डेली अपडेट्स

GDP की गणना के लिये नया आधार वर्ष | 12 Nov 2019 | भारतीय अर्थव्यवस्था

प्रीलिम्स के लिये:

GDP, GVA

मेन्स के लिये:

अर्थव्यवस्था के वृद्धि और विकास में आधार वर्ष में बदलाव का महत्त्व

चर्चा में क्यों?

केंद्रीय सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय (Ministry of Statistics and Programme Implementation- MOSPI), सकल घरेलू उत्पाद की गणना के लिये आधार वर्ष (Base Year) को वर्ष 2011-12 से बदलकर 2017-18 करने पर विचार कर रहा है।

GDP

पृष्ठभूमि

बदलाव की आवश्यकता क्यों है?

सकल घरेलू उत्पाद

(Gross Domestic Product- GDP)

सकल मूल्य वर्धन

(Gross Value Added- GVA)

केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय

(Central Statistics Office- CSO)

स्रोत: इंडियन एक्सप्रेस