डेली अपडेट्स

वैश्विक समाज में कर न्याय | 19 Oct 2021 | शासन व्यवस्था

यह लेख 18/10/2021 को ‘इंडियन एक्सप्रेस’ में प्रकाशित ‘‘The pursuit of tax justice’’ लेख पर आधारित है। इसमें मानवाधिकारों के लिये वैश्विक संघर्ष के एक अंग के रूप में कर दुरुपयोग को समाप्त करने की आवश्यकता के संबंध में चर्चा की गई है।

संदर्भ

हाल ही में पेंडोरा पेपर्स जाँच से खुलासा हुआ कि विश्व के कई सर्वाधिक अमीर लोगों द्वारा कराधान से बचने के लिये टैक्स हेवेन्स और अन्य भ्रष्ट तरीकों का इस्तेमाल किया गया। इसने ‘कर न्याय’ (Tax Justice) की अवधारणा पर प्रकाश डाला है और कर दुरुपयोग तथा टैक्स हेवेन्स की समाप्ति को मानवाधिकार से जुड़े मुद्दे के रूप में देखने हेतु मज़बूर किया है।   

‘कर न्याय’ का सरल अर्थ यह है कि उन लोगों द्वारा कर का भुगतान किया जाना चाहिये जिन पर यह देय है। ’कर न्याय’ की अवधारणा में यह शामिल है कि उनमें से प्रत्येक व्यक्ति द्वारा समान रूप से कर का भुगतान किया जाना चाहिये, जो इसके भागी हैं।

वर्तमान परिदृश्य

कर चोरी को नियंत्रित करने हेतु उठाए गए कदम

वैश्विक कदम:

भारत द्वारा उठाए गए कदम:

आगे की राह

निष्कर्ष

अभ्यास प्रश्न: विश्व भर में कर चोरी और बढ़ती असमानता के मामलों के साथ एक वैश्विक कराधान व्यवस्था की मांग ज़ोर पकड़ रही है। टिप्पणी कीजिये।