Study Material | Test Series | Crash Course
Drishti IAS
call1800-121-6260 / 011-47532596
Drishti The Vision Foundation
(A unit of VDK Eduventures Pvt. Ltd.)
Current Affairs Crash Course Download Player Download Android App
अतिरिक्त प्रयास किसके लिए हैं?
Feb 14, 2014

पिछले कुछ महीनों से विद्यार्थियों ने जो आंदोलन चलाया था, वह कल अपनी परिणति पर पहुँच गया क्योंकि (राहुल गांधी के हस्तक्षेप के बाद) भारत सरकार ने सिविल सेवा परीक्षा के उम्मीदवारों के लिए 2 अतिरिक्त प्रयासों की घोषणा कर दी। हालाँकि आंदोलन की मुख्य मांग, जो प्रारम्भिक परीक्षा में सी-सैट (विशेषतः अंग्रेज़ी) का महत्व कम करने से संबंधित थी, नहीं मानी गयी है; पर दो अतिरिक्त प्रयासों को हासिल कर लेना भी एक शानदार उपलब्धि है।

कल से कई विद्यार्थी हमसे पूछ रहे हैं कि भारत सरकार द्वारा जारी की गई अधिसूचना का क्या अर्थ है और इसका फ़ायदा किन्हें मिलेगा? इसकी व्याख्या नीचे की जा रही है।

इस छोटी सी अधिसूचना में कहा गया है- "The Central government has approved 'two additional attempts to all categories of candidates w.e.f. Civil Services Examination 2014, with consequential age relaxation of maximum age for all categories of candidates, if required'."

कुछ लोगों ने इसका अर्थ यह ले लिया है कि सभी उम्मीदवारों को बिना किसी शर्त के 2 अतिरिक्त प्रयास मुहैया करा दिए गए हैं। अधिकांश अखबारों तथा बीबीसी सहित कई समाचार एजेंसियों ने भी यही सरलीकृत व्याख्या की है। कृपया ध्यान से देखें कि अधिसूचना में 'Consequential age relaxation'  के साथ'if required'  शब्दों का प्रयोग जानबूझ कर किया गया है। यह सुविधा लगभग वैसी ही है जैसी 1979 में 3 विशेष प्रयासों के रूप में दी गयी थी। अधिसूचना में ऐसी उलझाऊ व तकनीकी भाषा का प्रयोग शायद इसीलिये किया है कि चुनावों तक यह भ्रम बना रहे कि सब उम्मीदवारों को फ़ायदा मिलने वाला है।

हमने जिन विशेषज्ञों से बात की है, उनकी समझ के अनुसार इस अधिसूचना से निम्नलिखित निष्कर्ष निकलते हैं-

1) ये अतिरिक्त प्रयास सिर्फ़ 2014 तथा 2015 की परीक्षाओं के लिए उपलब्ध होंगे। इसका अर्थ है कि जिन उम्मीदवारों के पास इन दो वर्षों के लिए उम्र और प्रयास वैसे भी सुरक्षित हैं, उन्हें इससे कुछ लाभ नहीं होगा। उदाहरण के लिए, अगर कोई सामान्य वर्ग का उम्मीदवार अभी 28 साल या कम उम्र का है और उसके पास 4 में से 2 प्रयास बचे हुए हैं तो यह अधिसूचना उसके लिए लाभदायक नहीं है। ओबीसी वर्ग के 31 वर्ष या उससे कम उम्र के उम्मीदवार, जिनके 2 प्रयास वैसे भी बचे हैं, उनके लिए भी इस अधिसूचना में कुछ नहीं है। अगर आप एससी या एसटी वर्ग से हैं तथा अभी 33 वर्ष के नहीं हुए हैं तो आपके लिए भी यह अधिसूचना व्यर्थ है।

2) जो उम्मीदवार अपने सभी प्रयास ख़त्म कर चुके हैं पर अभी भी आयु की दृष्टि से परीक्षा के लिए अर्हता रखते हैं, वे दो अतिरिक्त प्रयास दे सकेंगे। उदाहरण के लिए, अगर कोई सामान्य वर्ग का उम्मीदवार अभी 27-28 साल का है और उसके सभी प्रयास ख़त्म हो चुके हैं तो वह 2 बार फ़िर परीक्षा में बैठ सकेगा। यही बात ओबीसी वर्ग तथा एससी या एसटी वर्ग के उम्मीदवारों पर भी लागू होती है।

3) जो उम्मीदवार अपने प्रयास ख़त्म कर चुके हैं तथा अपने वर्ग की अधिकतम आयु सीमा से 2 वर्ष ज़्यादा पार कर चुके हैं, ये प्रयास उनके लिए नहीं हैं। सामान्य वर्ग के 32 वर्ष से अधिक के उम्मीदवार, ओबीसी वर्ग के 35+ के तथा एससी या एसटी वर्ग के 37+ उम्र के उम्मीदवार इस लाभ के पात्र नहीं हैं।

4) जिन उम्मीदवारों का 2014 में अंतिम प्रयास होने वाला था (चाहे उम्र के कारण, चाहे प्रयास-संख्या के कारण या दोनों के कारण), वे 2014 तथा 2015 की परीक्षाएँ दे सकेंगे।

5) जिन उम्मीदवारों के प्रयास तो पूरे नहीं हुए थे पर वे आयु ख़त्म हो जाने के कारण परीक्षा से बाहर हो गए थे, वे 2014 या/और 2015 की परीक्षा दे पाएंगे बशर्ते उनकी उम्र अधिकतम आयु सीमा से 2 वर्षों से ज़्यादा न हो। आयु की गणना 1 अगस्त को आधार मानकर की जाएगी।

6) 2016 की परीक्षा से पुनः वही नियम लागू हो जाएगा जो अभी चल रहा था। कोई यह दावा नहीं कर सकेगा कि 2014 और 2015 के उसके प्रयासों को अतिरिक्त प्रयास में गिना जाए और 2015 के बाद के प्रयासों को मूल प्रयासों में (हालाँकि आंदोलनरत उम्मीदवारों का दावा है कि हम उस समय फिर आंदोलन करके इस छूट को स्थायी करवा लेंगे)।

उम्मीद है कि इस स्पष्टीकरण से आपके संदेह दूर हो पाएंगे।

यह जानना भी ज़रूरी है कि आंदोलन करने वाले उम्मीदवार आज फ़िर राहुल गांधी से मिलने गए हैं। वे मांग करने वाले हैं कि यह छूट 3 वर्षों के लिए दी जाए और इस बात को स्पष्ट शब्दों में घोषित किया जाए। इसके अलावा, वे सी-सैट के पैटर्न में बदलाव की मांग करने वाले हैं ताकि मानविकी पृष्ठभूमि (विशेषतः हिंदी माध्यम) के उम्मीदवारों को पिछले 3 वर्षों से प्रारम्भिक परीक्षा में जो भारी नुकसान हो रहा है, उसे रोका जा सके। चुनावों का मौसम होने के कारण असंभव नहीं है कि जल्द ही पुनः कोई नई घोषणा हो जाए।

भारत सरकार द्वारा अधिसूचना को इस लिंक पर देखा जा सकता है- 
http://persmin.gov.in/AIS1/Docs/MoreAttempts.pdf  )

 


Helpline Number : 87501 87501
To Subscribe Newsletter and Get Updates.