डेली अपडेट्स

सेबी के नए मानदंड और विदेशी पोर्टफोलियो निवेश | 10 Sep 2018 | भारतीय अर्थव्यवस्था

संदर्भ

हाल ही में एसेट मैनेजर्स राउंडटेबल ऑफ इंडिया (विदेशी धन से संबंधित एक संघ) ने चेतावनी जारी की थी कि भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) द्वारा जारी एक परिपत्र के कारण भारतीय इक्विटी बाज़ारों से संभवतः 75 बिलियन डॉलर का प्रवाह देश से बाहर की ओर हो सकता है।

विदेशी पोर्टफोलियो निवेश किसी देश में धनराशि की प्रविष्टि का वह तरीका है जिसमें किसी भी देश का नागरिक किसी अन्य देश के बैंक में धन जमा करता है या दूसरे देशों  के स्टॉक और बॉण्ड बाज़ारों में खरीदारी करता है।

सेबी द्वारा जारी परिपत्र

परिपत्र जारी करने के पीछे सेबी का उद्देश्य

FPIs क्यों महत्वपूर्ण है?

क्यों खुश नहीं हैं विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक?

सेबी द्वारा गठित समिति

समिति के सुझाव

सेबी द्वारा नियुक्त समिति ने महत्त्वपूर्ण सुझाव दिये हैं: