डेली अपडेट्स

सुगम्य भारत अभियान | 16 Dec 2019 | सामाजिक न्याय

प्रीलिम्स के लिये:

सुगम्य भारत अभियान, संबंधित मंत्रालय तथा विभाग, इंचियोन कार्यनीति, विकलांग व्यक्ति अधिकारों पर संयुक्त राष्ट्र कन्वेंशन

मेन्स के लिये:

सुगम्य भारत अभियान के घटक, लक्ष्य तथा इस प्रकार के अभियानों का महत्त्व

चर्चा में क्यों?

सुगम्य भारत अभियान (Accessible India Campaign) की धीमी प्रगति के कारण सरकार ने इसकी समय सीमा मार्च 2020 तक बढ़ा दी है।

अभियान के बारे में

उद्देश्य

Accessible India Campain

विज़न/दृष्टिकोण:

सुगम्य भारत अभियान घटक

घटकों के आधार पर निर्धारित लक्ष्य

लक्ष्य 1 : सरकारी भवनों में सुगम्यता अनुपात में वृद्धि

लक्ष्य 2: हवाई अडडो के सुगम्यता अनुपात में वृद्धि

लक्ष्य 3: रेलवे स्टेशनों के सुगम्यता अनुपात में वृद्धि।

लक्ष्य 4: सार्वजनिक परिवहन के सुगम्यता अनुपात में वृद्धि।

लक्ष्य 5: सुगम्य और प्रयोग योग्य सार्वजनिक दस्तावेज़ और वेबसाइट जो अंतर्राष्ट्रीय मान्यता प्राप्त सुगम्यता मानकों को पूरा करती हैं की सुगम्यता अनुपात में वृद्धि।

लक्ष्य 6ः संकेत भाषा द्विभाषियों के पूल को बढ़ाना।

लक्ष्य 7ः सार्वजनिक टेलिविजन समाचार कार्यक्रमों की दैनिक कैप्शनिंग और सांकेतिक भाषा व्याख्या के अनुपात को बढ़ाना।

दिव्यांगों के अधिकारों का संरक्षण:

  1. स्कूलों, आवासों, चिकित्सा सुविधाओं तथा कार्य स्थलों सहित, भवनों, सड़कों, परिवहन और अन्य आंतरिक तथा बाहरी सुविधाएँ।
  2. इलेक्ट्रॉनिक्स सेवाओं तथा आकस्मिक सेवाओं सहित, सूचना, संचार तथा अन्य सेवाएँ।

UNCRPD द्वारा सभी सरकारों को निम्न समुचित उपाय करने का अधिदेश भी प्रदान किया गया है:

इंचियोन कार्यनीति (Incheon Strategy):

इस प्रकार के अभियान की आवश्यकता:

स्रोत: द हिंदू

और पढ़ें

दिव्यांगजनों के जीवन को बेहतर बनाने की कवायद

भारत में विकलांगताः समस्याएँ एवं समाधान