डेली अपडेट्स

सतत् विकास प्रकोष्ठ | 04 Jan 2020 | जैव विविधता और पर्यावरण

प्रीलिम्स के लिये:

सतत् विकास प्रकोष्ठ तथा संबंधित मंत्रालय।

मेन्स के लिये:

खनन कार्यों का पर्यावरण पर प्रभाव तथा सतत् विकास प्रकोष्ठ की उपयोगिता।

चर्चा में क्यों?

केंदीय कोयला मंत्रालय (Ministry of Coal) ने सतत् विकास प्रकोष्ठ (Sustainable Development Cell-SDC) स्थापित करने का निर्णय लिया है।

महत्त्वपूर्ण बिंदु

सतत् विकास प्रकोष्ठ की भूमिका

प्रकोष्ठ के कार्य: SDC के प्रमुख कार्य इस प्रकार होंगे:

उपरोक्त सभी कार्य योजनाबद्ध तरीके से विभिन्न चरणों में पूरे किये जाएंगे।

चरण-I: भूमि को बेहतर बनाना और वनीकरण

चरण-II: हवा की गुणवत्ता, उत्सर्जन और ध्वनि प्रवर्द्धन

चरण-III: खान जल प्रबंधन

चरण-IV: अत्यधिक उपयोग किये जाने वाले खानों का सतत् प्रबंधन

चरण-V: सतत् खान पर्यटन

चरण-VI: योजना तैयार करना और निगरानी

चरण-VII: नीति, शोध, शिक्षा और विस्तार

स्रोत: pib