच्छ भारत और आयुष्मान भारत से सुंदर भारत तक

सिद्धांत सुंदर भारत के लिये सिद्धांत लागू करना
1. डिफाल्ट रूल से लाभ उठाना डिफाल्ट बीमा योजना प्रदान कर इंश्योरेंस कवरेज में महत्त्वपूर्ण रूप से सुधार किया जा सकता है।
2. चयन को आसान बनाएँ उपभोक्ता की आवश्यकता के अनुसार स्वास्थ्य योजनाओं को विशिष्ट रूप से तैयार करना और स्कूल की भोजन तालिका में छोटे बदलाव बच्चों में स्वस्थ भोजन आदतों को प्रोत्साहित कर सकते हैं।
3. सामाजिक प्रतिमानों पर बल दें मादक दवाओं के सेवन से प्रतिष्ठित व्यक्तियों की मौत की घटनाओं को उजागर करने से युवाओं में मादक दवाओं के खतरे को नियंत्रित करने में सहायता मिलती है।
4. परिणाम पर प्रकाश डालें हाथ धोने और परिवार नियोजन के व्यवहारों से अन्य व्यक्तियों को हुए प्रत्यक्ष लाभ को सामने लाने से लोग स्वस्थ व्यवहारों को प्रोत्साहन देंगे।
5. बार-बार सुदृढ़ीकरण करना लोगों को अपने टीकाकरण की योजना बनाने या नियमित रूप से दवाइयाँ लेने के लिये संदेशों या सोशल मीडिया जैसे साधनों से आवधिक तौर पर अनुस्मारक भेजना।
6. हानि विमुखता का उद्यमन लोग बहुधा वजन कम करने और धूम्रपान रोकने का लक्ष्य प्राप्त करने में कठिनाई महसूस करते हैं। लोग स्वेच्छा से वेबसाइट पर बांड्स या लॉटरी टिकट पोस्ट करें जो कि उन्हें तब लौटा दिया जाएगा जब वे अपना लक्ष्य प्राप्त कर लें अन्यथा उन्हें ज़ब्त कर लिया जाएगा, यह उन्हें इन कठिन लक्ष्यों को प्राप्त करने में सहायता करेगा।
7. संदेश अनुरूप मानसिक मॉडल बनाना दोषपूर्ण मानसिक मॉडल में सुधार करने के लिये जागरूकता कार्यक्रम।

सब्सिडी के बारे में सोचें

सिद्धांत सब्सिडी के बारे में सोचें’ हेतु सिद्धांत लागू करना
1. डिफाल्ट रूल से लाभ उठाना डिफाल्ट विकल्प को संशोधित करना ताकि लोग अपनी सब्सिडी जारी रखने हेतु चयन कर सकें।
2. चयन को आसान बनाएँ मोबाइल एप आदि द्वारा सब्सिडी त्यागने हेतु आवेगशील व्यवहार का उपयोग।
3. सामाजिक प्रतिमानों पर बल दें सब्सिडी छोड़ने के बारे में लोगों को अच्छा महसूस करान, इस उचित सामाजिक प्रतिमान को स्थापित करने में सहायता कर सकता है।
4.परिणाम पर प्रकाश डालें अन्य को प्रेरित करने के लिये उन लोगों का प्रचार करना जो कि सब्सिडी छोड़ देते हैं।
5. बार-बार सुदृढ़ीकरण करना वीडियो जिसमें लाभार्थी सब्सिडी देने वालों को धन्यवाद दे रहे हों, भावना को सुदृढ़ करने के लिये अवश्य प्रसारित किये जाने चाहिये।
6. हानि विमुखता का उद्यमन व्यक्तियों को जब वे अत्यधिक उत्साहित हों उन्हें निश्चित मात्रा में सब्सिडी के वादे के लिये प्रेरित करना।
7. संदेश अनुरूप मानसिक मॉडल बनाना आर्थिक सब्सिडी को लोगों को बहुधा याद दिलाकर किफ़ायती बनाया जा सकता है ताकि वे अपना कार्यक्रम बना सकें जैसे टीकाकरण आदि करना।

