डेली अपडेट्स

विज्ञान के क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी | 26 Feb 2022 | शासन व्यवस्था

यह एडिटोरियल 24/02/2022 को ‘इंडियन एक्सप्रेस’ में प्रकाशित “A More Inclusive Science” लेख पर आधारित है। इसमें विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में महिलाओं के कम प्रतिनिधित्व के संबंध में चर्चा की गई है।

संदर्भ 

विज्ञान के क्षेत्र में महिलाओं का कम प्रतिनिधित्व नियुक्त एवं पदोन्नति से लेकर पुरस्कृत किये जाने और विज्ञान अकादमियों के सदस्य/फेलो के रूप में चुने जाने से लेकर वैज्ञानिक संस्थानों में नेतृत्वकारी पदों पर आसीन किये जाने तक समग्र कैरियर प्रक्षेपवक्र में नज़र आता है। विज्ञान अकादमियों में महिलाओं के प्रतिनिधित्व की स्थिति वैज्ञानिक समुदाय के अंदर उनकी समग्र स्थिति को दर्शाती है। इस समस्या को दो स्तरों पर संबोधित किये जाने की आवश्यकता है- पहला, सामाजिक स्तर पर जिसके लिये दीर्घकालिक प्रयास की आवश्यकता और दूसरा, नीतिगत एवं संस्थागत स्तर पर, जिसे तत्काल प्रभाव से शुरू किया जा सकता है।

विज्ञान के क्षेत्र में महिलाओं का प्रतिनिधित्व

वैश्विक रुझान 

भारत-विशिष्ट आँकड़े 

विज्ञान के क्षेत्र में महिलाओं को प्रोत्साहन देने हेतु शुरू की गई पहलें 

महिलाओं के कम प्रतिनिधित्व के प्रमुख कारण 

आगे की राह 

अभ्यास प्रश्न: ‘‘STEM क्षेत्र में लैंगिक असमानता को तभी समाप्त किया जा सकता है जब समाज, परिवार, शैक्षणिक संस्थान और सरकार की ओर से इसके विरुद्ध सामूहिक प्रयास किये जाएँ।’’ टिप्पणी कीजिये।