डेली अपडेट्स

सकल घरेलू उत्पाद वृद्धि दर का अनुमान | 08 Jan 2020 | भारतीय अर्थव्यवस्था

प्रीलिम्स के लिये:

राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय

मेन्स के लिये:

सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर कम अनुमानित होने का कारण

चर्चा में क्यों?

हाल ही में राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (National Statistical Office-NSO) द्वारा चालू वित्त वर्ष में देश की सकल घरेलू उत्पाद (Gross Domestic Product-GDP) दर घटकर 5% रहने का अनुमान लगाया गया है।

मुख्य बिंदु:

जीडीपी दर कम होने का कारण (अनुमानित आँकड़े):

कुल जीडीपी:

विनिर्माण क्षेत्र:

(Manufacturing Sector)

निर्माण क्षेत्र

(Construction Sector):

कृषि, वन एवं मत्स्य पालन क्षेत्र:

(Agriculture, Forestry and Fishing)

बिजली, गैस, पानी की आपूर्ति और अन्य उपयोगी सेवाएँ:

(Electricity, Gas, Water Supply and Other Utility Services)

व्यापार, होटल, परिवहन और संचार एवं प्रसारण से संबंधित सेवाएँ:

(Trade, Hotels and Transport & Communication and Services related to Broadcasting)

लोक प्रशासन, रक्षा एवं अन्य सेवाएँ:

(Public Administration, Defence and Other Services)

खनन एवं उत्खनन क्षेत्र:

(Mining and Quarrying)

वित्तीय, रियल एस्टेट और व्यावसायिक सेवाएँ:

(Financial, Real Estate and Professional Services)

अग्रिम अनुमान से संबंधित अन्य तथ्य:

जीडीपी दर कम होने से भारत पर प्रभाव:

आगे की राह:

स्रोत- द हिंदू, बिज़नेस स्टैण्डर्ड, पीआइबी