जन धन योजना

सिद्धांत सिद्धांत लागू करना
1. डिफाल्ट रूल से लाभ उठाना बचत योजना में स्वतः नामांकन करें।
2. चयन को आसान बनाएँ जन सामान्य के लिये योजना के चयन में जटिलताओं को कम करें।
3. सामाजिक प्रतिमानों पर बल दें बैंक खातों का प्रयोग करने वाले लोगों की संख्या प्रसारित करने के लिये सूचना अभियानों का प्रयोग। खाते के विवरण के बारे में नियमित सूचनाएँ भेजने आदि से इनका उपयोग बढ़ता है।
4.परिणाम पर प्रकाश डालें आवधिक रूप से निष्क्रिय खाताधारकों को उन लोगों की संख्या के बारे में बताना जो खाते का प्रयोग कर रहे हैं।
5. बार-बार सुदृढ़ीकरण करना लोगों को यह याद दिलाना कि उनकी पुरानी बचत अच्छे बचत व्यवहार को सुदृढ़ कर सकती है।
6. हानि विमुखता का उद्यमन लोगों की बचत को बढ़ाने के लिये अनुकूल समय जैसे फसल कटाई ओर वेतन में वृद्धि का उपयोग करना।
7. संदेश अनुरूप मानसिक मॉडल बनाना ग्राहकों की आवश्यकता के अनुसार बचत योजनाएँ जैसे- घरेलू बचत योजना, शैक्षिक बचत योजना आदि बनाना।

कर अपवंचन से कर अनुपालन तक

सिद्धांत सिद्धांत लागू करना
1.डिफाल्ट रूल से लाभ उठाना करों की स्वतः कटौती और रिफ़ंड को बचत खातों में निर्देशित करना।
2. चयन को आसान बनाएँ कर दाखिल करने की प्रक्रिया को और सरल बनाना
3. सामाजिक प्रतिमानों पर बल दें कर भुगतान करना सम्माननीय है की भावना को प्रोत्साहित करना।
4.परिणाम पर प्रकाश डालें पात्र व्यक्ति जो करों का भुगतान नहीं करते हैं उनको सार्वजनिक तौर पर शर्मिंदा करना।
5. बार-बार सुदृढ़ीकरण करना आवधिक रूप से लोगों को उन पड़ोसियों या लोगों के बारे में जानकारी देना जो आसपास रहते हों और ईमानदारी से करों का भुगतान कर रहे हैं।
6. हानि विमुखता का उद्यमन कर दाखिल करते समय रिफ़ंड कर अनुपालन में वृद्धि कर सकता है।
7. संदेश अनुरूप मानसिक मॉडल बनाना कर अनुपालन का हौसला बढ़ाने के लिये आदान-प्रदान की अपील करना।

सात सामाजिक बुराइयों से बचने के लिये व्यवहारिक अर्थव्यवस्था का प्रयोग करना

व्यवहार परिवर्तन का आकांक्षापूर्ण एजेंडा लागू करना

मेन्स के लिये मुख्य शब्द

महत्त्वपूर्ण तथ्य और प्रवृत्तियाँ

मेन्स के लिये महत्त्वपूर्ण प्रश्न

प्रश्न 1. व्यवहारिक अर्थव्यवस्था के सिद्धांतों की संक्षिप्त विवेचना कीजिये और स्वच्छ भारत मिशन में इसके प्रयोग का विश्लेषण कीजिये।

प्रश्न 2. ‘एक राष्ट्र में जिसका सम्मान होता है उसे वहाँ विकसित किया जाता है’, प्लेटो । उपर्युक्त कथन के संदर्भ में व्याख्या कीजिये कि व्यवहारिक अर्थव्यवस्था के सिद्धांतों को देश में कर अनुपालन में वृद्धि के लिये कैसे प्रयुक्त किया जा सकता है?